महिला की तबीयत बिगड़ी तो कराया अल्ट्रासाउंड, रिपोर्ट देखकर उड़ गए होश, जानिए

सुपौल [जेएनएन]। प्रसव के लिए प्राइवेट क्लीनिक गई महिला का आॅपरेशन के दौरान किडनी निकाल लेने का सनसनी खेज मामaला सामने आया है। जिसके बाद महिला ने डीएम और एसपी से न्याय की गुहार लगा रही है।

वहीं आरोपी चिकित्सक पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। 2017 में प्रसव के दौरान किडनी निकाल लेने की जानकारी महिला को इस साल हुई जब उसके पेट में दर्द होने लगा तो वह चिकित्सक के पास गई जहां अल्ट्रासाउंड के बाद चिकित्सक ने जब बताया कि उसे एक ही किडनी है तो महिला के पैर के नीचे से जमीन खिसक गई।

 

सुपौल सदर थाना के बैरो निवासी मनोज कुमार चौधरी की पत्नी आशा देवी को चकला निर्मली स्थित मैरी गोल्ड रौनक राज अस्पताल में ऑपरेशन से 20 जुलाई 2017 को एक बच्ची हुई थी। प्रसव के कुछ दिन बाद से आशा की तबीयत खराब रहने लगी।

चार नवंबर को अल्ट्रासाउंड कराने पर पता चला कि दायीं किडनी गायब है। इसके बाद पटना के आईजीआईएमएस सहित कई अन्य संस्थानों में अल्ट्रासाउंड कराया गया।

सभी जगह पत्नी की दायीं किडनी नहीं होने की रिपोर्ट दी गयी। जिसके बाद से परिजनों की चिंता बढ गयी है वहीं पीड़िता अपने पति के साथ जिला प्रशासन से न्याय की गुहार लगा रही है। 

कहा-एसपी ने 

पुलिस इस मामले की तह तक जाकर जांच करेगी और महिला को जल्द ही न्याय मिलेगा। 

-मृत्युंजय चौधरी, एसपी, सुपौल

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.