राजधानी के घरों से निकला पानी गांवों में आएगा काम, नीतीश बोले-ग्रेटर पटना वाला काम भूलिएगा मत

मुख्यमंत्री ने कहा कि एक योजना यह भी है पटना से जो भी उपयोग में आया पानी घरों से निकलेगा उसका ट्रीटमेंट कर उसे देहाती क्षेत्र में सिंचाई के उपयोग के लिए पहुंचाया जाएगा। इस काम को तीव्रता से कीजिए।

Akshay PandeySat, 04 Dec 2021 09:47 PM (IST)
लाभुक को सांकेतिक रूप से घर की चाबी सौंपते नीतीश कुमार। साथ में उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद।

राज्य ब्यूरो, पटना : पटना स्मार्ट सिटी और नगर विकास विभाग की योजनाओं के उद्घाटन व शिलान्यास समारोह में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अधिकारियों को ग्रेटर पटना से जुड़े काम को याद दिलाया। उन्होंने अधिकारियों को कहा कि इसे भूलिएगा मत। वर्ष 2013-14 में ग्रेटर पटना से जुड़ी योजनाएं तैयार हुईं थीं। इस पर तेजी से काम होना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि एक योजना यह भी है पटना से जो भी उपयोग में आया पानी घरों से निकलेगा उसका ट्रीटमेंट कर उसे देहाती क्षेत्र में सिंचाई के उपयोग के लिए पहुंचाया जाएगा। इस काम को तीव्रता से कीजिए।मुख्यमंत्री ने पटना स्मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत 15 योजनाओं का शिलान्यास और 12 योजनाओं का उद्घाटन किया। पटना के मंदिरी नाला के विकास कार्य योजना का भी शिलान्यास हुआ। उन्होंने शहरी क्षेत्र के विकास की चर्चा करते हुए कहा कि 2005 में मात्र 112 शहरी निकाय थे जो 2021 में बढ़कर 258 हो गए हैैं। वर्ष 2005 में शहरी निकायों की आबादी लगभग 81.49 लाख, जो 2021 में बढ़कर 1.58 करोड़, 71 हजार हो गयी है। कई नगर निगम, नगर परिषद व नगर पंचायतों का गठन किया गया है। 

पहले कंकड़बाग व दानापुर से आने में कितना अधिक समय लगता था

मुख्यमंत्री ने राजधानी में बड़ी संख्या में बनाए गए फ्लाईओवर की चर्चा के क्रम में कहा कि पहले क्या स्थिति थी पटना की? कंकड़बाग से इस इलाके में आने के लिए पुराना चिरैयाटाड़ पुल था। एक बार आने के बाद लौटकर दोबारा आने में परेशानी थी। अब क्या स्थिति है? इसी तरह इस इलाके से दानापुर जाने में कितनी परेशानी थी। अब जब फ्लाईओवर बन गया तो कितनी सहूलियत हो गयी है। देर रात तक लोग आते-जाते रहते हैैं। 

विगत पंद्रह वर्षों में आधारभूत संरचना के क्षेत्र में बड़ी मंजिल हासिल

उप मुख्यमंत्री सह नगर विकास मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट तथा नगर विकास विभाग की योजनाओं के उद्घाटन व शिलान्यास समारोह में कहा कि विगत 15 वर्षों में आधारभूत संरचना के विकास में बड़ी उपलब्धि हासिल हुई है। विकासशील बिहार से विकसित बिहार का स्वरूप बनने लगा है। उप मुख्यमंत्री ने कहा शहरी बेघरों को घर दिए जाने की योजना का अभियान चल रहा है। आज 12,515 लाभार्थियों को घरों की चाबी दी जा रही है। 

इन योजनाओं का काम आगे बढ़ा

479 स्वयं सहायता समूह में से सांकेतिक तौर मुख्यमंत्री ने तीन स्वयं सहायता समूहों को पांच लाख रुपए का चेक दिया। इस योजना के तहत 5.81 करोड़, 50 हजार रुपए ऋण के रूप में वितरित की गयी।

-मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना के अंतर्गत 12515 लाभुकों को में से चार लाभुकों को सांकेतिक रूप से घर की चाबी सौैंपी। 

ये थे मौजूद

परिवहन मंत्री शीला कुमारी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव दीपक कुमार, मुख्य सचिव त्रिपुरारी शरण, विकास आयुक्त आमिर सुबहानी, नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव आनंद किशोर, मुख्यमंत्री के सचिव अनुपम कुमार, नगर विकास एवं आवास विभाग के विशेष सचिव सतीश कुमार सिंह , पटना के नगर आयुक्त अनिमेष पराशर व मुख्यमंत्री के विशेष कार्य अधिकारी गोपाल सिंह। पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े थे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.