बरौनी रिफाइनरी में हादसे के बाद पटरी पर लौटा काम, फर्नेस में विस्‍फोट से जख्‍मी कर्मचारी अस्‍पताल से घर लौटे

Barauni Refinery News यह रिफाइनरी इंडियन आयल कारपोरेशन के स्‍वामित्‍व में है। वर्ष 1965 में सोवियत रूस के सहयोग से इसे स्‍थापित और चालू किया गया था। तब इसकी लागत केवल 50 करोड़ रुपए आई थी। इस गुजरे वक्‍त में रिफाइनरी पहले से कई गुना समृद्ध और आधुनिक हुई है।

Shubh Narayan PathakSat, 18 Sep 2021 08:28 AM (IST)
बेगूसराय जिले के बरौनी में है रिफाइनरी। फाइल फोटो

बेगूसराय, जागरण संवाददाता। Barauni Refinery News: बिहार के बेगूसराय जिलाअंतर्गत बरौनी रिफाइनरी में हुए हादसे का असर अब खत्‍म हो गया है। गुरुवार की सुबह बरौनी रिफाइनरी के एवीयू वन में हुए फर्नेश विस्फोट में घायल 19 लोगों में से 17 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से घर भेज दिया गया है। गुरुवार को ही 13 घायल को जबकि शुक्रवार को 4 घायल कर्मचारियों व ठेका मजदूरों को घर भेजा गया है। दो बचे घायल लोगों को भी आज अस्‍पताल से छुट्टी मिल जाने की पूरी उम्‍मीद है। हादसे के दूसरे ही दिन विश्वकर्मा पूजा की हलचल के बीच मजदूरों और पदाधिकारियों ने पूजा में उल्लासपूर्व भागीदारी की। 

प्रभावित यूनिट को छोड़कर बाकी हिस्‍सों में सुचारू है काम

बरौनी रिफाइनरी का परिचालन गुरुवार को सुचारू रूप से जारी रहा वहीं प्रभावित यूनिट एवीयू-1 को भी जल्द से जल्द वापस पटरी पर लाने के प्रयास किया जा रहा है। योजनाबद्ध मेंटेनेंस शट डाउन पूरा होने के बाद अन्य यूनिटों को स्टार्ट-अप योजना के तहत चालू किया जा रहा है। इलाजरत एक ठेका श्रमिक और एक कर्मचारी को भी शनिवार तक अस्पताल से छुट्टी मिलने की उम्मीद है।

कंपनी ने कर्मचारियों को दिलाया है सुरक्षा का भरोसा

बरौनी रिफाइनरी की कारपोरेट संचार प्रबंधक अंकिता श्रीवास्तव ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि इंडियन आयल प्रबंधन अपने कर्मचारियों, ठेका मजदूरों और आसपास के  निवासियों की सुरक्षा की अपनी सर्वोच्च प्राथमिकता के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है। आपको बता दें कि गुरुवार को हुए हादसे के बाद कुछ देर के लिए प्‍लांट में श्रमिकों की मौत की अफवाह फैल गई थी। इसके बाद कुछ मजदूरों ने इकट्ठा होकर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया था।

1965 से कार्यरत है इंडियन आयल की रिफाइनरी

यह रिफाइनरी इंडियन आयल कारपोरेशन के स्‍वामित्‍व में है। वर्ष 1965 में सोवियत रूस के सहयोग से इसे स्‍थापित और चालू किया गया था। तब इसकी लागत केवल 50 करोड़ रुपए आई थी। इस गुजरे वक्‍त में रिफाइनरी पहले से कई गुना समृद्ध और आधुनिक हुई है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.