सरारी गंगा घाट पर हुई महाआरती, सम्मिलित हुए केंद्रीय गृह राज्यमंत्री

समस्तीपुर। गंगा मनुष्य को त्रिविध ताप से मुक्ति प्रदान करने वाली है। इसके तट की हवा लोगों के अंद

JagranMon, 21 Jun 2021 11:40 PM (IST)
सरारी गंगा घाट पर हुई महाआरती, सम्मिलित हुए केंद्रीय गृह राज्यमंत्री

समस्तीपुर। गंगा मनुष्य को त्रिविध ताप से मुक्ति प्रदान करने वाली है। इसके तट की हवा लोगों के अंदर इम्युनिटी को बढ़ाने वाली है। इसलिए गंगा की रक्षा करना तटवासियों का कर्तव्य है। गंगा के तट पर रहने वाले लोग कोरोना काल में अधिक सुरक्षित रहें हैं। उक्त बातें भारत सरकार के केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने कही। वे रविवार की देर शाम गंगा अवतरण दिवस के अवसर पर मोहनपुर में सरारी गंगा घाट पर महाआरती के दौरान जनसमूह को संबोधित कर रहे थे। गंगा की महाआरती का आयोजन आरएसएस द्वारा संचालित

गंगा समग्र के द्वारा किया गया। इस अवसर पर स्थानीय विधायक राजेश कुमार सिंह ने कहा गंगा हमारी माता है। इसका जल धार्मिक ²ष्टि से ही नहीं बल्कि सुन्दर स्वास्थ्य के लिए भी उपयोगी है। इसे स्वच्छ रखना हम सबों की जिम्मेवारी है। गंगा महाआरती के पूर्व गंगा तट पर पंच पल्लव वृक्षों के पौधों का रोपण किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता आरएसएस के जिला संघचालक रामलगन सिंह ने की। संचालन बौद्धिक प्रमुख मित्र कुमार ठाकुर ने किया। कार्यक्रम का संयोजन उत्तर बिहार गंगा समग्र के विभाग संयोजक भाई रणधीर ने किया। महाआरती का कार्य मोरवा खुदनेश्वर मंदिर के पंडित अनंत कुमार मिश्र, अमित कुमार झा, कृष्ण मोहन मिश्र, आचार्य

तीर्थमोहन मिश्र और शिवम कुमार झा ने कराया मुख्य यजमान की भूमिका में अरविद कुमार राय उर्फ डोमन राय, राजेश सिघानिया, प्रो दिलीप सिंह,उमाकांत सिंह, डॉ दामोदर राय शामिल थे। मौके पर आरती प्रमुख अरूण कुमार सिंह, तालाब प्रमुख चन्द्रदीप जयसवाल, जट्टा प्रसाद यादव, दिनेश सिंह, बैधनाथ राय आदि मौजूद थे।

-------

क्षेत्र में पांचवी बार हुआ गंगा महाआरती का आयोजन

प्रखंड क्षेत्र में गंगा की महाआरती का कार्यक्रम पांचवी बार आयोजित हुआ है। नमामि गंगे योजना की ओर से सर्वप्रथम 2017 में जिला संयोजक रणधीर भाई के नेतृत्व में बनारस के पंडित ने महाआरती की थी। यह आयोजन रामचंद्र साह उर्फ लाल बाबा के द्वारा निर्माण किए हुए हरदासपुर सीढ़ी घाट पर किया गया था। दूसरा आयोजन सीढ़ी घाट पर ही मई 2018 में स्थानीय ग्रामीणों द्वारा किए गए यज्ञ के दौरान साधु- संतों के द्वारा किया गया था। यह कार्यक्रम गंगा दशहरा पर आयोजित हुए थे। 2018 के अक्टूबर में ही शिक्षक अमित कुमार के सौजन्य से बाबा बालनाथ घाट रसलपुर पर बनारस के पंडित को बुलाकर महाआरती कराया गया था। चौथा आयोजन 2019 में प्रशासन की देखरेख में उत्तराखंड से चली स्वच्छ गंगा के विशेष टीम के अभिनन्दन में बनारस के पंडितों से कराई गयी थी। यह कार्यक्रम भी बाबा बालनाथ घाट पर ही की गई थी। इस बार का यह आयोजन गंगा समग्र की ओर से सरारी घाट पर आयोजित किए गए। हर बार गंगा की महाआरती में इलाके के श्रद्धालुओं की काफी भीड़ देखी गयी। गंगा तट पर निवास करने वाले लोगों को गंगा के प्रति असीम श्रद्धा देखी जा रही है। गंगा कटाव से पीड़ित लोगों में भी उसके प्रति तनिक भी आक्रोश नहीं दिखाई देता। लोग प्यार से गंगा मइया

कहकर पुकारते हैं। पूजन-वंदन करते हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.