निश्शक्त मतदाताओं को मिलेगी वोट डालने की वैकल्पिक सुविधा

निश्शक्त मतदाताओं को मिलेगी वोट डालने की वैकल्पिक सुविधा
Publish Date:Wed, 23 Sep 2020 07:19 PM (IST) Author: Jagran

सहरसा। आगामी बिहार विधान सभा आम निर्वाचन 2020 में 80 वर्ष आयु से ऊपर के मतदाता, शारीरिक रूप से निश्शक्त दिव्यांग (पी.डब्लू.डी.) मतदाता एवं कोविड-19 से ग्रसित मतदाताओं की लोकतंत्र में भागीदारी सुनिश्चित कराने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था के तहत पोस्टल बैलेट (डाक मतपत्र) की सुविधा भारत निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देश के आलोक में उपलब्ध करायी जाएगी। इसके संबंध में जिला निर्वाचन पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश जारी किया गया है।

जिला निर्वाचन पदाधिकारी -सह- जिलाधिकारी कौशल कुमार ने बिहार विधान सभा आम निर्वाचन-2020 में इन श्रेणियों के मतदाता के लिए मत के प्रयोग हेतु वैकल्पिक व्यवस्था से संबंधित जानकारी, मतदान करने की प्रक्रिया एवं भारत निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देश से अवगत कराने का निदेश मतपत्र कोषांग को दिया है। उन्होंने निर्देश दिया है कि व्यक्तिगत रूप में ऐसे सभी मतदाताओं को पत्र के माध्यम से जानकारी दें, साथ हीं निर्धारित फार्म-12 डी संलग्न कर उपलब्ध कराएं ताकि वे उक्त प्रपत्र में वैकल्पिक व्यवस्था के अंतर्गत पोस्टल बैलेट के माध्यम से मतदान करने हेतु आवेदन कर सकेंगे। इस श्रेणी के मतदाता अपने विधानसभा के निर्वाचन क्षेत्र में निर्वाचन की अधिसूचना की तारीख से अनुगामी 5 (पांच) दिन के भीतर फार्म-12 डी को भरकर अपने निर्वाची पदाधिकारी के कार्यालय में कार्यरत विशेष प्रकोष्ठ (स्पेशल विडो) मे जमा कराएंगे। फार्म-12डी में आवेदन करने एवं पोस्टल बैलेट निर्गत होने के पश्चात आवेदनकर्ता मतदाता केवल डाक मतपत्र से हीं अपना बहुमूल्य मत दे सकते हैं। कोविड-19 से ग्रसित मतदाता को सक्षम प्राधिकार से निर्गत प्रमाण पत्र के आधार पर वैकल्पिक व्यवस्था के तहत पोस्टल बैलेट के माध्यम से मत प्रयोग करने की सुविधा उपलब्ध होगी। इस प्रकार सबकी भागीदारी से लोकतंत्र को मजबूती मिलेगी। उल्लेखनीय है कि सहरसा जिला के चारों विधानसभाओं के अंतर्गत 80 वर्ष आयु से ऊपर के मतदाता की संख्या 15137 एवं दिव्यांग (पी.डब्लू.डी.) मतदाताओं की संख्या 6180 है।

जिलाधिकारी ने बुधवार को अपने कार्यालय वेश्म में जिले सभी चार विधान सभा क्षेत्र के निर्वाची पदाधिकारियों के साथ निर्वाचन संबंधी तैयारियों के संबंध में समीक्षा बैठक की। आगामी बिहार विधान सभा आम निर्वाचन-2020 के अवसर पर केन्द्रीय सुरक्षा बलों के लिए आवासन हेतु आवासन स्थलों को चिह्नित करने के संदर्भ में विधान सभावार निर्वाची पदाधिकारियों से विचार विमर्श किया गया। भेद्यता मानचित्र, सेक्टर मानचित्र, सभी मतदान केन्द्रों पर अनिवार्य न्यूनतम सुविधाएं (एएमएफ) आदि की भी समीक्षा की गई। तत्पश्चात डीएम एवं पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार ने संयुक्त रूप से समाहरणालय परिसर स्थित ईवीएम गोदाम का निरीक्षण किया। इसके उपरांत चिह्नित मतगणना केन्द्र एवं वज्रगृह निर्माण कार्य का भी निरीक्षण किया गया। उल्लेखनीय है कि 74-सोनवर्षा (अजा.) एवं 75-सहरसा विधान सभा क्षेत्र के लिए मतगणना केन्द्र एवं वज्रगृह हेतु जिला स्कूल, सहरसा तथा 76-सिमरी बख्तियारपुर एवं 77-महिषी विधान सभा क्षेत्र के लिए मतगणना केन्द्र एवं वज्रगृह स्थल के रूप में राजकीय कन्या उच्च विद्यालय, सहरसा को चिह्नित किया गया है। डीएम ने वज्रगृह निर्माण कार्य का निरीक्षण किया एवं संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। इस क्रम में उन्होंने सहरसा इंजीनियरिग कॉलेज से सहरसा विधान सभा क्षेत्र के लिए मतदान सामग्री वितरण केंद्र के रूप में स्थल चयन के संदर्भ में भवन एवं परिसर का भी निरीक्षण किया गया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.