top menutop menutop menu

Sushant Singh Rajput Death Investigation: मुंबई में बचने के लिए बिहार पुलिस को बदलने पड़े थे भेष

पटना, जेएनएन। Sushant Singh Rajput Death Investigation: बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में बिहार पुलिस ने अपनी जांच से संबंधित सारी जानकारी सीबीआइ को सौंप दी है, लेकिन इन्‍हें इकट्ठा करने के लिए उसे कम पापड़ नहीं बेलने पड़े। एक तरफ मुंबई पुलिस पीछे लगी थी तो दूसरी तरफ बीएमसी क्‍वारंटाइन करने के लिए पकड़ना चाहती थी। ऐसे में बिहार पुलिस ने बिहारी जुगाड़ तकनीक का सहारा लेकर अपना काम पूरा किया। यह टीम टीम वॉलीवुड सर्किल में भवष्यिवक्‍ता बनकर घुसी और अपना काम कर निकल आई। पूरी जांच के दौरान वह मुंबई पुलिस को भेष बदलकर छकाती रही। उसकी मुख्‍य आरोपित रिया चक्रवर्ती पर भी लगातार नजर बनी रही। हालांकि, इसी दौरान जांच के सिलसिले में मुंबई पहुंचे पटना के सिटी एसपी विनय तिवारी को वहां क्‍वारंटाइन कर दिया गया था। इसपर अब विनय तिवारी ने कहा है कि यह उन्‍हें नहीं, बल्कि सिस्‍टम को क्‍वारंटाइन कर देना था।

लगातार बनी रही रिया चक्रवर्ती पर नजर

बिहार पुलिस की टीम से मिली जानकारी के अनुसार उसे मामले की मुख्‍य आरोपित रिया चक्रवर्ती का पता था। रिया ने इस डर से अपना घर छोड़ दिया था कि पटना पुलिस उसे पूछताछ कर गिरफ्तार कर लेगी। इसके बाद वह बांद्रा पुलिस स्‍टेशन के पास एक फ्लैट में छिपी थी। पुलिस टीम में शामिल माे. कैसर यासीन ने बताया कि बिहार पुलिस मुंबई पहुंचने के 36 घंटे पहले से ही रिया पर नजर रखे हुए थी। ''हमारे लोग हमें पल-पल की खबर दे रहे थे।''

भविष्‍यवक्‍ता बनकर बॉलीवुड में ली एंट्री

पुलिस अधिकारी माे. यासीन ने बताया कि मुंबई पहुंचने के बाद सबसे पहले वे लोग बांद्रा पुलिस स्‍टेशन गए, लेकिन वहां उन्‍हें मुंबई पुलिस ने एफआइआर की कॉपी व मामले में दर्ज बयान देने से इनकार कर दिया। तब से लेकर अंत तक मुंबई पुलिस पूरी तरह असहयाग के मूड में रही। उसका रवैया देखकर बिहार पुलिस ने बिहारी जुगाड़ तकनीक का सहारा लिया। बिहार पुलिस की टीम ने भविष्‍यवक्‍ताओं का वेष धारण कर बॉलीवुड में एंट्री ली और वहां कई लोगों से मुलाकात कर अपने काम के बयान लिए।

मुंबई में आसान नहीं था बिहार पुलिस का काम

मो. यासीन ने बताया कि मुंबई में बिहार पुलिस का काम आसान नहीं था। मुंबई पुलिस लगातार पीछे पड़ी थी। मोबाइल नंबर ट्रेस किए जा रहे थे। ऐसे में उन्‍होंने दो बार खुला चैलेंज दिया कि मुंबई पुलिस उन्‍हें ट्रेस करे, लेकिन वह विफल रही। फिर, मामले की जांच के सिलसिले में मुंबई पहुंचे पटना के सिटी एसपी विनय तिवारी को कोरोना के बहाने क्‍वारंटाइन कर जांच रोकने की कोशिश की गई। लेकिन बिहार पुलिस ने गोपनीय तरीके से काम जारी रखा।

सिटी एसपी बोले: सिस्‍टम को कर दिया था क्‍वारंटाइन

इस मामले में चौतरफा दबाव पड़ने पर बीएमसी ने मुंबई में क्‍वारंटाइन किए गए पटना के सिटी एसपी विनय तिवारी को शुक्रवार को छोड़ दिया। पटना पहुंचने पर उन्‍होंने भी बताया कि उनकी टीम रिया चक्रवर्ती पर हर पल नजर बनाए हुए थी। अब यह मामला सीबीआइ के हवाले है। उन्‍होंने कहा कि मुंबई में उन्‍हें नहीं, सिस्टम को क्वारंटाइन किया गया था। उन्‍होंने कहा कि अगर बीएमसी उन्हें क्वारंटाइन नहीं करता तो कई लोगों से पूछताछ होती और और नए सबूत जुटाए जाते। हालांकि, बिहार पुलिस की टीम को जितना वक्‍त मिला, उसमें उसने बेहतर काम किया।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.