बाढ़, पंडारक, बेलछी में कम होने लगी संख्या, मिले 10 कोरोना संक्रमित

बाढ़, पंडारक, बेलछी में कम होने लगी संख्या, मिले 10 कोरोना संक्रमित

बाढ़ अनुमंडल अस्पताल में 270 लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया।

JagranSun, 16 May 2021 01:20 AM (IST)

बाढ़ : बाढ़ अनुमंडल अस्पताल में 270 लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया। वहीं 21 लोगों की एंटीजन किट से जाच हुई। इस दौरान एक व्यक्ति संक्रमित मिला। 101 लोगों की आरटीपीसीआर जाच हुई। बेलछी में 80 लोगों को वैक्सीन लगाई गई। वहीं एंटीजन जाच में 99 लोगों की जाच हुई। इसमें एक व्यक्ति संक्रमित मिला। वहीं 50 लोगों की आरटीपीसीआर जाच हुई। पंडारक पीएचसी में 180 लोगों को टीकाकरण किया गया। 44 लोगों की एंटीजन जाच हुई। इसमें छह कोरोना संक्रमित मरीज मिले। वहीं 80 लोगों की आरटीपीसीआर जाच की गई। राणाबीघा में स्थित बाढ़ पीएचसी में 55 लोगों की एंटीजन किट से जाच हुई। इसमें दो लोग कोरोना संक्रमित मरीज मिले। वहीं 70 लोगों की आरटीपीसीआर जाच की गई। 139 लोगों को टीका दिया गया।

263 लोगों को दी गई वैक्सीन

बाढ़ अनुमंडल अस्पताल, पंडारक पीएससी, बेलछी पीएससी में 18 वर्ष से ऊपर 44 वर्ष के बीच के 263 लोगों का टीकाकरण किया गया। इसमें बाढ़ अनुमंडल अस्पताल में 140 लोगों का टीकाकरण किया गया। वहीं बेलछी में 50 पंडारक में 73 टीकाकरण किया गया। टीकाकरण कार्यक्रम युवाओं का उत्साह देखने को मिला। सभी हॉस्पिटलों में काफी भीड़ देखी गई। जिनका भी ऑनलाइन आवेदन था। वहीं जिन युवाओं को ऑनलाइन आवेदन नहीं था उन्हें निराशा हाथ लगी। बीडीओ ने अनुमंडल अस्पताल का किया निरीक्षण

संवाद सहयोगी, बाढ़ : प्रखंड विकास पदाधिकारी अमरेंद्र कुमार सिन्हा ने शुक्रवार की रात अनुमंडल अस्पताल पहुंचकर भर्ती मरीजों की स्थिति, ऑक्सीजन व्यवस्था एवं अन्य सुविधाओं का हाल जाना। इस दौरान थानाध्यक्ष संजीत कुमार भी मौजूद रहे।

प्रखंड विकास पदाधिकारी अमरेंद्र कुमार सिन्हा ने कहा कि रात में 9:00 बजे के बाद किसी भी दवाई दुकान नहीं खुलने से मरीजों को हो रही परेशानी को देखते एक दुकान 24 घटे खुली रखने का निर्देश दिया। इसके लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा। बीडीओ ने बताया कि निरीक्षण के दौरान मरीजों ने व्यवस्था से संतुष्टि जताई। उन्होंने आश्वासन दिया कि किसी भी परिस्थिति में मरीजों को परेशानी नहीं होगी। टीकाकरण और जाच का दायरा और बढ़ाया जाएगा। इस दौरान अस्पताल के कर्मी डॉक्टर एवं नर्स मौजूद रहे। सब्जी विक्रेताओं को नहीं मिल रहे खरीदार

सरकार के द्वारा सुबह 11 बजे से दुकान बंद करने का समय को घटाकर 10 बजे से ही किए जाने का निर्देश जारी करने के बाद इसका असर सब्जी विक्रेताओं पर पड़ा है। इलाके के सब्जी विक्रेताओं का कहना है कि इतने कम समय में उनकी सब्जिया नहीं बिक पा रहीं हैं। इसके कारण उनका कारोबार प्रभावित हो रहा है।

