पर्यावरण संरक्षण से जुड़ा है खरका तेलवा पंचायत कीस्थापना का सच

सहरसा। नवहट्टा प्रखंड के खरका-तेलवा पंचायत की स्थापना का राज पर्यावरण संरक्षण से जुड़ा है। कोसी नदी के उफान एवं बाढ़ से परेशान यहां के लोग बसने का कोई स्थाई ठिकाना नहीं था नदी की धारा के साथ बसेरा उजड़ता और बसता था। कटाव से बचने के लिए श्रीलाल बाबा नाम के एक महापुरुष ने पौधारोपण अभियान चलाया। उन्होंने गांव में जहां-तहां बरगद पीपल आदि के पेड़ लगाकर कोसी के खौफ से बचने का तरीका ढूंढा। कोसी के कछार पर खर-पतवार का जंगल और पेड़ के बीच बसा गांव खरका-तेलवा बन गया।

JagranTue, 07 Sep 2021 05:30 PM (IST)
पर्यावरण संरक्षण से जुड़ा है खरका तेलवा पंचायत कीस्थापना का सच

सहरसा। नवहट्टा प्रखंड के खरका-तेलवा पंचायत की स्थापना का राज पर्यावरण संरक्षण से जुड़ा है। कोसी नदी के उफान एवं बाढ़ से परेशान यहां के लोग बसने का कोई स्थाई ठिकाना नहीं था, नदी की धारा के साथ बसेरा उजड़ता और बसता था। कटाव से बचने के लिए श्रीलाल बाबा नाम के एक महापुरुष ने पौधारोपण अभियान चलाया। उन्होंने गांव में जहां-तहां बरगद पीपल आदि के पेड़ लगाकर कोसी के खौफ से बचने का तरीका ढूंढा। कोसी के कछार पर खर-पतवार का जंगल और पेड़ के बीच बसा गांव खरका-तेलवा बन गया।

----

कई गांवों में बंटी है पंचायत

---

खरका-तेलवा पंचायत के उत्तर उत्तर में नगर पंचायत नवहट्टा, दक्षिणी में मुरादपुर, पूरब में सत्तर कटैया प्रखंड के सिहौल एवं बिहरा तथा पश्चिम में मोहनपुर और शाहपुर पंचायत पड़ता है। नवहट्टा मुरादपुर पथ के दोनों ओर इस पंचायत में कई गांव हैं। प्रखंड मुख्यालय से महज पांच सौ मीटर बाद पंचायत की सीमा प्रारंभ हो जाती है। ब्राह्मण टोली, तेलवा, दिवरा, रमौती, औरिया, रामनगर-भरना, भेलाही भरना आदि गांव में बंटा हुआ है।

---

धार्मिक व लोक आस्था का केंद्र

---

खरका तेलवा पंचायत में कई धार्मिक स्थल एवं लोक आस्था का केंद्र है। प्रखंड मुख्यालय से गांव में प्रवेश करते हैं ब्रह्मास्थान का मंदिर लोगों का आस्था का केंद्र बिदु बना हुआ है। इसके बाद तेलवा में सरस्वती मंदिर सभी लोगों की आस्था जुड़ा है। भगवान कार्तिक की यहां पूजा और मेला बड़े धूमधाम से की जाती है। कश्मीर में शहीद सैनिक हीरा झा के स्मारक के प्रति भी लोगों का सम्मान है।

---

मुख्यालय से दूरी

----

खरका तेलवा पंचायत से जिला मुख्यालय की दूरी लगभग 25 किलोमीटर है। प्रखंड मुख्यालय की दूरी 500 मीटर । राज्य के राजधानी पटना की दूरी यहां से दो सौ पच्चीस किलोमीटर है। राज्य के कई बड़े शहरों को जोड़ने वाली बलुआहा पुल की दूरी नौ किलोमीटर है । पड़ोसी देश नेपाल की दूरी लगभग 100 किलोमीटर है । पूर्वी कोसी तटबंध की दूरी पंचायत से एक किलोमीटर है।

----

1984 में टूटा था कोसी बांध

---

पूर्वी कोसी तटबंध के निर्माण के बाद गांव के लोगों ने बाढ़ से राहत मिली लेकिन बांध के बाहर होने से सीपेज पानी की समस्या हो गई। पानी की निकासी के लिए बना बुढि़या चौभग्गा ड्रैनेज असफल हो गया । 1984 में टूटा बांध इस गांव के लिए आफत बन गया। टूटने के बाद की कोसी की धारा बड़ी मात्रा में इस गांव के आसपास से गाद बाहर कर साथ दे गई । गांव अब टापू बन कर रह गया है लोगों के जीविकोपार्जन एकमात्र साधन मखाना की खेती रह गया है।

----

पंचायत एक नजर में

----

पंचायत खरका तेलवा आबादी 15238

मतदाता 9500

माध्यमिक उच्च विद्यालय 01

मध्य विद्यालय पांच

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.