तेजस्‍वी पर पांच करोड़ की ठगी के आरोप से बिहार में गरमाई सियासत, CM नीतीश के मंत्री ने लालू परिवार को कहा जाली लोग

Bihar Politics आरजेडी नेता तेजस्‍वी यादव एवं मीसा भारती पर एक कांग्रेस नेता ने बीते लोकसभा चुनाव के दौरान टिकट के नाम पर पांच करोड़ रुपयों की ठगी का आरोप लगाया है। इसपर पक्ष-विपक्ष की सियासत गर्म हो गई है।

Amit AlokTue, 21 Sep 2021 02:10 PM (IST)
बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव। फाइल तस्‍वीर।

पटना, आनलाइन डेस्‍क। Bihar Politics राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) व बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadad) तथा सांसद मीसा भारती (Misa Bharti) समेत छह के खिलाफ पटना सिविल कोर्ट (Patna Civil Court) ने बीते लोकसभा चुनाव (Lok Shabha Election) के दौरान टिकट देने के नाम पर पांच करोड़ रुपयेे की ठगी (Fraud of Five Crores) के आरोप में एफआइआर (FIR) दर्ज करने का आदेश दिया है। इसके बाद बिहार में सियायत गरमा गई (Politics Heats Up) है। आरजेडी ने जहां लगाए गए आरोप को बेबुनियाद कहा है, वहीं सत्‍तापक्ष के नेता हमलावर हैं। इस कड़ी में ताजा बयान भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेता व बिहार सरकार में मंत्री मंत्री नीरज कुमार बबलू (Neeraj Kumar Bablu) ने कहा है कि लालू परिवार के सदस्‍य जाली लोग हैं, जिनका पर्दाफाश हो चुका है। उन्‍हें अब जेल जाना चाहिए।

आरजेडी में बिना पैसे लिए नहीं देते टिकट

मंत्री नीरज कुमार बबलू ने कहा कि आरजेडी में बिना पैसे लिए किसी को टिकट नहीं देते हैं। पैसे नहीं देने पर जमीन लिखवा लेते हैं। यह लालू परिवार का पुराना धंधा है, जिसका अब पर्दाफाश हो गया है। अब इन्हें जेल जाने से कोई नहीं रोक सकता."

लोकलाज को ताक पर रख संपत्ति सृजन

जनता दल यूनाइटेड के प्रवक्ता नीरज कुमार (Neeraj Kumar) ने कहा कि महागठबंधन के घटक दल कांग्रेस के नेता ने हीं आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बेटे व बेटी सहित कांग्रेस के कुछ नेताओं पर टिकट देने के बदले धन लेने का आरोप लगाया है। लोकतंत्र की बुनियाद लोकलाज है, लेकिन आरजेडी का चरित्र लोकलाज को ताक पर रखकर संपत्ति सृजन का रहा है। आरजेडी के लिए लक्ष्मीदान और भूदान महत्‍वपूर्ण है।

सस्ती लोकप्रियता के लिए बेबुनियाद आरोप

आरोपों की बाबत आरजेडी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी (Mrityunjay Tiwari) ने पलटवार करते हुए कहा कि विक्षिप्त मानसिकता वाले छपास के रोगी कुछ लोग सस्ती लोकप्रियता के लिए बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं। ये लोग होर्डिंग-बैनर लगाकर खुद को प्रधानमंत्री का उम्मीदवार बताते हैं। आरोप लगाने वाले की हैसियत भी देखनी चाहिए कि वे पांच करोड़ रुपये देने के लायक हैं भी या नहीं।

क्‍या है पूरा मामला, जानिए...

विदित हो कि कांग्रेस नेता संजीव कुमार सिंह ने पटना के मुख्‍य न्‍यायिक दंडाधिकारी की अदालत में बीते 18 अगस्त को परिवाद दायर कर तेजस्वी यादव व मीसा भारती तथा बिहार कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा सहित छह लोगों पर लोकसभा चुनाव के दौरान टिकट देने के नाम पर पांच करोड़ की ठगी का आरोप लगाया है। तेजस्वी यादव पर हत्‍या की धमकी देने का भी आरोप लगाया गया है। इम मामले में अदालत के आदेश पर पटना के एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने 16 सितंबर को कोतवाली थानाध्यक्ष को एफआइआर दर्ज करने का आदेश दिया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.