अनुमंडल अस्पताल में आरटीपीसीआर जाच लैब की होगी सुविधा

बाढ़ अनुमंडल अस्पताल में कोविड-19 के दूसरे चरण के दौरान इलाके के लोगों की आरटी पीसीआर जाच कराने के बाद लंबे समय तक अब रिपोर्ट का इंतजार नहीं करना पड़ेगा। इसको लेकर विधायक ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बाढ़ अनुमंडल अस्पताल में लैब की सुविधा उपलब्ध कराने की मांग की है। शीघ्र अनुमंडल अस्पताल में व्यवस्था होने से इलाके के संक्रमित मरीजों को जाच में सुविधा होगी। साथ ही समय पर रिपोर्ट भी आ जाएगी। इलाज के दौरान अस्पताल में मरीज ने दम तोड़ा

बाढ़ अनुमंडल अस्पताल में शुक्रवार की रात एनटीपीसी थाना क्षेत्र के 65 वर्षीय वकील पासवान की इलाज के दौरान अनुमंडल अस्पताल में मौत हो गई। स्वजनों ने बताया कि सास लेने की शिकायत होने पर करीब चार घटे पहले मरीज को भर्ती कराया गया था। उनका लगातार ऑक्सीजन लेवल भी कम हो रहा था। इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। अस्पताल प्रबंधन ने बताया कि मरीज को विलंब से लाया गया।

रात में दवा दुकानें बंद होने से मरीज परेशान

बाढ़ अनुमंडल अस्पताल में अभी भी दर्जनों लोग आइसोलेशन वार्ड में जिंदगी और मौत से जंग लड़ रहे हैं। वहीं हर दिन आधा दर्जन से ज्यादा लोग सास लेने में तकलीफ होने की शिकायत पर अस्पताल पहुंच रहे हैं। अस्पताल प्रबंधन के पास समुचित दवा की व्यवस्था नहीं होने के चलते अस्पताल के चिकित्सक बाहरी दवा लिखने का काम कर रहे हैं, लेकिन 6:00 बजे संध्या के बाद से इलाके की सारी दवा दुकानें बंद हो जाती हैं। दवा के लिए मरीजों को भटकना पड़ रहा है। इसके कारण एक मरीज की जान भी चली गई। बीडीओ और थानाध्यक्ष ने अस्पताल निरीक्षण के दौरान चिकित्सकों एवं चिकित्साकíमयों से इस समस्या पर बातचीत की और यथाशीघ्र अस्पताल एवं स्टेशन एरिया के पास एक या दो दवा दुकानें पूरी रात खोलने की कवायद करने की बात कही।

आइसोलेशन में 14 मरीजों का चल रहा है इलाज

अस्पताल के पीछे स्टॉफ क्वार्टर में बनाए गए आइसोलेशन सेंटर में फिलवक्त 14 कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज चल रहा है। यहां चिकित्सकों के द्वारा हर वक्त मरीजों के स्वास्थ्य पर नजर रखी जा रही है। आठ मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत पड़ी और ऑक्सीजन उपलब्ध होने के चलते मरीजों की हालत में सुधार हो रहा है। अस्पताल में ऑक्सीजन लेवल जाच करने के बाद ही मरीजों को इलाज किया जा रहा है। ऑक्सीजन लेवल जरूरत से ज्यादा गिरने पर मरीजों को पटना भी भेजा जा रहा है।

वहीं नान कोविड-19 वार्ड के इमरजेंसी में 23 व्यक्तियों का इलाज किया गया। इसमें 23 लोगों को ऑक्सीजन पर रखा गया। स्टेशन चौक बाजार में हर दिन लग रही भीड़

स्टेशन चौक बाजार के समीप हर दिन जाम की समस्या गंभीर होती जा रही है। आवश्यक सामान खरीदने के लिए सरकार के द्वारा दी गए छूट के समय भीड़ बेकाबू हो जा रही है। इस समय बाजार में पुलिस की मुकम्मल व्यवस्था नहीं होने के कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कुछ लोग न तो मास्क पहन रहे हैं और न ही शारीरिक दूरी का पालन कर रहे हैं। इसके कारण कोविड-19 संक्रमण का खतरा बढ़ गया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.