आपात कालीन स्थिति के लिए भी रहना होगा तैयार

पूर्णिया। पहली लहर के सापेक्ष ही विभाग ने दूसरी लहर की तैयारी की थी। संक्रमण की तेज रफ्तार ने तैयारी को कम कर दिया। जिले में 148 लोगों की मौत हो गई। सरकारी से लेकर निजी अस्पताल संक्रमण के दौरान भरे हुए थे।

JagranMon, 02 Aug 2021 12:05 AM (IST)
आपात कालीन स्थिति के लिए भी रहना होगा तैयार

पूर्णिया। पहली लहर के सापेक्ष ही विभाग ने दूसरी लहर की तैयारी की थी। संक्रमण की तेज रफ्तार ने तैयारी को कम कर दिया। जिले में 148 लोगों की मौत हो गई। सरकारी से लेकर निजी अस्पताल संक्रमण के दौरान भरे हुए थे। सांस का संकट सबसे बड़ा संकट बन कर उभरा। उसके लिए प्लांट लगाये जा रहे हैं। इस बार तीसरी लहर के लिए मरीजों का आकलन और संक्रमण की रफ्तार बढ़ने पर आपातकालीन स्थिति के लिए पहले से तैयारी रखनी होगी। उसको लिए प्रशिक्षित मानव बल और संसाधन दोनों स्तर पर कमर कसने की आवश्यकता है। 19 मार्च को दूसरी लहर में मिला था पहला मामला 19 मार्च को जिले में द्वितीय लहर में पहला मामला दर्ज किया गया। अप्रैल पहुंचे -पहुंचते जिला में कोरोना संक्रमण ने रफ्तार पकड़ ली। रोजाना पांच सौ से भी अधिक मामले मिल रहे थे। एक समय सक्रिय मरीजों की संख्या चार हजार से अधिक थी। उसके बाद प्रशासन ने सख्त पावंदी लगाई। स्वास्थ्य विभाग के नियमित निगरानी और प्रशासन की सख्ती से कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर ब्रेक लगाने में सफलता मिली। 477 केंटनेमेंट जोन बनाया गया था। डीसीएचसी में 496 लोगों का हुआ उपचार जिले में निजी और सरकारी कई डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर संचालित किया जा रहा है। इसमें 496 लोगों की भर्ती की जिसमें 98 लोगों को रेफर करना पड़ा। इसमें 303 लोगों को डिस्चार्ज कर दिया गया। यहां पर 93 लोगों की मौत हो गई। वर्तमान में 1 लोग इन अस्पतालों में भर्ती है।

कंट्रोल रूप कम काउंसिलिंग सेंटर की भूमिका अहम कोरोना संक्रमितों के लिए जिले में संचालित किया जा रहा है जिला कंट्रोल रूप और काउंसिलिग सेंटर की भूमिका काफी अहम रही। 10 लाइन पर तीन चिकित्सक और 15 आपरेटर 24 घंटा जानकारी और सुविधा पहुंचाने के लिए तैनात किए गए थे। इसके माध्यम होम आइसोलेशन मरीजों चिकित्सकीय सलाह उपलब्ध हुआ। विभागीय आंकड़े के मुताबिक 101834 मरीजों को नियंत्रण कक्ष से कॉल किया गया। 6178 काल रिसीव कर चिकित्सकीय सलाह दी गई। वीडियो काल की संख्या 4905 है। सघन सर्विलांस व टेस्ट सुविधा का हुआ विस्तार द्वितीय लहर में जिले में कोरोना जांच का काफी विस्तार किया गया है। निजी और सरकारी दोनों स्तरों पर एंटीजन और आरटी पीसीआर जांच की गई। 1129466 कोरोना टेस्ट किया गया। टेस्ट के दौरान 15 हजार 536 लोग संक्रमित मिले। इसमें 1238 मामला अन्य जिलों का था। संक्रमण दर 0.09 फीसद है। रिकवरी दर अब 99.88 फीसद है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.