सूबे के अन्य पांच जिलों में लागू होगा पूर्णिया का संवर्धन माडल

पूर्णिया। कुपोषण को दूर करने के लिए हेल्थ एवं आइसीडीएस विभाग मिल कर काम करना है। गोद भराई व अन्न प्रासन्न दिवस के मौके पर फोलिक एसिड और आयरन की गोली को भी बांटा जाएगा।

JagranWed, 28 Jul 2021 11:47 PM (IST)
सूबे के अन्य पांच जिलों में लागू होगा पूर्णिया का संवर्धन माडल

पूर्णिया। कुपोषण को दूर करने के लिए हेल्थ एवं आइसीडीएस विभाग मिल कर काम करना है। गोद भराई व अन्न प्रासन्न दिवस के मौके पर फोलिक एसिड और आयरन की गोली को भी बांटा जाएगा। इस दौरान एएनएम भी आंगनबाड़ी सेविका और सहायिका के साथ रहेंगी।उक्त निर्देश डीएम राहुल कुमार ने बुधवार को समाहारणालय सभागार में राष्ट्रीय पोषण अभियान को लेकर आयोजित समीक्षा बैठक के दौरान दिया। जिलाधिकारी ने कहा कि जिले के केनगर, जलालगढ़ एवं अमौर में चल रहे संवर्धन कार्यक्रम की सफलता को देखते हुए इसे 5 और जिलों में लागू किया जा रहा है।समीक्षा बैठक के दौरान उप विकास आयुक्त,प्रशिक्षु आईएएस निशांत विवेक, सिविल सर्जन, जिला प्रोग्राम पदाधिकारी,आईसीडीएस, अनुमंडल पदाधिकारी सदर एवं अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।साथ ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के माध्यम से सभी अनुमंडल पदाधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी, सीडीपीओ एवं अन्य पदाधिकारी जुड़े हुए थे। घर-घर जाकर लोगों को जागरूक आशा कार्यकर्ता

जिलाधिकारी ने निर्देश देते हुए कहा कि सभी आशा कार्यकर्ता घर-घर जाकर लोगों को जागरूक करने का काम करेगी।वहीं उन्होंने आशा फेसिलिटेटर को आशा कार्यकर्ताओं के 20 प्रतिशत विजिट का सत्यापन करने का निर्देश दिया।जिलाधिकारी ने कह कि पोषण अभियान केंद्र सरकार की महत्वपूर्ण योजना है।जब तक सभी विभाग एक साथ मिलकर काम नहीं करेंगे तो इसमें सफलता नहीं मिल सकती है।जब आईसीडीएस व स्वास्थ्य विभाग एक साथ मिलकर काम करेंगे तो इसका बेहतर परिणाम सामने आएगा।

ज् 6 माह तक केवल मां का दूध आवश्यक्ता

जिलाधिकारी ने बताया कि आगामी एक से सात अगस्त तक जिले में विश्व स्तनपान सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है।उन्होंने बताया कि छह माह तक के बच्चों से लिए केवल मां का दूध ही आवश्यक है।छह माह के बाद ही बच्चों को उपरी आहार देना है। उन्होंने एक से सात अगस्त के बीच एक से चार वर्ष के बच्चों के मानिटेरिग करने का निर्देश दिया।उन्होंने सेविका-सहायिका घर-घर जाकर सर्वे करने का निर्देश दिया।साथ ही कहा कि 31 जुलाई तक अति कुपोषित बच्चों को एनआरसी में भर्ती कराने का निदेश दिया गया। साथ ही साथ आंगनबाड़ी केन्द्रों को एक बार पुन: सेनेटाइन कराने का निर्देश दिया। गोद भराई व अन्नप्रासन्न दिवस पर बांटे फोलिक एसिड और आयरन की गोली जिलाधिकारी ने कहा कि गोद भराई व अन्नप्रासन्न दिवस पर आंगनबाड़ी सेविका सहायिका के साथ-साथ एएनएम भी मौजूद रहेंगी।इस दौरान फोलिक एसिड और आयरन की गोली की बांटा जाएगा।उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि सात अगस्त को आयोजित होने गोदभराई कार्यक्रम से यह प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। अन्नप्रासन दिवस की समीक्षा के दौरान बायसी, बैसा, अमौर, रूपौली, डगरूआ एवं बीकोठी में अन्नप्रासन दिवस की प्रगति संतोषजनक नही पाई गई।जिलाधिकारी ने इसमें सुधार लाने का निर्देश दिया।वहीं बताया गया कि 80 हजार बच्चों का ओआरएस एवं जिक के टेबलेट दिया गया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.