आज से दो एजेंसियों के जिम्मे 36 वार्डों की सफाई, निगम के हिस्से 10 वार्ड

शहर की सफाई व्यवस्था पटरी पर लाने के लिए नगर निगम की कवायद को अब मुकाम मिलने लगा है। निगम ने निविदा के जरिये कुल 46 में से 36 वार्डों की साफ-सफाई का जिम्मा आउटसोर्सिंग एजेंसी को सौंप दिया है।

JagranTue, 30 Nov 2021 06:11 PM (IST)
आज से दो एजेंसियों के जिम्मे 36 वार्डों की सफाई, निगम के हिस्से 10 वार्ड

जागरण संवाददाता, पूर्णिया। शहर की सफाई व्यवस्था पटरी पर लाने के लिए नगर निगम की कवायद को अब मुकाम मिलने लगा है। निगम ने निविदा के जरिये कुल 46 में से 36 वार्डों की साफ-सफाई का जिम्मा आउटसोर्सिंग एजेंसी को सौंप दिया है। यह कार्य निविदा की शर्तों को पूरा करने वाली दो एजेसियों को सौंपी गई है। एकरारनामे के अनुसार एक दिसंबर से यह व्यवस्था लागू हो जाएगी।

नगर आयुक्त जीउत सिंह ने मंगलवार को इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सन 2017 से ही यह पूरी प्रक्रिया लंबित थी। स्वतंत्र निविदा निकालने की बजाय कार्यरत एजेंसी को ही कार्य सौंप दिया जाता था। पूर्व में जो कार्य आवंटित किया गया था, उसमें कार्यादेश स्पष्ट नहीं था। इस स्थिति में गत दिनों इसकी निविदा निकाली गई और निविदा की शर्तों पर खरे उतरे पंच फाउंडेशन व शिवम जन स्वास्थ्य संगठन को यह कार्य सौंपा गया।

शिवम जन स्वास्थ्य संगठन को कुल 24 वार्ड तो पंच फाउंडेशन को कुल 12 वार्डों की साफ-सफाई की जिम्मेवारी सशर्त सौंपी गई। शेष दस वार्डों की साफ-सफाई की जिम्मेवारी नगर निगम के हिस्से रहेगी। एजेंसी को इस कार्य के लिए प्रति वार्ड डेढ़ लाख रुपये प्रति माह की दर से भुगतान किया जाएगा। इसकी मानिटरिग नगर प्रबंधक, मुख्य सफाई निरीक्षक व सफाई निरीक्षक द्वारा की जाएगी। कार्य में त्रुटि या फिर जन शिकायत मिलने पर भुगतान में समानुपातिक कटौती की जाएगी। हर घर से होना है सूखे व गीले कचरे का उठाव

आवंटित वार्ड के प्रत्येक घर से गीला, सूखा एवं घरेलू हजार्ड कचरा का अलग-अलग उठाव करना है और इसके लिए पृथक कंटेनर वाले वाहनों का प्रयोग करना है। गीला कचरा सिटी स्थित प्रोसेसिग प्लांट व सूखा कचरा निगम द्वारा चिन्हित दूसरे स्थल पर डंप करना है। राष्ट्रीय पर्व के साथ-साथ छठ, दशहरा व दीपावली के मौके पर खास स्थलों की साफ-सफाई की जिम्मेवारी भी एजेंसी पर होगी। विशिष्ट अतिथियों के आगमन पर रात्रि सहित अवकाश के दिन भी साफ-सफाई का कार्य होना है। प्रत्येक दो सौ घर पर कम से कम एक सफाई कर्मी को रखना अनिवार्य होगा। इसी तरह इसमें वाहनों के उपयोग के लिए भी परिवारों की संख्या निर्धारित है।

बाजारों में रात में भी होगी सफाई, वाहनों पर लगे रहेंगे माइक

व्यावसायिक इलाकों में रात्रि में भी सफाई की व्यवस्था रहेगी। कचरा उठाव वाले वाहनों पर छोटा माइक लगा रहेगा और इससे कूड़ा उठाने का संदेश बजता रहेगा। इससे लोग भी साफ-सफाई के प्रति सजग रहेंगे। इन एजेंसियों को अपना कार्यालय नगर निगम परिसर में भी रखना होगा। इससे आम आदमी अपनी शिकायत वहां करेंगे और फिर इसके समाधान को लेकर पहल की जाएगी। सर्विस चार्टर का करना होगा पालन, वरना लगेगा जुर्माना

एकरारनामे के अनुसार कार्यकारी एजेंसी को कार्य के दौरान सर्विस चार्टर का पालन करना होगा। समय सीमा के अंतर्गत संबंधित कार्य का निष्पादन नहीं होने पर एजेंसी को एक हजार जुर्माना देना होगा। इसमें हर शिकायत के निष्पादन के लिए समय निर्धारण कर दिया गया है। घर से कूड़ा का उठाव नहीं होने, सड़क पर पड़े कूड़ा का उठाव नहीं होने, सेकेंडरी कोलेक्शन प्वाइंट से कूड़े का उठाव नहीं होने, व्यवसायिक क्षेत्र में झाड़ू नहीं पड़ने व नाला जाम रहने की शिकायत का निष्पादन 24 घंटें के अंदर होना है। इसी तरह मृत जानवर का निष्पादन के लिए 36 घंटे व अन्य सड़कों पर झाड़ू आदि नहीं पड़ने की शिकायत का 48 घंटे में निष्पादन होना है। कार्य संतोषजनक नहीं रहा तो एक साल बाद ही रद हो जाएगा करार

एकरारनामे की शर्त के अनुसार फिलहाल यह कार्य एक दिसंबर 2021 से 30 नवंबर 2022 तक के लिए आवंटित किया गया है। इस दौरान कार्य संतोषजनक रहने पर इस एकरारनामे को फिर एक साल के लिए बढ़ाया जा सकता है। अगर कार्य असंतोषजनक रहा तो एक साल बाद ही करार रद कर दिया जाएगा।

-----------------

कौन वार्ड किनके जिम्मे

शिवम जन स्वास्थ्य संगठन--- 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 11, 12, 13, 14, 15, 16, 17, 18, 19, 20, 21, 22, 23, 24, 25, 26, 27 पंच फाउंडेशन--- 28, 29, 30, 31, 34, 36, 37, 38, 39, 40, 41, 42 नगर निगम-- 8, 9, 10, 32, 33, 35, 43, 44, 45, 46

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.