Bihar Politics: कोई डर है न लोभ, बिहार विधान मंडल के मानसून सत्र से पहले स्‍पीकर ने कही ये बात

सभी को संसदीय मर्यादा का पालन करना चाहिए तथा कार्रवाई भी एकपक्षीय नहीं होनी चाहिए। सभी नेताओं ने 23 मार्च को सदन में हुई घटना के लिए खेद प्रकट किया। विधायकों के अपमान को भी गंभीरता से लेने का आग्रह किया।

Shubh Narayan PathakSat, 24 Jul 2021 06:16 AM (IST)
26 जुलाई से होगा बिहार विधानसभा का मानसून सत्र। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

पटना, राज्य ब्यूरो। बिहार विधान मंडल का मानसून सत्र 26 जुलाई से शुरू होने वाला है। इससे पहले विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने सभी दलों के नेताओं को आश्वस्त किया कि आसन सबका संरक्षक है। भय, लोभ और विकार से मुक्त होकर सबके लिए है। सरकार की सजगता और सदस्यों की संवेदनशीलता से सत्र सुचारू रूप से चले, यही मकसद होना चाहिए। इसी से लोकतंत्र की जड़ें मजबूत होंगी। स्पीकर ने कहा कि सत्र भले ही छोटा है। किंतु इसका महत्व बड़ा है। सदन में लोकहित के विषयों पर अधिकाधिक विमर्श होगा तो जनहित के फैसले भी लिए जा सकेंगे। विधायिका का एक सकारात्मक संदेश भी समाज में जाएगा।

अपने आचरण से खींचें मर्यादा की लकीर

सोमवार से शुरू हो रहे मानसून सत्र को हंगामा से बचाने, सदन को व्यवस्थित तरीके से चलाने और जनहित के मुद्दों पर सार्थक विमर्श के लिए शुक्रवार को बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में विधानसभा अध्यक्ष (स्पीकर) ने सदस्यों से अनुशासित होकर सदन और आसन की मर्यादा को अक्षुण्ण रखते हुए जनता की आवाज बनने का आग्रह किया। कहा कि हम अपने आचरण से मर्यादा की सबसे बड़ी लकीर खींच सकते हैं।

23 मार्च को हुई घटना के लिए प्रकट किया खेद

संसदीय कार्य मंत्री विजय कुमार चौधरी ने आश्वस्त किया कि सरकार सदस्यों की भावना के अनुरूप जनहित के सवालों का जवाब सदन में देगी। उर्जा मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव ने कहा कि सभी को संसदीय मर्यादा का पालन करना चाहिए तथा कार्रवाई भी एकपक्षीय नहीं होनी चाहिए। बैठक में उपस्थित सभी नेताओं ने 23 मार्च को सदन में हुई घटना के लिए खेद प्रकट किया। विधायकों के अपमान को भी गंभीरता से लेने का आग्रह किया तथा सत्र को सुचारू रूप से चलाने में सकारात्मक सहयोग का भरोसा दिया।

बैठक में ये नेता रहे मौजूद

बैठक में उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी, ग्रामीण विकास विकास मंत्री श्रवण कुमार, विरोधी दल के मुख्य सचेतक ललित कुमार यादव, कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजीत शर्मा, भाकपा माले के महबूब आलम, एआइएमआइएम के अख्तरूल ईमान, भाकपा के रामरतन सिंह, माकपा के अजय कुमार, सत्तारूढ़ दल के उपमुख्य सचेतक जनक सिंह और वीआइपी की स्वर्णा सिंह समेत सभा के प्रभारी सचिव भूदेव राय मौजूद थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.