पांच दिन ससुराल में रहकर लौटा घर लौट रहा था युवक, दो दिनों बाद लाश मिली; मौत का राज खुलना बाकी

मोकामा में मिला था बाढ़ के युवक का शव। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

मोकामा में युवक की गला रेतकर हुई हत्या की नहीं सुलझी गुत्थी फॉलोअप - बाढ़ के कलाली मोहल्ले का रहने वाला था 35 वर्षीय मनीष चौहान - घोसवरी के बाबा चौहरमल के मुख्य द्वार से सौ मीटर दूर फेंका हुआ था शव

Shubh Narayan PathakMon, 10 May 2021 01:49 PM (IST)

मोकामा (पटना), संवाद सूत्र। पटना जिले के बाढ़ थाना क्षेत्र के कलाली मोहल्ला निवासी मनीष चौहान (35 वर्ष) की हत्या की गुत्थी दो दिन बाद भी नहीं सुलझ सकी। बदमाशों ने गला रेतकर युवक की हत्या कर दी थी। शव घोसवरी थाना क्षेत्र के बाबा चौहरमल के मुख्य प्रवेश द्वार के निकट बाईपास से करीब 100 गज की दूरी पर खेत से मिला था। टाल क्षेत्र जाने वाले राहगीरों की मानें तो युवक का शव शुक्रवार से ही देखा जा रहा था। शनिवार को किसी ने शव दिखाई पडऩे की सूचना पुलिस को दी। तब घोसवरी थाने की पुलिस ने घटनास्थल पहुंची। शव को कब्जे में लिया।

पांच दिनों से ससुराल में था युवक

पुलिस के पहुंचने के पहले ही युवक के स्वजन घटनास्थल पर पहुंचकर शव की पहचान कर चुके थे। जानकारी के अनुसार मनीष पिछले पांच दिनों से लखीसराय जिले के मखरा गांव में अपने ससुराल में था। शुक्रवार की दोपहर वह वहां से घर के लिए चला था। इसकी सूचना ससुराल वाले ने मनीष के घर में दे दी थी। शाम तक घर वापस नहीं पहुंचने पर घर वालों ने लखीसराय थाने में गुमशुदगी का मामला दर्ज कराया था।

शनिवार को बाढ़ थाने को भी दी थी सूचना

शनिवार की सुबह बाढ़ थाने को भी गायब होने की सूचना दी गई। थाने में ही मोकामा बाईपास के निकट शव मिलने की सूचना पर स्वजन घटनास्थल पहुंचे गए। घोसवरी पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराकर शनिवार को शव परिजनों को सौंप दिया था।

अज्ञात पर दर्ज की गई है हत्या की प्राथमिकी

रविवार को मनीष के भाई अनुप कुमार ने अज्ञात के विरुद्ध हत्या की प्राथमिकी घोसवरी थाने में दर्ज कराई। आवेदन में हत्या से जुड़ी किसी मामले का पर्दाफाश नहीं किया गया है। यही वजह है कि आज भी हत्या की गुत्थी नहीं सुलझ पायी। मृतक के स्वजनों व रिश्तेदारों की आपस के बातचीत को आधार बनाया जाए तो हत्या के पीछे कई पेचीदे गुत्थी सामने आने लगे हैं।

ताड़ी पीने को लेकर कई लोगों के साथ हुआ था विवाद

मृतक ताड़ी पीने का आदी था। आदत को ससुराल में भी नहीं रोक पाता था। वहां रहने के दौरान ससुराल के कई विवादास्पद, असामाजिक तत्वों व बदमाशों के साथ भी ताड़ी पीता था। इस दौरान कइयों के साथ इसकी नोकझोंक व मारपीट भी हुई थी। इसका प्रतिशोध भी हत्या का कारण हो सकता है।

ससुराल से 50 हजार रुपये के लेनदेन का भी विवाद

ससुराल के ही किसी से 50 हजार रुपये लेन देन का विवाद भी सामने आ रहा है। इतना ही नहीं इसकी हत्या में ससुराल पक्ष की संलिप्तता के संकेत को भी ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस ने अपने अनुसंधान में जोड़ा है। घोसवरी थानाध्यक्ष संजीव कुमार मौआर  का कहना है कि हत्या कहीं अन्यत्र की गयी है। पुलिस का ध्यान भटकाने के लिए शव को यहां लाकर फेंक दिया गया।

हत्‍या कहीं और किए जाने की जताई जा रही आशंका

मृतक के गले के पीछे किसी तेज हथियार से रेतकर हत्या की आशंका जताई जा रही है। वारदात स्थल पर खून का एक बूंद भी नहीं मिला है। गले के जख्म के खून को काला पड़ जाना भी इस ओर इंगित करता है कि हत्या कहीं अन्यत्र की गयी है। मनीष के पास स्मार्टफोन भी मिला है। यह हत्या की गुत्थी सुलझाने में मददगार हो सकता है। पुलिस घर से लेकर ससुराल तक इस हत्या के जुड़े तार को खंगालने में जुटी हुई है ।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.