बिना एेश्वर्या के ही तेजप्रताप ने कर ली गृहप्रवेश की पूजा, नहीं लगने दी किसी को भनक

पटना, जेएनएन। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने गुरुवार को अपने नए घर में विधिवत गृह प्रवेश की पूजा की और अब वे जल्द ही अपने इस नए में शिफ्ट करेंगे। बता दें कि अभी घर में सजावट का काम चल रहा है। तेजप्रताप ने चुपके से अपने घर में प्रवेश किया और पूजा की भनक किसी को नहीं लगने दी।

एेश्वर्या के बिना किया गृहप्रवेश

अक्सर विवादों में रहने वाले राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के पुत्र पूर्व मंत्री तेजप्रताप यादव ने पत्नी ऐश्वर्या के बिना शुक्रवार को नए घर में गृह प्रवेश कर लिया है। ऐश्वर्या राय से कोर्ट में तलाक के लिए दिए गए आवेदन के बाद कभी काशी, कभी मथुरा का भ्रमण कर पटना लौटे तेजस्वी अपने किसी मित्र के घर पर रह रहे थे। 

बता दें कि राजद विधायक तेजप्रताप ने सीएम नीतीश से व्यक्तिगत रूप से अपने लिए एक घर की मांग की थी। अपनी मां एवं पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के घर से भी दूरी बना ली थी। खबर मिली थी कि खरमास के बाद 18 जनवरी को तेजप्रताप अपने नए बंगले में गृहप्रवेश की पूजा करेंगे। लेकिन उन्होंने बताया कि पंडित ने बताया कि अच्छा मुहूर्त 17 को ही बन रहा है तो तेजप्रताप ने एक दिन पहले ही गृहप्रवेश की पूजा कर ली।

तेजप्रताप ने अपने गृहप्रवेश की पूजा में किसी को भी आमंत्रित नहीं किया था। उन्हें राज्य सरकार की तरफ से स्ट्रेंट रोड में दो नम्बर का बंगला आवंटित किया गया है। उनका आवास बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी और एसएसपी गरिमा मलिक के बगल में है।

तेजप्रताप के नए बंगले की मरम्मत और रंगाई-पुताई के काम को फाइनल टच दे दिया गया है और अब बंगले की सजावट का काम चल रहा है। जानकारी के मुताबिक बहुत जल्द तेज प्रताप यादव गृहप्रवेश की पूजा के बाद अपने इस नए बंगले में शिफ्ट हो जाएंगे।

बता दें कि बंगले को लेकर तेजप्रताप यादव ने जमकर हंगामा मचाया था और कहा था कि वो अपनी मां राबड़ी देवी के बंगले में नहीं रहेंगे उन्हें अपना अलग बंगला चाहिए। उन्होंने इसके लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को फोन किया था और अपने लिए बंगला एलॉट करने की गुजारिश की थी। जिसके बाद सीएम ने खुद उन्हें फोन कर बात की थी और उन्हें सरकारी बंगला अलॉट करने का आश्वासन दिया था।

उसके बाद तेजप्रताप को मनपसंद बंगला विधानसभा अध्यक्ष ने उनके नाम अलॉट कर दिया था। उनकी पसंद का बंगला 2 एम स्ट्रेंड भवन एलॉट किया गया है। जिसके बाद भवन निर्माण विभाग ने भी इस बंगले को तेजप्रताप को एलॉट करने की सहमति दे दी थी। 

बता दें कि तेजप्रताप का यह बंगला केंद्रीय पूल का है, जो आमतौर पर मंत्री को ही मिलता है। तेज प्रताप यादव फिलहाल पूर्व मंत्री हैं और विधायक के तौर पर उन्हें आवास मिला है। 

तेजप्रताप यादव का बंगला दो फ्लोर में बना है और उनके बंगले में कुल नौ कमरे हैं। ग्राउंड प्लोर पर चार कमरे हैं, जबकि पहले फ्लोर पर तीन कमरे हैं। इसके अलावा पहले फ्लोर पर ही एक कमरा सर्वेंट क्वार्टर भी है। साथ ही ग्राउंड फ्लोर पर गार्ड रुम के अलावा आफिस रुम की भी व्यवस्था की गयी है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.