दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

Patna Crime: आधी रात को प्रेमिका ने फोन कर बुलाया, पांच दिन बाद कुएं से मिला युवक का शव

प्रेमिका और उसकी मां हो चुकी है गिरफ्तार। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

Murder in Patna प्राथमिकी में बताया था कि छह मई की रात 1130 बजे छोटा भाई धीरज कुमार भतीजा तिरंगा के साथ छत पर सोया था। रात में छोटे भाई के मोबाइल पर फोन आया तब वह भतीजा को बोलकर गया कि दस मिनट में आ रहा है।

Shubh Narayan PathakWed, 12 May 2021 12:35 PM (IST)

पटना सिटी, जागरण संवाददाता। दीदारगंज थाना क्षेत्र के रायबाग से छह मई की रात लापता 23 वर्षीय धीरज का शव आरोपितों के घर से 100 मीटर की दूरी पर स्थित कुआं से मंगलवार की सुबह मिला। शव मिलते ही गांव में सनसनी फैल गई। कुआं से उठती दुर्गंध के कारण काफी दूर पर खड़े होकर ग्रामीण रोते बिलखते दिखे। मृतक के शव पर चोट के निशान हैं। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए नालंदा मेडिकल कॉलेज भेजा। हत्या में शामिल अन्य आरोपितों की खोज जारी है।

कुआं मालिक ने देखा दुर्गंधयुक्त शव

रायबाग के भूषण ने बताया कि मंगलवार की सुबह लगभग आठ बजे खेत में केला काटने गए तो तेज दुर्गंध मिला। वह नाक में गमछा बांधकर उठती दुर्गंध की ओर बढ़ा तो देखा कि कुआं में एक युवक का शव है। इसके बाद उन्होंने आसपास के ग्रामीणों को कुआं में शव होने की बात बताई। शव मिलने की सूचना तेजी से गांव में फैली। काफी संख्या में लोग कुआं से कुछ दूरी पर इकट्ठा हो गए। इस दौरान पहुंचे लोगों ने कुआं में मिले शव की पहचान पांच दिनों से लापता धीरज के रूप में किया।

धीरज की आंख व जीभ निकली थी, पैर बंधा था

सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से कुआं से शव निकलवाया। धीरज के शरीर पर काफी चोट के निशान पाए गए। उसकी आंख और जीभ बाहर निकली थी और पैर बंधा था। शव को पोस्टमार्टम के लिए नालंदा मेडिकल कॉलेज भेजा गया। दीदारगंज थानाध्यक्ष राजेश कुमार का प्रथम दृष्टया मानना है कि आरोपितों द्वारा धीरज की गला दबाकर हत्या करने के बाद शव छुपाने की नीयत से कुआं में डाल दिया गया होगा। इस मामले में पुलिस ने सोमवार आरोपित मां गीता देवी व पुत्री पिंकी कुमारी को जेल भेज चुकी है। दो अन्य संदिग्धों को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है।

मृतक के भाई ने अपहरण सह हत्या की कराई थी प्राथमिकी

रायबाग के गौरी प्रसाद ने प्राथमिकी में बताया था कि छह मई की रात 11:30 बजे छोटा भाई धीरज कुमार भतीजा तिरंगा के साथ छत पर सोया था। रात में छोटे भाई के मोबाइल पर फोन आया तब वह भतीजा को बोलकर गया कि दस मिनट में आ रहा है। नहीं लौटने पर स्वजनों ने धीरज का अपहरण करने के बाद हत्या की आशंका जताते दो दिन बाद प्राथमिकी दर्ज कराई।

प्रेमिका और उसके परिवार पर हत्‍या का आरोप

स्वजनों ने बताया कि धीरज और पिंकी की मोहब्बत परवान चढ़ गयी थी। दोनों प्रतिदिन मोबाइल से बात भी करते थे। भाई गौरी ने प्रेम-प्रसंग की आरोपित लड़की पिंकी देवी, उसके पिता सुशील सिंह, मां गीता देवी, भाई जीतेंद्र कुमार व धनंजय कुमार, भाभी खुशबू देवी व अन्य पर मिलकर धीरज का अपहरण कर हत्या कर शव को कहीं छुपा देने की आशंका जताई थी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.