पूर्णिया के अक्षय ने खुद का ब्रांड और इंटरनेशनल ई-कॉमर्स कंपनी बनाई

पूर्णिया के अक्षय ने खुद का ब्रांड और इंटरनेशनल ई-कॉमर्स कंपनी बनाई

पूर्णिया [शैलेश] कोरोनाकाल में जहां लोगों की जिदगी बदल गई है तो कुछ होनहार युवाओं न

Publish Date:Fri, 04 Sep 2020 06:59 PM (IST) Author: Jagran

पूर्णिया [शैलेश]

कोरोनाकाल में जहां लोगों की जिदगी बदल गई है तो कुछ होनहार युवाओं ने अपनी शिक्षा-दीक्षा से खुद की भविष्य बदल ली। पूर्णिया विवेकानंद कॉलोनी निवासी अक्षय कुमार ने दिल्ली से इंटरनेशनल बिजनेस का कोर्स कर विदेश में नौकरी करने की चाहत को त्याग कर लॉकडाउन में खुद की इंटरनेशनल ई-कॉमर्स कंपनी बना ली। अब विदेश जाकर जॉब की जगह वे खुद की कंपनी लांच कर पूर्णिया का नाम रौशन करेंगे।

स्टार्टअप के तहत ब्लैक लवर्स नाम से खुद के प्रोडक्ट ब्रांड के साथ इंटरनेशनल ई-कॉमर्स कंपनी बनाकर खुद के काम के साथ कई हाथों को रोजगार उपलब्ध कराएंगे। 22 सितंबर को वे कंपनी को भारत में और दो माह बाद इटली, ऑस्ट्रेलिया और दुबई में लांच करने की तैयारी में है।

उत्साह से लबरेज कंपनी के सीईओ अक्षय बताते हैं कि सर्वे के आधार पर उन्होंने इसे अन्य ई-कॉमर्स कंपनियों से कुछ अलग बनाया है। खुद के ब्रांड के साथ खुद की ई-कॉमर्स कंपनी रहेगी। बर्थ-डे, शादी या किसी भी कार्यक्रम के लिए ऑर्डर पर पसंदीदा डिजाइन ग्राहक को उपलब्ध कराई जाएगी। उस डिजाइन को ई-कॉमर्स वेबसाइट पर उसी व्यक्ति के नाम के डिजाइन से ही बेचा जाएगा। इसके साथ अपने ब्रांड के अन्य ई-कॉमर्स कंपनी से जोड़कर व्यापार को बढ़ाएंगे। कंपनी के काम को सफल बनाने में पांच सदस्यीय टीम के सहयोग के साथ काम कर रहे हैं।

काले रंग के रहेंगे सभी सामान

ब्लैक लवर्स नाम के ब्रांड और ई-कॉमर्स कंपनी पर सिर्फ काले रंग का प्रीमियम क्वालिटी का प्रोडक्ट लोगों को उपलब्ध कराया जाएगा। इसमें महिला और पुरुष के पहनावा के कपड़े, जूता एवं घर के साज-सज्जा वाले सामान सहित कुल छह सेगमेंट के सामान उपलब्ध रहेंगे। फिलहाल 300 प्रोडक्ट के साथ ब्रांड के साथ कंपनी को लांच कर रहे हैं।

वे बताते हैं कि सर्वे के आधार पर यह देखा गया कि 65-70 प्रतिशत युवा काले रंग के कपड़े या अन्य सामान पसंद करते हैं। युवाओं पर आधारित सर्वे को ध्यान में रखते हुए ब्लैक लवर्स ब्रांड के साथ ई-कॉमर्स कंपनी लेकर आ रहे हैं।

पूर्णिया से शिक्षा ग्रहण कर बढ़ा आगे

भारत के साथ विदेश में अपना परचम लहराने को तैयार अक्षय के पिता शशि कुमार झारखंड सरकार में सरकारी नौकरी में और मां निभा भारद्वाज पूर्णिया में डॉक्टर हैं। बचपन से उच्च शिक्षा तक की पढ़ाई उन्होंने पूर्णिया में रहकर की और फिर बेहतर शिक्षा के लिए बाहर निकले और आज अपनी मेहनत और लगनशीलता से भारत से लेकर विदेश में अपनी धाक जमाने की तैयारी में जुटा हुआ है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.