Rail Accident: दानापुर मंडल में पटरी से उतरी यात्रियों से भरी ट्रेन, डीआरएम घटनास्‍थल पर पहुंचे

Rail Accident दानापुर रेल मंडल में रविवार की अल सुबह हादसा हो गया है। यहां स्‍टेशन से खुलने के साथ ही एक ट्रेन पटरी से उतर गई। इस हादसे की खबर मिलते ही रेलवे प्रशासन में अफरातफरी मच गई।

Shubh Narayan PathakSun, 28 Nov 2021 10:51 AM (IST)
दानापुर रेल मंडल के राजगीर रेलवे स्‍टेशन पर हुआ हादसा। जागरण

बिहारशरीफ (नालंदा), जागरण टीम। दानापुर रेल मंडल में रविवार की अल सुबह हादसा हो गया है। यहां स्‍टेशन से खुलने के साथ ही एक ट्रेन पटरी से उतर गई। संयोग अच्‍छा रहा और इस हादसे में किसी यात्री को नुकसान नहीं हुआ। ट्रेन के थोड़ी ही देर पहले खुलने के कारण गति काफी धीमी थी। इस मामले में प्रथम दृष्‍टया लापरवाही की बात सामने आ रही है। हादसे के कारण इस रूट पर ट्रेनों का परिचालन प्रभावित हुआ है। दानापुर रेल मंडल के वरीय अधिकारी सूचना मिलते ही घटनास्‍थल के लिए रवाना हो गए हैं। हम इस खबर में और विस्‍तृत जानकारी की प्रतीक्षा कर रहे हैं। ताजा जानकारी के लिए इस खबर को रिफ्रेश करते रहें।

रेलवे अधिकारियों में मची अफरातफरी

मिली जानकारी के अनुसार यह हादसा राजगीर रेलवे स्‍टेशन पर हुआ। 03223 राजगीर-फतुहा-दनियावां सवारी गाड़ी के खुलते ही ट्रेन की कुछ बोगियों के पहिए पटरी से उतर गए। बताया जा रहा है कि रात को ट्रेन की रैक खड़ी करने के बाद उसके पहियों के नीचे लकड़ी का अवरोध लगाया गया था, ताकि ट्रेन इधर से उधर नहीं फिसले। रविवार की सुबह ट्रेन को आगे बढ़ाने से पहले इस अवरोध को हटाया नहीं गया, जिसका नतीजा हुआ कि ट्रेन के कुछ कोच पटरी से उतर गए। इस हादसे की खबर मिलते ही रेलवे प्रशासन में अफरातफरी मच गई।

राजगीर- दनियावां पैसेंजर ट्रेन हुई बेपटरी लगभग 40 फीट दूरी तक बेपटरी ट्रेन घिसटती हुई आगे तक गई बाल-बाल बचे रेलयात्री, किसी के भी हताहत होने की सूचना नहीं रेलयात्री को श्रमजीवी एक्सप्रेस ट्रेन से बिहार शरीफ तक भेजा गया घटना का निरीक्षण करने पहुंचे डीआरएम व रेल प्रशासन की टीम

प्रत्येक दिन की तरह यह ट्रेन अपने निर्धारित समय 6 बजकर 30 मिनट पर यह ट्रेन राजगीर से खुलकर बिहार शरीफ दनियावां होते हुए फतुहा तक जाती है। इस ट्रेन से काफी संख्या में विद्यार्थी, रेलयात्री, कार्यालय कर्मी और कामगार रोजाना आवागमन करते हैं। इस कारण रेलयात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। जानकारी के अनुसार रविवार को जब यह ट्रेन राजगीर स्टेशन से खुली, तो अचानक डिरेल हो गई और लगभग 40 फीट तक घसीटते हुए गई। रेलवे के पीआरओ पृथ्वीराज ने बताया कि ट्रेन का पिछला दो चक्का उतर गया था। 11 बजे ठीक कर लिया गया है। मौके पर दानापुर से अधिकारियों की टीम पहुंच गई थी। दानापुर से  क्रेन के साथ टेक्निकल स्टाफ भी पहुंच गए थे।

जानकारी के अनुसार जब ट्रेन रेलवे लाइन पर खड़ी की गई थी। तब सुरक्षा के दृष्टिकोण से पहिया के नीचे लकड़ी का गुटका आगे और पीछे की तरफ लगाया गया था, जिसे जंजीर से जकड़ कर ट्रेन को सुरक्षा दी जाती है, ताकि ट्रेन किसी भी कारण से आगे पीछे स्लीप ना कर सके। बताया जाता है कि ट्रेन स्टार्ट करने के पूर्व गार्ड द्वारा इन सारे सुरक्षा उपायों को हटाया जाता है। परंतु रविवार को गुटका (लकड़ी का टुकड़ा) नहीं हटाए जाने के कारण ट्रेन गुटका सहित लगभग 20 फीट तक घसीटते रही और आगे जाकर बेपटरी हो गई ।

स्थानीय रेल अधिकारियों द्वारा रेलवे पटरी के पास गुटका का टुकड़ा गिरा हुआ पाया गया है। एवं रेलवे पटरी और नीचे पड़े गिट्टी पर चक्का के घसीटने का निशान दिखाई दे रहा है। उधर इस ट्रेन के जो भी टिकधारी रेलयात्री इस ट्रेन से अपने गंतव्य पर नहीं जा सके। उन यात्रियों को श्रमजीवी एक्सप्रेस से बिहार शरीफ तक भेजा गया है। इस घटना के एवज में 8 बजकर 10 मिनट पर राजगीर- नई दिल्ली श्रमजीवी एक्सप्रेस को बिहारशरीफ तक पैसेंजर ट्रेन के रूप में परिचालन किया गया है। इसे बिहारशरीफ के बीच पड़ने वाले सभी हाल्ट और सभी स्टेशन पर श्रमजीवी को रुकने का सूचना जारी की गई। अभी समाचार लिखे जाने तक घटना की जांच में रेल के अधिकारियों कर्मी जुट गए हैं। दानापुर से मंडल रेल प्रबंधक डीआरएम भी राजगीर रेल स्टेशन पर पहुंच चुके हैं।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.