जुलूस ए मोहम्मदी पर नारों से गूंजे गांव और शहर, हरी झंडियों के साथ तिरंगा भी लहराया

पैगंबरे इस्लाम मोहम्मद साहब की पैदाइश की खुशी में ईद मिलादुनवी पर फिजा नबी के नारों से नूरानी हो उठा। शहर से लेकर गांव तक निकले जुलूस में नबी के आने का पैगाम देती हरी झंडियों के साथ तिरंगा भी खूब लहराया गया।

JagranWed, 20 Oct 2021 12:27 AM (IST)
जुलूस ए मोहम्मदी पर नारों से गूंजे गांव और शहर, हरी झंडियों के साथ तिरंगा भी लहराया

समस्तीपुर । पैगंबरे इस्लाम मोहम्मद साहब की पैदाइश की खुशी में ईद मिलादुनवी पर फिजा नबी के नारों से नूरानी हो उठा। शहर से लेकर गांव तक निकले जुलूस में नबी के आने का पैगाम देती हरी झंडियों के साथ तिरंगा भी खूब लहराया गया। जुलूस में शामिल नातिया अंजुमने हुजूर की शान में दरुदो सलाम का नजराना पेश करते चल रही थी। इसके साथ चल रहे बच्चे, बूढे और जवान। सभी के होठों से हुजूर की आमद मरहबा के नारे गूंज रहे थे। अपने नबी सल्लल्लाहु अलैहिवसल्लम की शान में नातिया कलाम का नजराना पेश कर रहे थे। जुलूस शहर के गोला रोड से निकलकर शहर में भ्रमण करते हुए बड़ी मस्जिद के निकट आकर समाप्त हुई। इसके उपरांत लोगों ने दुआ करते हुए शांति का संदेश दिया। मौके पर अर्शद खान, अनस रिजवान, हाजी मोतीउर आदि मौजूद रहे। दूसरी ओर वारिसनगर प्रखंड के सारी पंचायत स्थित नामनगर स्थित जामियां मखदुमिया तेगिया मोईनूल ओलूम से निकलकर मुख्य मार्ग से मथुरापुर घाट के निकट आकर समाप्त हुई। इस दौरान लोग कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए नजर आए। मौके पर मो. इजहार अशरफ, हाजी अब्दुल मजीद, वल्लीउल्लाह, अफजल हुसैन, नासिउद्दीन, खालिद रजा, अकबर रजा, हैदर अली, नौशाद समेत दर्जनों लोग शामिल रहे। जुलूस की कदायत कारी मोहम्मद मोतिउररहमान कर रहे थे। सुरक्षा व्यवस्था को लेकर जगह जगह पुलिस मुस्तैद रही। मगदरही घाट के निकट नगर थानाध्यक्ष अरुण राय सुरक्षा व्यवस्था की निगरानी करते नजर आए।

मोहिउद्दीननगर, संस: पैगंबरे इस्लाम मोहम्मद साहब का जन्मदिन मंगलवार को धूमधाम से संपन्न हुआ। प्रखंड क्षेत्र में कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए जगह जगह जुलूस निकाला गया। इसमें मुस्लिम समुदाय के युवा, बच्चे और बुजुर्ग समेत सभी वर्ग के लोग शामिल हुए। इसके उपरांत स्थानीय बड़ी मस्जिद में लोगों को शांति का संदेश देते हुए दुआ की गई। कल्याणपुर बस्ती, महमदीपुर, मदुदाबाद, दुबहा सहित स्थानों पर भी मोहम्मद साहब का जन्म दिवस उल्लास पूर्वक मनाया गया। मौके पर मौलाना सनाउल्लाह, फैज, सोनु, वशीर, निजाम, आरिफ, दिलखुश, नसीर सक्रिय रुप से मौजूद रहे। कल्याणपुर,संस: प्रखंड क्षेत्र में जगह जगह गाजे बाजे के साथ जुलूस ए मोहम्मदी निकाली गई। स्थानीय लदौरा गांव से कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए लोग जुलूस में शामिल हुए। मौके पर इसराइल, अहमद, फिरोज, फारुख, जावेद, जाकिर, अशरफ, नूर आलम, आमीन मोहम्मद, कूदूस, बारीक, तादिर, अहमद खान, मुर्तुजा सक्रिय रुप से मौजूद रहे। सरायरंजन, संस: प्रखंड के मुसरीघरारी में धूमधाम से जुलूस-ए- मोहम्मदी निकाली गई। जुलूस मुख्य मार्ग से होते हुए स्थानीय मदरसा पर आकर समाप्त हुई। इस दौरान लोगों ने हजरत मोहम्मद के जीवन चरित्र पर विस्तृत प्रकाश डालते हुए शांति व अमन भाईचारे का संदेश दिया। मौके पर मदरसा के सचिव अब्दुल हकीम समेत मदरसा कमेटी के सभी सदस्य मौजूद रहे।

