आम लोगों पर महंगाई की मार, तिलहन, दलहन सहित गैस तक हुई महंगी

आम लोगों पर महंगाई की मार, तिलहन, दलहन सहित गैस तक हुई महंगी

कोरोना की दूसरी लहर की तेज रफ्तार के बीच खाद्य पदार्थों के दाम में भी तेजी आनी शुरू हो गई है।

JagranTue, 20 Apr 2021 08:04 PM (IST)

पूर्णिया। कोरोना की दूसरी लहर की तेज रफ्तार के बीच खाद्य पदार्थों के दाम में भी तेजी आनी शुरू हो गई है। पिछले पांच दिनों में तिलहन एवं दलहन सामानों की कीमत में 15 से 30 रूपए प्रति किलो/ लीटर तक की बढ़ोतरी हुई है। सरसों तेल एवं रिफाइन 30 रूपये प्रति लीटर तक महंगा हुआ है। यही हाल दाल का भी है। खुदरा बाजार में दाल की कीमत में भी 15 रूपये प्रति किलो तक की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। अचानक महंगाई से न सिर्फ रसोई का बजट गड़बड़ा गया है बल्कि आम लोगों पर महंगाई की मार भी पड़ रही है। कोरोना काल में घटती आमदनी के बीच इस महंगाई में लोगों के लिए परिवार चलाना मुश्किल हो रहा है।

रसोई चलाने के लिए पूर्व में हो रहे खर्च में 15 से 20 प्रतिशत तक की वृद्धि हुई है। रसोई गैस, खाद्या पदार्थ हो या गैस, सभी अपने उच्चत्तम बाजार मूल्य पर है। सबसे ज्यादा रसोई गैस के धरेलू सिलेंडर में पिछले छह महीने में दो सौ रूपए से अधिक की वृद्धि हुई है। इसी तरह पिछले दो महीने में सरसों तेल के दाम में 25 से 30 प्रतिशत तो रिफाइन की कीमत में भी लगभग 50 प्रतिशत तक का इजाफा हुआ है। अधिकांश हरी सब्जी 50 रूपये प्रतिकिलो से उपर बिक रही है। किराना व्यापारियों की मानें तो पिछले पांच दिनों में कोरोना के बढ़ते संकट के बीच बाजार में अस्थिरता आई है। आम लोग से लेकर खुदरा बाजार तक में खाद्य पदार्थों का स्टॉक होने लगा है। जिसके कारण भी कीमतों में उछाल आई है।

सरसों तेल 50-75 रूपए महंगा

---------------------

सरसों तेल सात महीने में 50-75 रूपये प्रति लीटर महंगा हुआ है। पिछले पांच दिनों में ही इसकी कीमत में प्रति लीटर 30 रूपये की तेजी आई है। अक्टूबर में जिस तेल की कीमत 115-125/लीटर थी, वहीं तेल फिलहाल खुदरा बाजार में 170-200/लीटर बिक रहा है। तेल में दाम में दिसंबर से तेजी आई है। 14-15 अप्रैल 21 तक तेल 150 रूपये प्रति लीटर बाजार में था। इन महीनों में रिफाइन की कीमत भी 50 रू प्रति लीटर से अधिक बढ़ी है। अक्टूबर 20 तक रिफाइन 108-130 प्रति लीटर था। दाल की कीमत में भी 15-20 रूपये प्रति किलो की तेजी आई है। तेल एवं रिफाइन अपने एमआरपी मूल्य से अधिक पर बाजार में बिक रहा है।

रसोई गैस की कीमत 200 तक बढ़ी

---------------

घरेलू रसोई गैस की कीमत में भी पिछले छह महीने में प्रति सिलेंडर 200 रूपये से अधिक की वृद्धि हुई है। जबकि ग्राहकों के खाते में आने वाली सब्सिडी राशि भी कम हो गई है। गैस की कीमत 31 अक्टूबर 20 को 693 रूपये थी, जबकि अप्रैल 21 में 908 रूपये है। गैस की कीमत में इजाफा अगस्त 20 से लगतार हो रहा है। अगस्त 20 से गैस की कीमत 668, 693, 791, 818 एवं 908 पर रहा है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.