top menutop menutop menu

प्रशिक्षण प्राप्त महिलाएं कृषि उत्पादकता बढ़ाने में होंगी सक्षम

रोहतास। गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत स्थानीय कृषि विज्ञान केंद्र में रविवार को प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरुआत की गई। इस योजना के तहत कृषि विज्ञान केंद्र कुल 25 विषयों पर प्रशिक्षण आयोजित करेगा। जिसमें मशरूम उत्पादन, बकरी पालन, बैकयार्ड कुकुट पालन, कृषि यंत्रों के उपयोग एवं रखरखाव, सब्जी पौधा उत्पादन, दाल प्रसंस्करण, पशुपालन, मछली पालन, मशीन से धान फसल की बोआई तकनीक आदि प्रमुख विषय शामिल हैं। प्रत्येक विषयों के प्रशिक्षण कार्यक्रम तीन दिनों तक चलाए जाएंगे। प्रशिक्षण पांच जुलाई से 30 अक्टूबर तक चलेगा। आज कृषि यंत्रों के उपयोग एवं रखरखाव विषय पर प्रशिक्षण प्रारंभ हुआ, जो पांच से सात जुलाई तक चलेगा।

प्रशिक्षण में जीविका द्वारा बनाए गए कृषि यंत्र समूह की 35 महिलाएं भाग ले रही हैं। जिसमें तिलौथू प्रखंड की छह, नोखा प्रखंड की पांच, बिक्रमगंज प्रखंड की 15 एवं संझौली प्रखंड की नौ महिलाएं शामिल हैं। महिला प्रशिक्षणार्थियों में नीलम देवी, अर्चना देवी, ललिता देवी, रिकू देवी, मंजुला देवी, सोनम देवी, रजनी देवी, प्रीतम कुमारी समेत 35 प्रतिभागियों ने प्रशिक्षण में भाग लिया। कार्यक्रम का उद्घाटन केंद्र के प्रधान डॉ रामपाल ने किया। उन्होंने कहा कि पूरे रोहतास जिला में कई तरह के कृषि यंत्र खेती में प्रयोग किए जाते हैं। इनके रखरखाव एवं मरम्मत में कई लोग रोजगार प्राप्त कर रहे हैं। यह महिला समूह भी अपने आप सभी कृषि यंत्रों के उपयोग एवं रखरखाव की जानकारी प्राप्त कर, कृषि उत्पादकता बढ़ाने में काफी हद तक सक्षम होगी। कहा कि कृषि यंत्रों के बेहतर रख रखाव से खेती में लागत कम व मुनाफा अधिक होगा। अब वैज्ञानिक पद्धति से उन्नत खेती के दिन आ गए हैं। इसे अपनाकर किसान अपनी आमदनी बढ़ा सकते हैं। प्रशिक्षण कार्यक्रम में मत्स्य वैज्ञानिक आर के जलज भी शामिल थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.