नरेंद्र मोदी को अपना रिकॉर्ड बता घिरे लालू, सुशील मोदी बोले-हंसुली की शादी में खुरपी का गीत गा रहे

राजद सुप्रीमो लालू यादव, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी। जागरण आर्काइव।

राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद के पोलिया टीकाकरण से कोरोना वैक्सीन की तुलना करने के बयान की आलोचना की है। सुशील कुमार मोदी ने कहा कि यह तुलना कर बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव हंसुली के विवाह में खुरपी का गीत गा रहे हैं।

Akshay PandeyTue, 11 May 2021 09:45 AM (IST)

राज्य ब्यूरो, पटना: राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) प्रमुख लालू प्रसाद के पोलिया टीकाकरण से कोरोना वैक्सीन की तुलना करने के बयान की आलोचना की है। बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि यह तुलना कर बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव हंसुली के विवाह में खुरपी का गीत गा रहे हैं। केंद्र और राज्य सरकार मिलकर कोरोना के मुफ्त टीकाकरण का अभियान चला रही है, लेकिन विपक्ष केवल मनोबल गिराने में लगा है। 

केंद्र सरकार ने बनाया कीर्तिमान

सुशील मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार ने 114 दिन में 17 करोड़ कोरोना वैक्सीन लगवाकर सबसे तेज टीकाकरण का कीर्तिमान बनाया है। ऐसा करने में चीन को 119 दिन और अमेरिका को 115 दिन लगे थे। इस पर संतुष्ट होने के बजाय लालू खुद अपनी पीठ थपथपाने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन की मदद से 12 करोड़ बच्चों के पोलियो टीकाकरण के आंकड़े पेश कर रहे हैं। पोलियो का टीका बनाने में दुनिया को 50 साल लगे थे जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत ने एक साल के भीतर कोरोना महामारी से बचाव के लिए दो स्वदेशी टीके बना लिए हैं।

पोलियो टीका बनाने में दुनिया का 50 साल लगे

सुशील मोदी ने कहा कि पोलियो का टीका बनाने में दुनिया को 50 साल लगे थे, जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ते भारत ने एक साल के भीतर कोरोना जैसी अप्रत्याशित महामारी से बचाव के दो स्वदेशी टीके बना लिए। केंद्र सरकार ने महामारी से निपटने के लिए 2021-22 के आम बजट में 3500 करोड़ का प्रावधान किया। इससे 50 करोड़ लोगों को मुफ्त टीका लगेगा।  

क्या है मामला

गौरतलब है कि सोमवार को ट्विटर पर लालू यादव ने लिखा था कि 1996-97 में हम समाजवादियों की देश में जनता दल की सरकार थी। तब हमने पोलियो टीकाकरण का विश्व रिकॉर्ड बनाया था। उस वक्त आज जैसी सुविधा और जागरुकता भी नहीं थी, फिर भी 07 दिसंबर 1996 को 11.74 करोड़ शिशुओं और 18 जनवरी 1997 को 12.73 करोड़ शिशुओं को पोलियो का टीका दिया गया था। वह भारत का विश्व रिकॉर्ड था। इसके साथ ही लालू ने मोदी से कहा था कि कोरोना के दौर में पूरे देशवासियों को निःशुल्क टीका देने का ऐलान करें। राज्य और केंद्र के टीके की कीमत अलग-अलग नहीं होनी चाहिए। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.