Bihar News: महिला ने दारोगा से पूछा- मेरा केस क्यों कमजोर किया? जवाब मिला- घर बुलाए थे, तुम आई नहीं

पटना, जेएनएन। राजधानी में नौ-नौ गोली मारकर हत्या कर दी जा रही है आखिर पुलिस के जवान कर क्या रहे हैं? ताजा मामले में पुलिस का 'इकबाल' 'सुनने' को मिल रहा है। दारोगा पर ही गंदी बात करने का आरोप लगा है। बुद्धा कॉलोनी थाने के दारोगा एसपी चौरसिया के खिलाफ एक महिला ने केस के बहाने घर पर बुलाने का आरोप लगाया है।

घटना के बाद पीड़िता ने एसएसपी गरिमा मलिक से लिखित शिकायत के साथ ऑडियो क्लिप भी पेश की है। जिसके बाद एएसपी (विधि-व्यवस्था) स्वर्ण प्रभात को जांच का जिम्मा सौंपा गया है। इधर, थानाध्यक्ष रवि शंकर सिंह ने दावा किया कि ऑडियो क्लिप में जिस पुरुष की आवाज सुनाई दे रही है, वह दारोगा एसपी चौरसिया की नहीं है। 

कॉल करने पर की अश्लील बातें

महिला ने शिकायत में कहा कि जांच करने वाले दारोगा ने आरोपितों के पक्ष में रिपोर्ट लिख दी है। इसके बाद उसने दारोगा को कॉल किया और पूछा कि आपने मेरा केस क्यों कमजोर कर दिया? दारोगा ने कहा- 'तुमको डेरा पर बुलाए थे, तुम आई ही नहीं।' महिला ने फिर पूछा - 'मैं डेरा पर क्यों आती?' दारोगा बोला - 'बुलाए थे न हम।'

ये था पूरा मामला

विदित हो कि पिछले महीने गांधी मैदान इलाके में रहने वाली महिला 11 वर्षीय बेटे के साथ बुद्धा कॉलोनी थाना पहुंची थी। उसका बेटा एक निजी स्कूल में पांचवीं कक्षा का छात्र है। छात्र ने पुलिस को बताया था कि स्कूल की शिक्षिका उसके साथ अश्लील हरकत करती थी। जब उसने मां से शिकायत करने की बात कही तो शिक्षिका ने उसकी बर्बरता से पिटाई कर दी। बेटे के शरीर पर पिटाई के निशान देखकर महिला उसे इलाज कराने के लिए पीएमसीएच लेकर गई थी। इसके बाद उसने बुद्धा कॉलोनी थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई। इस मामले का जांचकर्ता दारोगा एसपी चौरसिया को बनाया गया था। हालांकि स्कूल प्रशासन ने इस मामले को सिरे से खारिज करते हुए इसे फीस का विवाद बताया था।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.