बारिश के बीच छह हजार टन कचरा साफ करने की चुनौती,पटना को क्लीन करने में जुटे सफाई कर्मी

पटना हाईकोर्ट के आदेश के बाद सफाई कर्मी पटना को क्लीन करने में जुट गई हैं। बुधवार को कचरे से राजधानी को निजात दिलाने के लिए सफाई कर्मी सड़क पर उतरे। लेकिन बारिश के बीच शहर में डंप छह हजार टन कचरे को साफ करना किसी चुनौती से कम नहीं।

Rahul KumarWed, 15 Sep 2021 12:37 PM (IST)
राजधानी पटना के हरिमंदिर गली में कूड़ा उठाते सफाई कर्मीं। तस्वीर- जागरण

जागरण संवाददाता, पटना। बिहार के नगर निकायकर्मियों की हड़ताल के बीच 10 फीसदी दैनिक मजदूर कार्य पर लौट आए हैं। बुधवार को लगभग सभी वार्डों में तैनात सफाई निरीक्षकों ने सफाई कार्य की कमान संभाल ली है। 50 फीसदी आउटसोर्सिंग वाले सफाई कर्मी भी पटना को साफ करने में जुट गए हैं। जानकारी के मुताबिक पटना के मोहल्लों की गलियों में छह हजार टन कचरा जमा है। बारिश के बीच तेज हवा चलने के कारण नागरिकों की परेशानियां बढ़ गई है। लोग अपने घराें की खिड़कियां बंद कर घरों में बदबू से बचने का प्रयास कर रहे हैं। मोहल्ले की गलियों में कचरा बिखरे रहने के कारण चलने लायक स्थिति नहीं है। इस बीच सभी अंचलों ने उपलब्ध कर्मियों के साथ सफाई कार्य प्रारंभ करा दिया है। कचरे को उठाने में जेसीबी और बाब कैट मशीन को लगाया गया है।

उठने लगा मोहल्ले में जमा कचरा

मोहल्ले की गलियों में जमा कचरा बुधवार की सुबह से उठने लगा। सभी अंचल मोहल्ले-मोहल्ले भ्रमण कर कचरा उठाने का कार्य प्रारंभ कर दिया है। पटना नगर निगम, सभी अंचलों में बारिश के बीच सड़कों के किनारे पड़े कचरे का उठवाने का कार्य करते रहा। बांकीपुर अंचल ने मुख्य सफाई निरीक्षक केएन शुक्ला के नेतृत्व में बेहतर काम किया है। खेतान मार्केट, हथुआ मार्केट, साइंस कालेज, अशोकराजपथ, बारीपथ, आर्यकुमार रोड, मुसलहपुर हाट, भीखना पहाड़ी, कदमकुआं सहित कई स्थानों पर लगे कूड़े की ढेर को रात में हटवा दिया। सुबह-सुबह एनआइटी सहित शैक्षणिक संस्थानों के आसपास की सफाई व्यवस्था को भी दुरुस्त किया जा रहा है। कंकड़बाग के सभी वार्डों में भी सफाई शुरू हो गयी है। 

सफाई कार्य में बाधा डालने वालों पर होगी कार्रवाई

नगर आयुक्त हिमांशु शर्मा ने बताया कि सफाई कार्य में बाधा डालने वालों पर सख्त कार्रवाई होगी। सफाई कार्य में लगे मजदूरों को कार्य से रोकने तथा वाहन को क्षतिग्रस्त नहीं करने दिया जाएगा। उन्होंने पटना नगर निगम कर्मियों से पटना उच्च न्यायालय के आदेश पर लौटने की अपील की। कहा कि नेतागिरी के चक्कर में न आएं। पटना नगर निगम कर्मियों की सभी मांगों को पूरा करते रहा है। सभी सफाई कार्य में जुट जाएं। नगर आयुक्त ने बताया कि सभी अंचलों में सफाई कार्य प्रारंभ हो गया है।

शहर में जगह-जगह जमे कचरा को हटाने तक अनवरत सफाई कार्य जारी रहेगा। पहला प्राथमिकता कचरे के ढेर को हटाना है। उसके बाद डोर टू डोर कचरा उठाव व्यवस्था पूर्व की तरह हो जाएंगी। गौरतलब है कि मंगलवार को बिहार सरकार की ओर से महाधिवक्ता की पहले के बाद पटना हाईकोर्ट ने मामले को संज्ञान में लेकर सुनावाई की थी। सुनवाई के बाद कोर्ट ने सभी सफाई कर्मियों को काम पर लौटने का आदेश दिया था।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.