Railway News: ट्रेन में सवार होने के लिए टिकट ही काफी नहीं, बिहार में यात्रियों को देना 18 करोड़ जुर्माना

Indian Railway News ट्रेन में सवार होने के लिए क्‍या चाहिए? टिकट ही न! अगर आप भी ऐसा ही सोच रहे हैं तो आप गलत सोच रहे हैं। आपकी ऐसी गलती टिकट होने के बावजूद जुर्माना देने के लिए वजह बन सकती है।

Shubh Narayan PathakPublish:Thu, 02 Dec 2021 11:26 AM (IST) Updated:Thu, 02 Dec 2021 11:26 AM (IST)
Railway News: ट्रेन में सवार होने के लिए टिकट ही काफी नहीं, बिहार में यात्रियों को देना 18 करोड़ जुर्माना
Railway News: ट्रेन में सवार होने के लिए टिकट ही काफी नहीं, बिहार में यात्रियों को देना 18 करोड़ जुर्माना

पटना, जागरण टीम। Indian Railway News: ट्रेन में सवार होने के लिए क्‍या चाहिए? टिकट ही न! अगर आप भी ऐसा ही सोच रहे हैं तो आप गलत सोच रहे हैं। आपकी ऐसी गलती टिकट होने के बावजूद जुर्माना देने के लिए वजह बन सकती है। दरअसल, अपना राजस्‍व बढ़ाने के लिए रेलवे ने हाल के दिनों में टिकट जांच अभियान तेज कर दिया है। अकेले पूर्व मध्य रेल के समस्तीपुर मंडल में पिछले चार महीनों के दौरान करीब 19 करोड़ रुपए यात्रियों से बतौर जुर्माना वसूल किया गया है। इसमें बिना टिकट और टिकट वाले दोनों तरह के लोग शामिल हैं। पूर्व मध्‍य रेल की ओर से बताया गया है कि समस्तीपुर मंडल द्वारा केवल नवंबर में टिकट चेकिंग के दौरान बिना टिकट/उचित प्राधिकार के साथ यात्रा करने के लगभग  94,193 लोग पकड़े गए। पकड़े गए लोगों से 6.17 करोड़ रुपये राजस्व की प्राप्ति हुई।  

ट्रेन में सवार होने से पहले इन बातों को कर लें चेक ट्रेन में सवार होने के लिए वैध टिकट होना चाहिए। जिस दर्जे में यात्रा कर रहे हैं, टिकट उसी दर्जे के लिए जारी किया गया हो। कोविड काल में लंबी दूरी की एक्‍सप्रेस ट्रेनों में द्वितीय श्रेणी के सामान्‍य कोच में भी यात्रा के लिए आरक्षण कराना जरूरी कर दिया गया है। यात्रा के वक्‍त आपके पास काउंटर से जारी आरक्षण पर्ची या आनलाइन टिकट के मामले में रेलवे की ओर से आया मैसेज या वर्चुअल टिकट आपके पास होना जरूरी है। आरक्षित श्रेणी के कोच में यात्रा के लिए आपके पास आपके पास आरक्ष‍ित टिकट के साथ ही आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र या कोई वैध पहचान पत्र जरूर होना चाहिए। ऐसा नहीं होने पर आप बेटिकट माने जाएंगे।

पूर्व मध्‍य रेलवे के सभी पांच मंडलों में चल रहा अभियान

पूर्व मध्य रेल मुख्य जन संपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि पांचों मंडलों में बिना टिकट चेकिंग एवं बिना उचित प्राधिकार के साथ यात्रा करने वाले यात्रियों की धरपकड़ हेतु निरंतर टिकट जांच की जा रही है तथा भविष्य में भी यह जारी रहेगी। दानापुर रेलमंडल के कई स्‍टेशनों पर हाल के दिनों में विशेष टिकट जांच अभियान चलाया गया है। इसके अलावा ट्रेनों में टिकट जांच अभियान भी जारी है।

माल लोडिंग में पूमरे ने बनाया रिकार्ड

पूर्व मध्य रेल के धनबाद मंडल द्वारा नवंबर माह में 13.09 मीट्रिक टन माल लदान किया गया, जो पिछले वर्ष के इसी महीने के दौरान 12.65 मीट्रिक टन की तुलना में 3.48 प्रतिशत  अधिक है। 110.91 रैक/दिन लोड किए गए, जबकि पिछले वर्ष के इसी महीने के दौरान 106.9 रैक/दिन लोड किया गया था। इसी तरह नवंबर के दौरान धनबाद मंडल में औसतन 104 रैक/दिन कोयले की लदान की गई, जो पिछले वर्ष के इसी महीने के दौरान 98.2 रेक/ दिन लोड की गई थी।

पिछले साल की तुलना में 5.94 प्रतिशत ज्यादा है तथा यह किसी भी वर्ष के नवंबर में सबसे ज्यादा कोयला लदान है। पिछले माह में सीमेंट के 70  रैकों का लदान किया गया। फ्लाई ऐश के कुल 13 रेक, कास्टिक सोडा के आठ रैक, रेड मड के कुल 27 रैकों को लोड किया गया। धनबाद मंडल द्वारा नवंबर में औसत इंटरचेंज 305 रैक/दिन रहा, जो रिकार्ड है।