तेज प्रताप के निशाने पर आईं कंगना रनौत, बोले- अगर आजादी नहीं मिलती तो अंग्रेजों के घर जूते साफ करने पड़ते

फिल्म एक्ट्रेस कंगना रनौत देश की आजादी को लेकर दिए गए अपने विवादित बयानों को लेकर चर्चे में हैं। लालू यादव की बेटी रोहिणी आर्चाया जीतन राम मांझी के बाद अब तेज प्रताप यादव ने इंटरनेट मीडिया पर कंगना को निशाने पर लिया है।

Rahul KumarSat, 13 Nov 2021 01:39 PM (IST)
फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत और तेज प्रताप यादव। फाइल फोटो

पटना, आनलाइन डेस्क। फिल्म एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) देश की आजादी को लेकर दिए अपने विवादस्पद बयानों को लेकर एक बार फिर से चर्चे में हैं। बिहार में राजनीतिक दल लगातार कंगना को निशाने पर ले रहे हैं। राष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे और पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव (Tej Prtap Yadav)  फिल्म अदाकार कंगना पर भड़क गए हैं। तेज प्रताप यादव ने इंटनेट मीडिया पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। कंगना रनौट ने एक टीवी शो में देश की आजादी पर टिप्पणी करते हुए यह कहा था कि 1947 में जो आजादी मिली थी वो भीख में मिली थी। फिल्म अभिनेत्री ने यह भी कहा था कि असली आजादी 2014 में मिली। कंगना के इस बयान पर तेज प्रताप ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। 

'तेज प्रताप के निशाने पर कंगना'

तेज प्रताप यादव ने इंटरनेट मीडिया पर बकायदा कंगना रनौत की तस्वीर पोस्ट कर उन्हें निशाने पर लिया है। 'सेकेंड लालू तेज प्रताप यादव' फेसुबक पेज पर उन्होंने लिखा है कि जब कुछ लोग जब अंग्रेजों से माफी मांग रहे थे तब हमारे देश के वीर जवान फांसी का को गले लगा रहे थे। तेज प्रताप ने लिखा है कि देश को आजादी 2014 में मिली यह कहकर स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान न करें। उन्होंने कंगना पर तंज कसा और लिखा कि, अगर आजादी के लिए कुर्बानियां नहीं दी गईं होती तो आज भी किसी अंग्रेज के घर उनके जूत चप्पल साफ कर रहे होते। 

Tej Pratap Yadav Koo

मांझी और रोहिणी भी कर चुके हैं विरोध

देश की आजादी को लेकर कंगना के विवादस्पद बयान को लेकर बिहार में लगातार विरोध हो रहा है। तेज प्रताप यादव से पहले उनकी बहन रोहिणी आचार्या और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी निशान साध चुके हैं। रोहिणी ने कंगना के बयान का विरोध करते हुए इंटनेट मीडिया पर लिखा था कि, शहीदों की जान जिसे भीख लगती है, फर्जी झांसी की रानू तू देशद्रोही लगती है। इसके पहले हिन्दुस्तानी आवामी मोर्चा के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने पद्म श्री सम्मान वापस लेने की मांग की थी।

वहीं भाजपा ने भी कंगना रनौत के बयान से अहसमति जताई है। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया ने कू पर पोस्ट कर कहा है कि कंगना रनौत के बयान से हम सहमत नहीं है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.