कार्तिक पूर्णिमा पर श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी

कार्तिक पूर्णिमा पर श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी

पटोरी स्थित विभिन्न गंगा घाटों पर कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर लोगों ने पवित्र स्नान किया तथा मां गंगा की पूजा-अर्चना की। इस अवसर पर गंगा घाटों पर मेले जैसा ²श्य बना था और काफी संख्या में लोग दूर-दराज से स्नान करने पहुंचे थे।

Publish Date:Mon, 30 Nov 2020 11:44 PM (IST) Author: Jagran

समस्तीपुर । पटोरी स्थित विभिन्न गंगा घाटों पर कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर लोगों ने पवित्र स्नान किया तथा मां गंगा की पूजा-अर्चना की। इस अवसर पर गंगा घाटों पर मेले जैसा ²श्य बना था और काफी संख्या में लोग दूर-दराज से स्नान करने पहुंचे थे। गंगा स्नान के कारण पटोरी धमौन रोड, पटोरी मोहनपुर रोड, तथा मोहनपुर से गुजरने वाली महनार- मोहिउद्दीन नगर सड़क घंटो जाम रही। पटोरी स्थित रुन्नी भूईयां घाट, बुलगानीन गंगा घाट आदि जगहों पर पर सर्वाधिक भीड़ देखी गई। लोग बड़े और छोटे वाहनों से आकर न सिर्फ स्नान किया बल्कि मां गंगा की आरती की और पूजा अर्चना भी की। कई लोगों ने अपनी मनौतियां भी उतारी और गाजे-बाजे के साथ मां गंगा की पूजा अर्चना की। कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर विभिन्न शिवालयों में लोगों की भीड़ भी देखी गई।

मोहनपुर,संस : कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर सोमवार को श्रद्धालुओं ने प्रखंड के विभिन्न गंगा घाटों पर पवित्र स्नान किया। स्नान करने के लिए सोमवार की अलसुबह से ही महनार - मोहीउद्दीननगर पथ पर गाड़ियों का तांता लगा रहा। दूर-दूर से आए श्रद्धालुओं ने सरारी, हरदासपुर, रसलपुर, बघड़ा, मटिऔर, डुमरी, जौनापुर के गंगा घाटों पर पवित्र डुबकियां लगाकर माता गंगे की पूजा-अर्चना की। फूलों की डालियां और दीप दान आवश्यक रूप से श्रद्धालुओं ने किया। इस अवसर पर जगह-जगह सत्यनारायण व्रत कथा व अष्टयाम का भी आयोजन किया गया थ। मनौतियां पूर्ण होने पर चांदी की बकरी, कछुआ आदि भी गंगा में अर्पित किए गए। इस मौके पर बच्चों के मुंडन का कार्य सर्वाधिक किया गया। लोगों के आगमन को के कारण सभी गंगा घाटों पर मेला लगा हुआ था। जिसमें प्रसाधन सामग्रियों के अलावे बच्चों के खिलौने व मिठाइयों बिक रही थी। हरदासपुर गंगा कटाव से प्रभावित होने के कारण यहां वर्षों से विख्यात कुश्ती प्रतियोगिता का आयोजन नहीं हो सका। पूर्व प्रमुख कमलकांत राय ने बताया कि पूर्व में प्रत्येक वर्ष इस अवसर पर कुश्ती की प्रतियोगिता होती थी जिसमें दूर - दूर के पहलवान हिस्सा लेते थे। कटाव में जमीन कट जाने के बाद कुश्ती कराने के स्थल का अभाव सा हो गया है। जिसके कारण कुश्ती की प्रतिभा का प्रदर्शन युवाओं द्वारा नहीं हो पा रहा है।

मोहिउद्दीननगर,संस: कार्तिक पूर्णिमा के पवित्र अवसर पर श्रद्धालुओं ने गंगा में स्नान किया। सोमवार की सुबह से ही क्षेत्र से गुजरने वाली रासपुर पतसिया, सुलतानपुर, घटहा टोल आदि गंगा के घाटों पर लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। प्रशासनिक स्तर पर पुलिसिया व्यवस्था की गई थी। जहां हर घाटों पर थानाध्यक्ष सुमन कुमार के नेतृत्व में पुलिस बल की विशेष तैनाती थी।

कल्याणपुर,संस : प्रखंड क्षेत्र से गुजरने वाली बूढ़ी गंडक नदी के विभिन्न घाटों पर कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर लोगों ने पवित्र स्नान किया। श्रद्धालुओं द्वारा दीप दान भी किया गया। वासुदेवपुर घाट पर कार्तिक पूर्णिमा व्रत कथा प्रो. युगल किशोर झा के द्वारा कहा गया। वहीं 24 घंटे का महा अष्टयाम का समापन भी हुआ। वहीं जूट मिल, भागीरथपुर, सैदपुर घाट पर भी हजारों की संख्या में लोगों ने पूर्णिमा के अवसर पर पवित्र स्नान किया।

पूसा,संस : प्रखंड से होकर गुजरने वाले बूढ़ी गंडक के बिरौली घाट पर पिछले दो दिनों से श्रद्धालुओं का मेला लगा हुआ हुआ है। पवित्र स्नान को लेकर काफी संख्या में श्रद्धालु यहां पहुंचे और स्नान के बाद पूजा अर्चना की। घाट पर स्थित विषहरी स्थान में जलाभिषेक भी किया। इस घाट पर वर्षों से हजारों श्रद्धालुओं की भीड़ लगती है। स्थानीय लोगों का बताना है कि यहां स्नान कर विषहरी स्थान पर जलाभिषेक करने से मनोकामना पूर्ण होती है। इसको लेकर समस्तीपुर के विभिन्न क्षेत्रों सहित वैशाली, दरभंगा, मुजफ्फरपुर से भी हजारों श्रद्धालु यहां आते हैं और रात्रि विश्राम कर सुबह स्नान कर जलाभिषेक कर घर लौटते हैं। इस वजह से यहां मेला सा ²श्य रहता है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.