डा. लोहिया के बताए रास्ते पर चल रही केद्र सरकार : हुकुमदेव

समस्तीपुर। डा. राम मनोहर लोहिया ने कहा था किसी भी व्यक्ति समाज या सरकार के लिए जरूरी है दिशा ²ष्टि और संकल्प। लोहिया जी के इसी कथन को ध्यान में रखकर सही दिशा और ²ष्टि में केन्द्र की मोदी सरकार चल रही है।

JagranThu, 16 Sep 2021 11:34 PM (IST)
डा. लोहिया के बताए रास्ते पर चल रही केद्र सरकार : हुकुमदेव

समस्तीपुर। डा. राम मनोहर लोहिया ने कहा था किसी भी व्यक्ति, समाज या सरकार के लिए जरूरी है दिशा, ²ष्टि और संकल्प। लोहिया जी के इसी कथन को ध्यान में रखकर सही दिशा और ²ष्टि में केन्द्र की मोदी सरकार चल रही है। हां, तरीका अलग है। सबको काम करने का अलग-अलग तरीका होता है। समय के साथ बदलाव होते रहता है। युग परिवर्तन होता है। त्रेता युग में भगवान राम उस समय की राजसत्ता के अनुसार शासन चलाते थे। द्वापर में कृष्ण ने भी राजसत्ता उस समय की व्यवस्था के अनुसार संचालित किया। आज लोकतांत्रिक व्यवस्था है। संसदीय प्रणाली है। लोकतंत्र में जो विधान है, उसके अनुसार शासन व्यवस्था चल रही है। उक्त बातें पूर्व केन्द्रीय मंत्री हुकुमदेव नारायण यादव ने कही। वे गुरुवार को लोहिया आश्रम में आयोजित अभिनंदन समारोह सह वर्तमान में युवाओं का दायित्व विषय व्याख्यान को मुख्य वक्ता के रूप में संबोधित कर रहे थे। लोहिया आश्रम के अध्यक्ष सह जदयू के प्रदेश महासचिव डॉ. दुर्गेश राय की अध्यक्षता में आयोजित समारोह में उन्होंने कहा कहा कि भारत में कई प्रकार के प्रयोग हो रहे हैं। अलग-अलग राज्य सरकारें अपने फायदे के अनुसार प्रयोग भी कर रही है। पूर्व मंत्री ने कहा कि राजनीति के लिए जरूरी है कि आप अध्ययन करें। ज्ञान प्राप्त करें। जानकारी हो। तर्क ज्ञान होना चाहिए। आप अपनी सीट पर बैठे-बैठे अपने तर्क से सामने वाले को परास्त कर सकें। लोकतंत्र का आधार ही तर्क है। आज के युवाओं को अध्ययन करना चाहिए। उन्हें हर विषय पर अपने ज्ञान को बढाना चाहिए। पूर्व मंत्री ने कहा कि पहले के युवा जब आपस में मिलते थे तो शिक्षा, स्वास्थ्य, अर्थव्यवस्था, सामाजिक व्यवस्था आदि पर चर्चा करते थे। लेकिन आज हम सिर्फ और सिर्फ निजी बातों की चर्चा करते हैं। यूरोप और अमेरिका का उदाहरण देते हैं। लेकिन हमें यह भी जानना चाहिए कि अमेरिका का हर नागरिक जब सुबह में सोकर उठता है तो वह संकल्प लेता है राष्ट्र प्रथम।

जातिवाद पर जमकर प्रहार करते हुए पूर्व मंत्री ने कहा कि महात्मा गांधी बनिया थे। लेकिन उनके साथ रहने वाले अधिकांश लोग उच्च वर्ग के थे। उनके आह्वान पर देश के हर जाति के लोग एक पैर पर खड़े रहते थे। मर-मिटने के लिए तैयार रहते थे। भगवान राम क्षत्रिय थे, कित आज उनकी पूजा हर जाति के लोग करते हैं। भगवान श्रीकृष्ण यादव थे लेकिन आज विश्व के अधिकांश कृष्ण मंदिरों के पुजारी ब्राह्णण हैं। डॉ. लोहिया मारवाड़ी थे कितु देश का पूरा का पूरा पिछड़ा समाज उनके साथ था। कर्पूरी जी नाई थे लेकिन उनके साथ उच्च वर्गों के नेताओं की टोली रहती थी। लोहिया ने कहा था- राह को देखो, राही को नहीं। जिसकी नीति अच्छी हो, जिसका नीयत साफ हो वही अच्छा है। प्रधानमंत्री मंत्री नरेन्द्र मोदी तेली समाज से आते हैं लेकिन आज उनके साथ देश का हर जाति और वर्ग खड़ा है। जात-पात के बंधन से उपर उठकर हमें देश और समाज के लिए सोचना होगा। उन्होंने राजनीति के साथ-साथ धर्म, अध्यात्म, दर्शन आदि के माध्यम से आज के युवाओं के दायित्व को व्यापक तरीके से रखा। व्याख्यान को पूर्व विधायक दुर्गा प्रसाद सिंह, भाजपा किसान मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जगन्नाथ ठाकुर आदि ने संबोधित किया। स्वागत भाषण भाजपा जिलाध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने किया। जबकि धन्यवाद ज्ञापन जदयू जिलाध्यक्ष सह लोहिया आश्रम की सचिव अश्वमेघ देवी ने किया। मौके पर भाजपा नेता शशिकांत आनंद, विमला सिंह, जदयू के प्रधान महासचिव प्रो. तकी अख्तर, निर्मला ज्योति, अनस रिजवान, दिनेश दास तांती, राज कुमार राकेश, छेदी लाल भरतिया, अरुण शेखर कुंवर समेत काफी संख्या में लोग मौजूद थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.