सोन के जलस्तर में भारी वृद्धि, तटीय भाग में अलर्ट जारी

सोन के ऊपरी जलग्रहण क्षेत्र में तीन दिनों से हो रही भारी वर्षा के बाद सोन नदी उफनने लगी है। जलस्तर में भारी वृद्धि को देख्ते हुए प्रशासन ने तटीय भाग में अलर्ट जारी किया है। कैमूर पहाड़ी से निकली नदियों से रोहतास प्रखंड में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है। प्रशासन ने सोन टीले को खाली करा दिया गया है।

JagranSun, 01 Aug 2021 10:05 PM (IST)
सोन के जलस्तर में भारी वृद्धि, तटीय भाग में अलर्ट जारी

संवाद सहयोगी, डेहरी आन सोन: रोहतास। सोन के ऊपरी जलग्रहण क्षेत्र में तीन दिनों से हो रही भारी वर्षा के बाद सोन नदी उफनने लगी है। जलस्तर में भारी वृद्धि को देख्ते हुए प्रशासन ने तटीय भाग में अलर्ट जारी किया है। कैमूर पहाड़ी से निकली नदियों से रोहतास प्रखंड में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है। प्रशासन ने सोन टीले को खाली करा दिया गया है। इंद्रपुरी बराज पर रविवार को तीन लाख 40 हजार क्यूसेक नदी का प्रवाह दर्ज किया गया है। जिसमें तीन लाख 35 हजार क्यूसेक पानी नदी में बहाया जा रहा है।

जल संसाधन विभाग के अनुसार तीन दिनों से हो रही बारिश के कारण सोन नदी के जलस्तर में वृद्धि जारी है। शनिवार की शाम से जलस्तर में भारी वृद्धि हुई है। अनुमंडल के नौहट्टा व रोहतास प्रखंड में सोन टीले को प्रशासन ने खाली करने का निर्देश दिया है। लाउडस्पीकर से सोन तटीय इलाके के लोगो अलर्ट किया जा रहा है।

रोहतास प्रखंड से प्राप्त खबरों के अनुसार सोन में आई अचानक बाढ़ से नदी के तटीय इलाके एवं सोन डीला में रह रहे लोग प्रभावित है। नदी का लगातार जलस्तर बढ़ने से सोन टीले एवं आसपास के क्षेत्र में रहने वाले लोगों की परेशानी बढ़ गई है। रोहतास प्रखंड के नावाडीह, जमुआ ,उचैला ,रसूलपुर, तुंबा , कशीगांवा, बंजारी समेत कई गांवों के लोग सोन नदी टीला पर अस्थाई रूप से झोपड़ी डालकर सब्जी की खेती एवं मवेशी पालन करते हैं। नदी का जलस्तर बढ़ने और प्रशासन के अलर्ट जारी करते ही वे सोन डीला को छोड़कर मैदानी इलाकों में आ गए। वही कैमूर पहाड़ी से निकली अवसानी नदी भी पूरे उफान पर है । लगातार बारिश से कई झरनों के पानी अवसानी नदी से होते हुए आसपास के क्षेत्र में विकराल रूप धारण कर लिया है, जिससे सुंदरगंज की निचली बस्ती डूब चुकी है। लोग अपने घरों से लकड़ी की चचरी बनाकर मुख्य मार्ग तक आ जा रहे हैं।

जल संसाधन विभाग के मानिटरिग सेल के कार्यपालक अभियंता सुजीत कुमार ने बताया कि झारखंड के मोहम्मदगंज बराज व ऊपरी जलग्रहण क्षेत्र में लगातार वर्षा होने से सोन के जलस्तर में बढ़ोतरी हुई है। इंद्रपुरी बराज के 69 फाटक में से 50 को खोल दिया गया है। बराज पर चौबीस घंटे अधिकारी तैनात है। पानी के आवक पर नजर रख रहे है। सोन नहर कमांड क्षेत्र के सभी के आठ जिलों में वर्षा होने के कारण नहरो में पानी की आपूर्ति कम कर दी गई है। सोन कमांड एरिया में आज वर्षा में कमी आई है।आज देर शाम तक जलस्तर घटने की संभावना है। एसडीएम समीर सौरभ के अनुसार सोन के जलस्तर पर लगातार नजर रखी जा रही है। सभी प्रखंड के सीओ को तटीय इलाके के लोगो को सतर्क करने तथा सोन टीलों को भी खाली कराने का निर्देश दिया गया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.