सांस्कृतिक कार्यक्रम में संत माइकल्स के बच्चों ने प्रस्तुतियों से मोहा सभी का मन Patna News

सांस्कृतिक कार्यक्रम में संत माइकल्स के बच्चों ने प्रस्तुतियों से मोहा सभी का मन Patna News

संत माइकल्स हाई स्कूल का वार्षिकोत्सव शनिवार को बच्चों के सांस्कृतिक कार्यक्रम से सभी का मन मोह लिया। कार्यक्रम में छात्रों को सम्मानित भी किया गया।

Akshay PandeySun, 24 Nov 2019 11:31 AM (IST)

पटना, जेएनएन। संत माइकल्स हाई स्कूल का वार्षिकोत्सव शनिवार को बच्चों के सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ संपन्न हुआ। इसमें सीबीएसई टॉपर्स, आइआइटी एवं मेडिकल प्रतियोगिताओं में उत्तीर्ण हुए छात्रों को भी सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ जिलाधिकारी कुमार रवि, रश्मि रेखा, फादर नॉर्बर्ट मेनेजेस येशुसमाजी ने दीप प्रज्जवलित कर किया। इससे पहले स्कूल बैंड ने अतिथियों को सुमधुर ध्वनि से गार्ड ऑफ ऑनर दिया।

आगत अतिथियों का स्वागत फादर आर्म स्ट्रांग एडिसन एसजे ने किया। वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए कहा कि समारोह का उद्देश्य बच्चों की प्रतिभा को दर्शाना ही नहीं, बल्कि उनकी उपलब्धियों को सम्मानित करना भी है। सांस्कृतिक कार्यक्रम का आरंभ प्रार्थना नृत्य 'तू ही सृष्टिकर्ता' से हुआ। वार्षिकोत्सव की थीम 'माता-पिता द्वारा बच्चों की परवरिश' को रखा गया। अतिथियों ने बताया कि संतान की परवरिश तथा उसे सही शिक्षा देकर योग्य बनाना ही माता-पिता के जीवन का सबसे बड़ा दायित्व है।

संतान का भी यह कर्तव्य हैं कि वह माता-पिता द्वारा किये गए इस त्याग और संघर्ष को समझें और उनका सम्मान करें। मौके पर कई पूर्ववर्ती छात्र तथा मेधा सूची के छात्र-छात्राओं को विद्यालय प्रबंधन की ओर से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में धन्यवाद ज्ञापन हेड मिस्ट्रेस विशाखा सिन्हा ने की। मौके पर विद्यालय के रेक्टर फादर सेराफीम, विशाखा सिन्हा, उप प्रधानाचार्य फादर फ्रांसिस चिनप्पन एसजे भी थे। 

संत कैरेंस ने मारी बाजी

त्रिभुवन स्कूल के बैनर तले ओरेटरी कॉनक्लेव का आयोजन किया गया। इसके तहत शनिवार को स्कूल के स्थापना दिवस समारोह में अंतर विद्यालय वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इसमें सभी स्कूलों को पीछे छोड़ते हुए संत कैरेंस स्कूल के बच्चों ने बाजी मारी। समारोह की शुरुआत मुख्य अतिथि एनके सिंह ने की। उन्होंने प्रतिभागियों का उत्साहवर्धन किया। इस मौके पर स्कूल की प्राचार्या महुआ दास गुप्ता ने भी बच्चों की प्रतिभा को देखते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की। ग्रीन स्पलेंडर ऑफ आवर अर्थ प्रतियोगिता के बाद त्रिभुवन स्कूल के बच्चों द्वारा शास्त्रीय नृत्य का भी आयोजन किया गया।

सांस्कृतिक कार्यक्रमों के जरिए बच्चों ने मोहा मन

पटना। नन्हे बच्चे जब अपने मनमोहक अंदाज के साथ स्टेज पर जाकर प्रस्तुति दे रहे थे, तो लोग तालियों के साथ उसका स्वागत कर रहे थे। मौका था सेंट जेवियर्स स्कूल के 79वें वार्षिकोत्सव का। कार्यक्रम में स्कूल के कुल 780 बच्चों ने अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाते हुए प्रस्तुति दी। कार्यक्रम की शुरुआत न्यायाधीश विकास जैन, पूर्व पुलिस महानिदेशक अभयानंद के साथ स्कूल के प्राचार्य फादर किस्टू खीस्तु सवारीराजन ने दीप जला कर किया। अतिथियों ने कहा कि इस स्कूल ने बहुत सारे ऐसे पूर्ववर्ती छात्र दिए हैं, जो भारत और बिहार के लिए बहुत गर्व की बात है। स्कूल से निकलने वाली नई पीढ़ी को भी इस सिलसिले को कायम रखने की जरूरत है।

नाटक के माध्यम से बच्चों ने बताया अपना दर्द

कार्यक्रम की शुरुआत बच्चों ने हिंदी और अंग्रेजी नाटक से की। हिंदी के नाटक में बच्चों ने 'छोटी सी आशा शीर्षक से शुरुआत की, जिसमें बच्चों ने अपने सपनों को माता-पिता के सपनों पर हावी होते दिखाया है। मां-बाप बच्चों पर प्रेशर देते हैं और फिर बच्चे मानसिक रूप से परेशान होकर ना अपने सपने पूरा कर पाते हैं और न ही मां-बाप के। अंग्रेजी नाटक में बच्चों ने दिखाया कि सपने देखना जरूरी है। जो इंसान जीवन में सपने नहीं देखता है वो कभी कुछ नहीं कर सकता है। इसके साथ ही बच्चों के बीच प्रार्थना डांस का भी आयोजन किया गया। इसमें उन्होंने भगवान से सभी की सफलता की कामना की।

एक साथ मंच पर दिखे 780 बच्चे

स्कूल के वार्षिकोत्सव के मंच पर ग्रेड फिनाले के दौरान एक साथ मंच पर 780 बच्चों ने अपनी प्रतिभा दिखाई। इसमें सब ने अपनी-अपनी प्रतिभा दिखाई। अभिभावकों ने तालियां बजाकर बच्चों का उत्साह बढ़ाया। कार्यक्रम के आखिर में उप प्राचार्य फादर देवाशीष ने धन्यवाद ज्ञापन किया। इस मौके पर स्कूल के शिक्षक और विद्यार्थियों का पूरा योगदान भी रहा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.