बिहार में रुपयों की बारिश: खगड़िया व कटिहार के बाद अब मुजफ्फरपुर के बुजुर्ग के खाते में 52 करोड़ आने की चर्चा

बिहार में बीते कुछ दिनों से आम लोगों के बैंक खातों में रुपयों की बारिश हो रही है। ताजा मामला मुजफ्फरपुर में एक बुजुर्ग के खाते में आए 52 करोड़ आने की चर्चा का है। खगड़िया व कटिहार में भी दो बच्‍चों के खातों में 960 करोड़ आ चुके हैं।

Amit AlokFri, 17 Sep 2021 03:06 PM (IST)
मुजफ्फरपुर के राम बहादुर शाह तथा कटिहार के बच्‍चे गुरुचंद्र विश्वास व असित कुमार। फाइल तस्‍वीरें।

मुजफ्फरपुर/ पटना, जागरण टीम। पहले बिहार के खगड़िया के एक व्‍यक्ति के बैंक खाते में साढ़े पांच लाख रुपये आए। इसे पीएम मोदी का गिफ्ट बताकर उसने वापस करने से इनकार ही नहीं, बल्कि खर्च भी कर दिया। फिर, कटिहार में छठी कक्षा के दो बच्चों के खातों में 960 करोड़ रुपये आ गए। यह मामला अभी गर्म ही है कि मुजफ्फरपुर के एक बुजुर्ग के खाते में 52 करोड़ रुपये आने की खबर फैल गई। हालांकि, बाद में बैंक प्रबंधक ने जांच कर बताया कि फिलहाल खाते में केवल दो हजार रुपये हैं। किसी तकनीकी गड़बड़ी के कारण अधिक राशि दिखी होगी। जाे भी हो, कुछ दिनों से आम लोगों के खातों में हो रही रुपयों की बारिश की खूब चर्चा है।

मुजफ्फरपुर के बुजुर्ग के बैंक खाते में आए 52 करोड़!

मुजफ्फरपुर जिले कटरा थाना क्षेत्र के यजुआर पूर्वी पंचायत अंतर्गत सिंघवारी निवासी  70 वर्षीय राम बहादुर शाह वृद्धा पेंशन की राशि निकालने एक सीएसपी संचालक के पास गए तो उन्‍हें बताया गया कि वे करोड़पति बन गए हैं। सीएसपी संचालक ने बताया कि उनके बिहार ग्रामीण बैक की पहसौल शाखा के पेंशन खाते में 52 करोड़ रुपये जमा थे। इसपर राम बहादुर शाह सन्‍न रह गए। उनके पुत्र सुजीत कुमार का कहना है कि खेती मजदूरी करके पेट पालने वाले उनके पिता के खाते में इतनी बड़ी राशि कहां से आई, उन्‍हें जानकारी नहीं है। इसकी सूचना कटरा पुलिस को दी गई।

बैंक प्रबंधक ने कहा, फिलहाल खाते में दो हजार रुपये

यह बात पूरे इलाके में जंगल की आग की तरह फैल गई। कटरा थाना के सहायक सब इंस्पेक्टर मनोज पांडे ने स्थानीय लोगों और मीडिया के माध्यम से इसकी जानकारी मिलने की पुष्टि की। उन्‍होंने बैक प्रबंधक को सूचना दी। फिर, बैक प्रबंधक सुधीर कुमार ने जब जांच की तो लाभुक के खाते में महज दो हजार राशि पाई गई। बैंक प्रबंधक ने बताया कि राम बहादुर साह के खाते मे मात्र दो हजार रुपये है। किसी तकनीकी गड़बड़ी के कारण 52 करोड़ रुपये दिखे होंगे। इसके बाद से सीएसपी संचालक को लोग खोज रहे हैं। वह कौन और कहां है, कोई बता नही रहा।

खगड़िया में एक बैंक खाते में आए साढ़े पांच लाख

विदित हो कि इधर कुछ दिनों से बिहार में लोगों के बैंक खातों में के आचानक लाखों-करोड़ों की राशि आने की कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं। सबसे पहले खगड़िया के मानसी थाना अंतर्गत बख्तियारपुर के रंजीत दास के बैंक खाते में साढ़े पांच लाख रुपये आ गए। बैंक की गलती से खाते में आए इस धन की उसने निकासी कर ली तथा यह कहते हुए लौटाने से इनकर किया पीएम मोदी ने अपने वादे के अनुसार पहली किश्‍त भेजी है। बाद में उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

कटिहार में बच्‍चों के खातो में आई करोड़ों की राशि

इसके कुछ ही दिनों बाद कटिहार में छठी क्लास के दो बच्चों के खातों में नौ सौ करोड़ रुपये से अधिक की रकम आ गई। बिहार में स्कूली बच्‍चों को पोशाक के ल‍िए सरकार राशि बैंक खाते में देती है। कटिहार के बच्चे गुरुचंद्र विश्वास और असित कुमार जब पोशाक राशि की जानकारी लेने सीएसपी सेंटर गए तो पता चला कि दोनों के खातों में करोड़ों रुपए जमा हैं। गुरुचन्द्र विश्वास के खाता में 60 करोड़ तो असित कुमार के खाता में 900 करोड़ से ज्यादा की राशि जमा मिली। दोनों खाते उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक की भेलागंज शाखा के हैं। बैंक के शाखा प्रबंधक मनोज गुप्ता ने दोनों खातों से भुगतान पर रोक लगा दी है। इस मामले की जांच की जा रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.