दलसिंहसराय: अनुमंडल क्षेत्र में मुस्लिम समुदाय के लोगों द्वारा जगह जगह जुलूस ए मोहम्मदी निकाली गई। झंडे व बैनर के साथ बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए। स्थानीय कादरी जामा मस्जिद चक नवादा सहित सरदार गंज जामा मस्जिद व गंज रोड स्थित मस्जिद के मौलाना शहबाज, हाफिज कलीम, हाफिज शमशेर, मौलाना शरीफ, आले मुस्तफा, शमीम कादरी आदि ने भी अपना पैगाम दिया। मौके पर मो. आरफुल कादरी, मो. मकबूल अहमद, मो. शमशाद, मो. अशरफ, अहमद हुसैन, नसीम, रिजवान, इरफान सक्रिय रुप से मौजूद रहे।

मोरवा संस : प्रखंड के धर्मपुर बांदे स्थित कादरी जमा मस्जिद से जुलूसे मोहम्मदी का आयोजन किया गया। इस अवसर पर काफी संख्या में लोग शामिल हुए। कादरी जामा मस्जिद के सदर मोहम्मद जावेद आलम ने बताया कि मोहम्मद साहब ने दुनिया में जब आए तो पूरी दुनिया वाले को अमन व चैन का पैगाम दिया।

ईद मिलादुन्नबी के अवसर पर नात-ए-इबादत शाहपुर पटोरी, संस: प्रखंड क्षेत्र में कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए ईद मिलादुन्नवी का त्योहार धूमधाम से मनाया गया। मुस्लिम समुदाय के लोगों ने दुआ करते हुए शांति व अमन चैन का पैगाम दिया। जुलूस थानीय जामा मस्जिद से निकलकर मुख्य मार्ग से भगत सिंह चौक, पुरानी बाजार, चंदन चौक, कवि चौक, सिनेमा चौक, सोमवारी हाट, अंबेडकर चौक होते हुए बाजार का भ्रमण किया। इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि हजरत मोहम्मद सल्लाल्लाहो अलैही वसल्लम सभी के लिए रहमत बनकर आए थे। उन्होंने सभी को अमन एवं शांति का पैगाम दिया। नबी हजरत मोहम्मद ने वतन से मोहब्बत का पैगाम दिया। जुलूस में लोगों ने सांप्रदायिक सौहार्द व कौमी एकता की मिसाल पेश की गई। मौके पर मौलाना शफीउल्लाह खां, डॉ. अशरफ इमाम, मुमताज अहमद बबलू, हाफिज अल्ताफ, मौलाना अतीउर्रहमान, विशेश्वर ठाकुर, गुड्डू, नूर आलम, सदानंद राय, कौशल किशोर मिश्रा, राम शंकर प्रसाद, कमरुल अंसारी, डा. शमीम, डा. निसार अहमद, इश्तियाक सहित काफी संख्या में लोग मौजूद थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
You have used all of your free pageviews.
Please subscribe to access more content.
Dismiss
Please register to access this content.
To continue viewing the content you love, please sign in or create a new account
Dismiss
You must subscribe to access this content.
To continue viewing the content you love, please choose one of our subscriptions today.