पटना हाईकोर्ट ने मांगी पूर्व सांसद पप्पू यादव के खिलाफ लंबित मुकदमों की स्टेटस रिपोर्ट

पूर्व सांसद पप्पू यादव के खिलाफ विभिन्न अदालतों में लंबित आपराधिक मुकदमों की स्टेटस रिपोर्ट एक हफ्ते में पेश करने का आदेश दिया है। मुख्य न्यायाधीश संजय करोल एवं न्यायाधीश एस कुमार की खंडपीठ ने राज्य के एमपी-एमएलए से जुड़े लंबित आपराधिक मामलों पर सुनवाई करते हुए उक्त आदेश दिया।

Akshay PandeyPublish:Thu, 02 Dec 2021 09:12 PM (IST) Updated:Thu, 02 Dec 2021 09:12 PM (IST)
पटना हाईकोर्ट ने मांगी पूर्व सांसद पप्पू यादव के खिलाफ लंबित मुकदमों की स्टेटस रिपोर्ट
पटना हाईकोर्ट ने मांगी पूर्व सांसद पप्पू यादव के खिलाफ लंबित मुकदमों की स्टेटस रिपोर्ट

राज्य ब्यूरो, पटना : पटना हाईकोर्ट ने गुरुवार को पूर्व सांसद व जन आधिकार पार्टी (जाप) के अध्यक्ष पप्पू यादव के खिलाफ राज्य की विभिन्न अदालतों में लंबित आपराधिक मुकदमों की स्टेटस रिपोर्ट एक हफ्ते में पेश करने का आदेश दिया है। मुख्य न्यायाधीश संजय करोल एवं न्यायाधीश एस कुमार की खंडपीठ ने राज्य के एमपी-एमएलए से जुड़े लंबित आपराधिक मामलों पर सुनवाई करते हुए उक्त आदेश दिया। मुख्य न्यायाधीश की खडपीठ ने हाईकोर्ट में लंबित पड़े एमपी एमएलए से जुड़े करीब 10 अलग अलग आपराधिक मामले पर सुनवाई की।

हाल ही में बरी होकर निकले हैं पप्पू यादव

मुख्य न्यायाधीश की खंडपीठ  एमपी-एमएलए से जुड़े मामलों की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट से पारित आदेश के आलोक में कर रही है। सुनवाई के दौरान पप्पू यादव की दो याचिकाएं मुरलीगंज थाना कांड संख्या 9/1989 के सिलसिले में थी, जिसमें पप्पू हाल में बरी होकर निकले थे। याचिकाकर्ता की तरफ से दोनो याचिकाओं को वापस लेने की अर्जी दी गई। इस पर हाईकोर्ट ने कहा कि पप्पू यादव की जमानत अर्जी में जिक्र है कि उन पर 31 आपराधिक मामले दर्ज हुए हैं। कोर्ट ने कहा कि एक मामले में बरी होने से याचिकाएं निष्पादित नहीं हो सकती हैं। सभी 31 मामले से जुड़े मुकदमो की करेंट स्टेटस रिपोर्ट  का अवलोकन जरूरी है। 

इनके मामले की सुनवाई एक हफ्ते के लिए स्थगित

मुख्य न्यायाधीश की खंडपीठ में पप्पू यादव एवं मोकामा विधायक अनंत सिंह की दो याचिकाएं सूचीबद्ध थी। इसके साथ साथ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के खिलाफ दायर हुआ परिवाद, हत्या कांड में दोषी करार हुए और जेल में बंद पूर्व विधायक सुनील कुमार पुष्पम और अन्य एमएलए /एमपी से जुड़े मामले सूचीबद्ध थे, जिसमें से बाकी मामलों की सुनवाई एक हफ्ते के लिए स्थगित हो गई है। बता दें कि पूर्व सांसद व जन आधिकार पार्टी (जाप) के अध्यक्ष पप्पू यादव बरी होकर जेल से बाहर हैं।