सुशांत सिंह राजपूत को लेकर इमोशनल हुए एक्‍टर शेखर सुमन, बोले- अब एक दिन चमत्‍कार की उम्‍मीद

शेखर सुमन एवं सुशांत सिंह राजपूत। फाइल तस्‍वीरें।

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के छह महीने होने जा रहे हैं लेकिन मामले की जांच अभी भी लटकी हुई है। इसपर शेखर सुमन ने एक भावुक ट्वीट किया है। उन्‍होंने लिखा है कि हम चमत्‍कार की आशा तो कर ही सकते हैं।

Publish Date:Thu, 03 Dec 2020 10:39 PM (IST) Author: Amit Alok

पटना, जेएनएन। Sushant Singh Rajput Death Case बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत के करीब छह महीने होने जा रहे हैं। लेकिन इसकी जांच में सीबीआइ (CBI) किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकी है। इससे सुशांत के फैन, स्‍वजन व निकट के अन्‍य लोग निराश हैं। हालांकि, उन्‍हें न्याय की उम्‍मीद (Justice for SSR) है। इस मामले में बॉलीवुड अभिनेता शेखर सुमन (Shekhar Suman) भी समय-समय पर अपनी प्रतिक्रियाएं देते रहे हैं। अभिनेता शेखर सुमन ने सुशांत मामले में फिर अपनी भावुक प्रतिक्रिया दी है। बीते दिन ट्वीट कर उन्‍होंने कहा कि वे प्रार्थना करते हैं कि इस मामले में एक दिन चमत्‍कार हो।

शेखर सुमन ने कही ये बात

शेखर सुमन ने अपने ट्वीट में कहा है कि बहुत सारे लोग यह पूछते रहते हैं कि सुशांत सिंह राजपूत के मामले में क्‍या होगा? काश हमारे पर इसका उत्‍तर होता। एक दिन किसी चमत्‍कार की आशा और इसके लिए प्रार्थना के सिवा हम कर भी क्‍या सकते हैं। शेखर सुमन पहले भी सुशांत सिंह राजपूत के मामले की जांच पर प्रतिक्रिया देते रहे हैं। हाल ही में उन्‍होंने यह भी कहा था कि सुशांत की मौत के छह महीने के बाद यह मामला मीडिया में नहीं रहा। किसी के द्वारा कहीं भी कोई चर्चा नहीं हो रही है।

शेखर सुमन उन लोगों में शामिल हैं, जिन्‍होंने सुशांत की मौत की जांच सीबीआइ से कराने की मांग सबसे पहले उठाई थी। वे पटना में सुशांत के परिवार से भी मिलने गए थे।

मौत की सीबीआइ कर रही जांच

विदित हो कि सुशांत सिंह राजपूत बीते 14 जून को मुंबई स्थित अपने फ्लैट में मृत पाए गए थे। मुंबई पुलिस ने इस मामले को आत्‍महत्‍या माना था, जिससे उनके पिता सहमत नहीं थे। सुशांत के पिता केके सिंह द्वारा इम मामले की एफआइआर पटना में दर्ज करा दी गई, जिसके बाद पटना पुलिस जांच के लिए मुंबई पहुंची। इसके बाद बिहार व महाराष्‍ट्र की सरकाराें में ठन गई। राजनीतिक विवादों के बीच अनके कानूनी दांव-पेच से होते फिलहाल इस मामले की जांच सीबीआइ कर रही है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.