हादसे में घायल मरीजों को अब पटना के इस अस्‍पताल में मिलेगा तुरंत उपचार, इसी महीने से शुरू होगा ट्रामा सेंटर

बिहार में सड़क दुर्घटना के बाद मरीजों को अब अधिक स्‍पेशलाइज उपचार मिल सकेगा। पटना के राजवंशी नगर स्थित लोकनायक जयप्रकाश नारायण (एलएनजेपी) हड्डी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल परिसर में नवनिर्मित ट्रामा सेंटर को इसी माह शुरू करने की योजना है।

Shubh Narayan PathakPublish:Sun, 05 Dec 2021 11:28 AM (IST) Updated:Sun, 05 Dec 2021 11:28 AM (IST)
हादसे में घायल मरीजों को अब पटना के इस अस्‍पताल में मिलेगा तुरंत उपचार, इसी महीने से शुरू होगा ट्रामा सेंटर
हादसे में घायल मरीजों को अब पटना के इस अस्‍पताल में मिलेगा तुरंत उपचार, इसी महीने से शुरू होगा ट्रामा सेंटर

पटना, जागरण संवाददाता। बिहार में सड़क दुर्घटना के बाद मरीजों को अब अधिक स्‍पेशलाइज उपचार मिल सकेगा। पटना के राजवंशी नगर स्थित लोकनायक जयप्रकाश नारायण (एलएनजेपी) हड्डी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल परिसर में नवनिर्मित ट्रामा सेंटर को इसी माह शुरू करने की योजना है। इसी क्रम में शनिवार को इमरजेंसी को ट्रामा सेंटर में शिफ्ट कर दिया गया है। नए कारपोरेट लुक के अस्पताल में अभी हड्डी हास्पिटल की पुरानी इमरजेंसी की सुविधाएं ही मिलेंगी। 24 घंटे ट्रामा सेंटर संचालन के लिए अभी कुछ हड्डी, न्यूरो और एनीस्थीसिया विशेषज्ञों की जरूरत है।

निदेशक डा. सुभाष चंद्रा ने बताया कि ट्रामा सेंटर जल्द शुरू करने की तैयारी है। फिलहाल हड्डी हास्पिटल की इमरजेंसी को ट्रामा सेंटर के भवन में शिफ्ट कर दिया गया है। यहां के बेहतर माहौल में सुव्यवस्थित तरीके से इमरजेंसी सेवाएं संचालित की जा सकेंगी। साथ ही इस माहौल में काम करने में डाक्टरों और कर्मचारियों को भी बेहतर लगेगा। ट्रामा सेंटर में शिफ्ट हुई हड्डी अस्पताल की इमरजेंसी नए कारपोरेट लुक के ट्रामा सेंटर में अभी मिलेंगी पुरानी सुविधाएं   ट्रामा सेंटर को इसी माह पूरी क्षमता के साथ शुरू करने की है योजना

ट्रामा सेंटर शुरू करने की तैयारियां अंतिम चरण में

डा. सुभाष चंद्रा ने बताया कि लेवल-2 के ट्रामा सेंटर को शुरू करने की तैयारियां अंतिम चरण में हैं। सभी सामान को सुव्यवस्थित किया जा रहा है। ट्रामा सेंटर शुरू होने से अस्पताल में चार आपरेशन कक्ष हो जाएंगे और रोगियों को इसके लिए लंबे समय इंतजार नहीं करना पड़ेगा। ट्रामा सेंटर अत्याधुनिक चिकित्सा उपकरणों से सुसज्जित है।

एक नजर में सुविधाएं सीटी स्कैन, डिजिटल एक्स-रे और पैथाेलाजी की सुविधा 30 बेड का है ट्रामा सेंटर 10 बेड आइसीयू और 20 बेड सामान्य 120 बेड पहले से हैं एलएनजेपी हास्पिटल में। 1200 लीटर क्षमता का आक्सीजन जेनरेशन क्रायोजेनिक प्लांट किया गया है स्थापित 500 से 600 मरीज अभी हर दिन ओपीडी में पहुंचते हैं इलाज कराने।