पांच साल के लिए बिहार से बाहर जाएंगे सुपर काप मनु महाराज, अब इस विभाग में देंगे अपनी सेवा

Bihar Police News बिहार में सुपर काप के तौर पर मशहूर आइपीएस मनु महाराज (IPS Manu Maharaj) अब बिहार से बाहर अपनी सेवा देंगे। सारण क्षेत्र के डीआइजी (Saran DIG) व 2005 बैच के आइपीएस अधिकारी मनु महाराज केंद्रीय प्रतिनियुक्ति (Central Deputation) पर जा रहे हैं।

Shubh Narayan PathakWed, 28 Jul 2021 07:25 AM (IST)
सारण के डीआइजी आइपीएस मनु महाराज। फाइल फोटो

पटना, राज्य ब्यूरो। Bihar Police News: बिहार में सुपर काप के तौर पर मशहूर आइपीएस मनु महाराज (IPS Manu Maharaj) अब बिहार से बाहर अपनी सेवा देंगे। सारण क्षेत्र के डीआइजी (Saran DIG) व 2005 बैच के आइपीएस अधिकारी मनु महाराज केंद्रीय प्रतिनियुक्ति (Central Deputation) पर जा रहे हैं। वे भारतीय-तिब्बत सीमा पुलिस (आइटीबीपी) में पुलिस उप-निरीक्षक (Deputy Inspector General) के पद पर सेवा देंगे। गृह विभाग (Bihar Home Department) ने विरमित करते हुए उनकी सेवा केंद्रीय गृह मंत्रालय (Central Home Ministry) को सौंपने की अधिसूचना जारी कर दी है। वह पदग्रहण करने से पांच वर्षों की अवधि तक केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर रहेंगे।

पटना का एसएसपी भी रहे चुके हैं मनु

सारण का डीआइजी बनने से पहले मनु महाराज मुंगेर का डीआइजी और पटना का एसएसपी भी रहे। वे कई जिलों में बतौर एसपी भी अपनी सेवा दे चुके हैं। उनके केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर जाने की चर्चा काफी दिनों से चल रही थी। अब इस पर आधिकारिक तौर से मुहर लग गई है। निगरानी अन्‍वेषण ब्‍यूरो में तैनात रविंद्र कुमार को सारण का नया डीआइजी बनाया गया है।

हिमाचल प्रदेश के हैं रहने वाले

मनु महाराज मूलत: हिमाचल प्रदेश के रहने वाले हैं। उन्‍होंने आइआइटी रूड़की से बीटेक में स्‍नातक किया है। बाद में उन्‍होंने जवाहर लाल नेहरू विवि से पर्यावरण विषय पर मास्‍टर्स की डिग्री भी हासिल की। उन्‍होंने 2006 में भारतीय पुलिस सेवा में अपने करियर की शुरुआत की।

बिहार में सिंघम जैसी छवि

बिहार के युवाओं में मनु महाराज की छवि कुछ-कुछ सिंघम जैसी है। वे अपनी मूंछों की खास स्‍टाइल के लिए जाने जाते हैं। पटना और दूसरे जिलों में तैनात रहते उन्‍होंने कई बड़े केस सुलझाए हैं। युवाओं में उनका क्रेज इतना है कि एक शख्‍स ने इस आइपीएस की फेक इंटरनेट मीडिया प्रोफाइल बनाकर लड़कियों से दोस्‍ती गांठनी और उन्‍हें ठगना शुरू कर दिया। इनकी गिनती काबिल अफसरों में होती है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.