top menutop menutop menu

Sushant Singh Rajput Case: दो महीने बाद भी रहस्य ही है सुशांत की मौत, अब CBI पर टिकी नजर

Sushant Singh Rajput Case: दो महीने बाद भी रहस्य ही है सुशांत की मौत, अब CBI पर टिकी नजर
Publish Date:Fri, 14 Aug 2020 09:13 PM (IST) Author: Amit Alok

पटना, जेएनएन। Sushant Singh Rajput Case: मुंबई में अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की 14 जून को हुई मौत के दो माह गुजर चुके हैं। परिवार वाले इसे हत्या बता रहे हैं। जांच पर मुंबई और बिहार पुलिस के बीच तकरार के बाद मामला सीबीआइ के हाथ में आ गया है। बिहारवासी और स्वजन चाहते हैं कि सुशांत की हत्या और आत्महत्या को लेकर उलझी हुई गुत्थी जल्द सुलझे। पटना में सुशांत का आवास वीरान पड़ा हुआ है। पिता केके सिंह अपनी लड़कियों के साथ रहते हुए न्याय के लिए प्रयासरत हैं।  

अभी स्पष्ट नहीं हुआ कैसे हुई थी मौत

मुंबई पुलिस शुरुआत से ही इसे आत्महत्या मानकर जांच कर रही थी, लेकिन 40 दिनों बाद सुशांत के पिता ने जैसे ही पटना में सुशांत की प्रेमिका रिया चक्रवर्ती के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई तो जांच की दिशा ही बदल गई। एफआइआर के बाद मुंबई पहुंची पटना पुलिस सिर्फ 10 दिनों तक जांच कर पाई। हालांकि, उसकी जांच में कई बातों से पर्दा हटने लगा। जांच को लेकर मुंबई और पटना पुलिस के बीच तकरार के बाद मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। बिहार सरकार की सिफारिश पर सीबीआइ ने भी केस दर्ज कर लिया है। लेकिन अभी स्पष्ट नहीं हुआ कि सुशांत की मौत कैसे हुई थी? वैसे यह भी एक तथ्‍य है कि सुशांत की मौत के बाद पिता केके सिंह ने वीडियो जारी कर कहा था कि उन्‍होंने 25 फरवरी को बांद्रा पुलिस को आगाह किया था कि उनके बेटे की जान को खतरा है।

घटनाक्रम, एक नजर

08 जून: सुशांत सिंह राजपूत की पूर्व मैनेजर दिशा सालियान की मलाड स्थित अपार्टमेंट के 14वीं मंजिल से गिरकर हुई मौत। पार्टी के बाद हुई घटना।

8 जून: रिया चक्रवर्ती सुशांत के घर से मेडिकल रिपोर्ट, गहने, क्रेडिट कार्ड सहित अन्य सामान लेकर चली गई। जाते समय सुशांत का मोबाइल नम्बर ब्लॉक कर दिया।

9 जून : सुशांत ने अपनी बहन को फोन कर बातचीत की। बहन सुशांत के पास गई। चार दिन साथ रहने के बाद वह अपने घर लौट गई।

13 जून : दो फिल्म डायरेक्टर से फोन पर सुशांत की बातचीत हुई। तब वह रिया के साथ नई फिल्म की शूटिंग को लेकर काफी खुश थे।

14 जून : बांद्रा स्थित घर में सुशांत सिंह की लाश मिली। पुलिस ने इसे सुसाइड बताया।

25 जुलाई : सुशांत के पिता केके सिंह राजीव नगर थाने पहुंचे और रिया चक्रवर्ती, उसके माता-पिता, भाई सहित छह लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कर कराई।

27 जुलाई : बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय के निर्देश पर आइजी ने चार सदस्यीय एसआइटी गठित की। जांच के लिए फ्लाइट से मुंबई किया रवाना।

29 जुलाई : केस दर्ज होने के बाद रिया चक्रवर्ती सुप्रीम कोर्ट पहुंची। पटना में दर्ज मामले को मुंबई ट्रांसफर करने की मांग की है।

31 जुलाई : पटना पुलिस बांद्रा डीसीपी क्राइम से मिलने पहुंची। बाहर निकलते ही मुम्बई पुलिस ने कैदी वैन में बैठा दिया।

01 अगस्त: पटना पुलिस को सुशांत से जुड़ी कोई रिपोर्ट मुंबई पुलिस नहीं दे रही थी। पटना पुलिस दिशा मामले में जांच को मलाड पुलिस स्टेशन पहुंची।

02 अगस्त: केस की जांच और टीम को लीड करने के लिए सिटी एसपी विनय तिवारी को मुम्बई भेजा गया। बीएमसी ने उन्हें क्वारंटाइन कर दिया।

03 अगस्त : पटना आइजी ने सिटी एसपी को क्वारंटाइन से मुक्त करने लिए बीएमसी को मेल और पत्र भेजा। लेकिन, बीएमसी ने मुक्त नहीं किया।

04 अगस्त : सुशांत मामले में बिहार सरकार ने सीबीआइ जांच की सिफारिश कर दी। कहा गया जब तक मंजूरी नहीं मिलती पटना पुलिस मुम्बई में रहेगी।

05 अगस्त : उच्चतम न्यायालय ने रिया चक्रवर्ती की याचिका पर सुनवाई शुरू की।

06 अगस्त : सीबीआइ ने दिल्ली में दर्ज की प्राथमिकी। पटना में दर्ज केस का चार्ज लिया।

06 अगस्त:  पटना पुलिस ने सीबीआइ को सौंपे सबूत। मुंबई गई बिहार पुलिस पटना लौट आई।

11 अगस्त : रिया समेत मामले में याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने सभी पक्षों को जवाब देने को कहा, सुनवाई जारी है। रिया से प्रवर्तन निदेशालय आय से अधिक संपत्ति मामले में भी पूछताछ कर रहा है। 

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.