तमंचे के साथ छपरा में छत्तीसगढ़ की युवती गिरफ्तार, नक्सली होने का शक

सारण जिले के खैरा-मढ़ौरा मुख्य मार्ग पर हरेराम टोला गांव के समीप से पुलिस ने 25 वर्षीय युवती को गिरफतार कर लिया। उसके पास से रिवाल्वर व कारतूस मिला है। उसके नक्सली होने का शक पुलिस को है।

JagranWed, 04 Aug 2021 03:56 PM (IST)
तमंचे के साथ छपरा में छत्तीसगढ़ की युवती गिरफ्तार, नक्सली होने का शक

संवाद सूत्र, नगरा, (सारण): सारण जिले के खैरा-मढ़ौरा मुख्य मार्ग पर हरेराम टोला गांव के समीप मंगलवार की रात पुलिस ने छत्तीसगढ़ की 25 वर्षीय सुमित्रा को तमंचे के साथ गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार युवती छत्तीसगढ़ राज्य के बस्तर जिले के नगरनार गांव निवासी सुखदास की पत्नी बतायी जाती है। वह अपने पिता का नाम प्रहलाद बघैल बता रही है। उसके नक्सली होने का शक पुलिस व ग्रामीणों को है। हालांकि अब तक इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है।

बताया जाता है कि सुमिता छपरा की तरफ से किसी की बाइक से हरेराम टोला पहुंची थी। गांव के पास खड़ी थी। गांव वालों को संदेह हुआ तो सूचना पुलिस को दे दी गई। सूचना पाकर खैरा थाने की पुलिस महिला सिपाही के साथ पहुंच गई। युवती को हिरासत में ले लिया। पूछताछ और उसकी तलाशी के दौरान बैग से एक देसी तमंचा व दो जिदा कारतूस व एक स्मार्ट फोन बरामद हुआ। इसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

खैरा थानाध्यक्ष वीरेंद्र राम ने बताया कि युवती से पूछताछ की जा रही है। वह छत्तीसगढ़ से छपरा किस उद्देश्य से पहुंची, इसकी पड़ताल की जा रही है। डीएसपी मुनेश्वर प्रसाद सिंह भी थाने पहुंचकर युवती से पूछताछ की। डीएसपी ने बताया कि वह नक्सली है, इसकी अभी पुष्टि नहीं हुई है। इसलिए अभी कुछ नहीं कहा जा सकता है। मढ़ौरा के रास्ते पानापुर जाने की थी फिराक में

ग्रामीणों का कहना है कि हरेराम टोला से वह मढ़ौरा के रास्ते पानपुर जाने की फिराक में थी। बता दें कि सारण जिले का पानापुर प्रखंड नक्सल प्रभावित इलाका है। यहां से ही नक्सली पूरे जिले में अपनी गतविधियां संचालित करते हैं। यहां से नक्सलियों ने कई घटनाओं को अंजाम भी दिया है। इसलिए गिरफ्तार युवती के नक्सली होने का शक और अधिक गहरा हो जाता है। छत्तीसगढ़ का बस्तर भी नक्सलियों का गढ़

शक की दूसरी वजह है कि युवती ने अपना पता छत्तीसगढ़ का बस्तर जिला बताया है। बस्तर हार्डकोर नक्सलियों के लिए चर्चित है। हालांकि पुलिस युवती को अपराधी मानकर ही जांच कर रही है। एसपी संतोष कुमार ने बताया कि छतीसगढ़ की युवती देसी रिवाल्वर के साथ पकड़ी गई है। उसके आपराधिक इतिहास के बारे में पता लगाया जा रहा है।

सुमित्रा का मोबाइल बताएगा उसके सारण पहुंचने का उद्देश्य

जासं, छपरा : गिरफ्तार सुमित्रा के पास से जब्त मोबाइल ही बताएगा कि वह खैरा कैसे पहुंची। यहां पहुंचने का उसका उद्देश्य क्या था। सूत्रों की मानें तो वह छतीसगढ़ काम करने गए सारण के एक युवक के साथ छपरा पहुंची है। देसी रिवाल्वर व कारतूस भी उसी युवक ने दिए थे। बाइक से उतरने के बाद वह अभी कुछ समझ पाती कि ग्रामीणों ने उसे घेर लिया। सुमित्रा के पास मिले मोबाइल के काल डिटेल्स व संदेशों की जांच पुलिस कर रही है। इसके बाद ही पता चलेगा कि हरेराम टोला में क्यों खड़ी थी। आगे की साजिश क्या थी। वह खैरा से आगे कहां जाने वाली थी। बहरहाल पुलिस उसे खैरा तक पहुंचाने वाले बाइक चालक की पहचान करने की कोशिश में है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.