देश के सबसे गंदे शहर का मिट सकता दाग, आज पटना की स्वच्छता जांच के लिए उतरी 40 सदस्यीय केंद्रीय टीम

पटना में सफाई की जांच करने केंद्र से 40 सदस्‍यों की टीम पहुंची। सांकेतिक तस्‍वीर ।

स्वच्छता सर्वेक्षण-2021 चल रहा है। केंद्रीय टीम आज अलसुबह से ही पटना नगर निगम के सफाई के दावे की जांच के लिए सड़कों पर उतर गई । टीम पटनाइट्स से फीडबैक भी ले रही है। पिछले साल इसी सर्वेक्षण में पटना सफाई व्‍यवस्‍था में अंतिम पायदान पर आया था ।

Sumita JaiswalThu, 25 Feb 2021 05:28 PM (IST)

पटना, जागरण संवाददाता । स्वच्छता सर्वेक्षण-2021 चल रहा है। इस बीच 40 सदस्यीय केंद्रीय टीम पटना नगर निगम के दावे की जांच को पहुंची है। बुधवार की शाम को टीम पटना पहुंची । गुरुवार अल सुबह से ही टीम पटना की गलियों, सड़कों, स्लम क्षेत्रों में निकल गई है। गर्दनीबाग सेकेंड्री कूड़ा प्वाइंट की जांच की। प्लास्टिक प्रोसेसिंग यूनिट, गीला-सूखा कचरा अलग-अलग करने के तरीके की जांच की। टीम ने जांच के दौरान निगम अधिकारियों को आसपास आने से मना कर दिया।

नगर निगम के दावे की जांच

क्वालिटी कंट्रोल ऑफ इंडिया की टीम नगर निगम के दावे की जांच कर रही है। केंदीय टीम के पहुंचने की सूचना पर अपर नगर आयुक्त, सफाई शीला ईरानी और अपर नगर आयुक्त राजस्व देवेंद्र प्रसाद तिवारी भी फील्‍ड में उतर गए। स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 के परिणाम अप्रैल माह के अंत या मई माह के प्रथम सप्ताह में आने की संभावना है। स्वच्छता सर्वेक्षण 31 मार्च तक चलना है। केंद्रीय टीम पटनावासियों से भी फीडबैक ले रही है।

सफाई की व्‍यवस्‍था मुस्‍तैद की गई

केंद्रीय टीम के आने की जानकारी मिलने की सूचना के साथ पटना नगर निगम के सभी अंचलों के कार्यपालक पदाधिकारी गुरुवार को असल सुबह ही अपने-अपने क्षेत्र में निकल गए। स्लम बस्ती से लेकर सभी क्षेत्रों में विशेष सफाई अभियान चलाया गया। स्वीपिंग मशीन से सड़कों की सफाई हुई ।

बता दें कि पटना नगर निगम ओडीएफ प्लस घोषित हो गया। टीम सार्वजनिक शौचालय, स्लम क्षेत्र की स्थिति में सुधार, पटना शहर की सफाई व्यवस्था, गीला-सूखा कचरा अलग-अलग संग्रह करने और उसका प्रबंधन करने की व्यवस्था का जायजा ले रही है। टीम ने गंदे पानी के री-साइकलिंग का भी निरीक्षण किया

पिछले वर्ष पटना 47वें पायदान पर रहा

स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 में देश के 53 शहर भाग ले रहे हैं। पिछले वर्ष 47 शहर भाग लिए थे और पटना सबसे अंतिम यानी 47वां स्थान पर था। इस बार पटना नगर निगम अंक अर्जित करने के लिए लंबे समय से प्रयासरत है। टॉप 20 में पटना को आने का लक्ष्य रखकर कार्य हो रहे हैं। स्वच्छता सर्वेक्षण 31 मार्च 2021 तक चलना है। पटनावासियों के हाथों में 950 अंक हैं। आठ सवालों के ऑन आइन फीड बैक देने पर 600 नंबर शामिल है। इसी में केंद्रीय टीम के अंक भी जुड़ेंगे। स्वच्छता एप पर शिकायत दर्ज कराने पर 350 अंक मिलने वाले हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.