बिहार आकर जैविक खेती के गुर सीखेंगे उत्‍तर प्रदेश के किसान, संघ प्रमुख मोहन भागवत भी कर चुके हैं सराहना

उत्‍तर प्रदेश के किसानों को दी जाएगी जैविक खेती की ट्रेनिंग। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

Organic Farming in Bihar यूपी के किसानों को जैविक खेती का पाठ पढ़ाएंगे बिहार के कृषि विज्ञानी प्रथम चरण में 150 किसानों को दिया जाएगा प्रशिक्षण बिहार में गंगा किनारे जिलों में तेजी से बढ़ रहा जैविक खेती का दायरा

Shubh Narayan PathakMon, 22 Feb 2021 06:56 AM (IST)

पटना, नीरज कुमार। बिहार (Bihar) में गंगा तट वाले एक दर्जन जिलों में जैविक खेती के सफल प्रयोग के बाद राज्य के कृषि विज्ञानी उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के किसानों को जैविक खेती (Organic Farming) का पाठ पढ़ाएंगे। प्रथम चरण में यूपी के 150 किसान तीन बैच में आएंगे। उन्हें एक सप्ताह प्रशिक्षण दिया जाएगा। सफल किसानों को प्रमाण पत्र प्रदान किया जाएगा। प्रशिक्षण लेने यूपी से आने वालों में गोरखपुर (Gorakhpur), बाराबंकी (Barabanki), संतकबीरनगर (Sant Kabirnagar), बस्ती (Basti), महराजगंज (Maharajganj) आदि जिलों के किसान शामिल हैं। बिहार में जैविक खेती करने वाले किसानों की तारीफ हाल ही में बिहार आए राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत (RSS Chief Mohan Bhagwat) भी कर चुके हैं।

पटना के मीठापुर में किसानों के रहने और प्रशिक्षण की व्‍यवस्‍था

पटना में मीठापुर कृषि अनुसंधान संस्थान में यूपी के किसानों को आवासीय व्यवस्था के साथ प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रत्येक बैच में 50 किसानों को शामिल किया जाएगा। इसके बाद अन्य राज्यों के किसानों को भी बुलाया जाएगा। संस्थान के क्षेत्रीय निदेशक डॉ. एमडी ओझा ने कहा, जैविक खेती में बिहार काफी तेजी से  बढ़ रहा है। इससे खेती की लागत में कमी के साथ पर्यावरण संरक्षित हो रहा है। यहां पर 24 फरवरी से किसानों का प्रशिक्षण शुरू किया जाएगा। प्रशिक्षित किसानों को जैविक खेती के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। वहीं, दूसरे बैच का प्रशिक्षण तीन मार्च और तीसरे का नौ मार्च से प्रशिक्षण प्रारंभ होगा।

बिहार के इन 12 जिलों में काम कर रहा है राज्य जैविक मिशन

कृषि विभाग ने 12 जिलों में हो रही जैविक खेती के लिए राज्य जैविक मिशन का गठन किया है। इसके तहत जैविक कॉरिडोर बनाया गया है। कॉरिडोर में गंगा से सटे और सब्जी के प्रमुख उत्पादक जिलों को शामिल किया गया है, जिसमें पटना, बक्सर, भोजपुर, नालंदा, वैशाली, सारण, समस्तीपुर, बेगूसराय, लखीसराय, खगडिय़ा, भागलपुर व मुंगेर हैं।

पटना में सचि‍वालय के पास जैविक सब्जी का विशेष काउंटर

राजधानीवासियों को जैविक सब्जी मुहैया कराने के लिए कृषि विभाग की ओर से विशेष काउंटर चल रहा है। काउंटर कृषि विभाग ने खोला है। जहां सप्ताह में दो दिन यानी सोमवार व शुक्रवार को राजधानी के सचिवालय परिसर में जैविक सब्जियों की बिक्री की जाती है। यहां राज्यभर के किसानों की उत्पादित जैविक सब्जियां आती हैं, जिसे राजधानीवासी खरीदकर ले जाते हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.