पटना में लंबे अरसे के बाद कोरोनावायरस संक्रमण से मरीज की मौत, एम्‍स में इलाज के बावजूद नहीं बची जान

Bihar Coronavirus Omicron Update कोरोनावायरस के नए स्‍ट्रेन ओमिक्रोन को लेकर बिहार का स्‍वास्‍थ्‍य महकमा पूरी तरह सतर्क हो गया है। वायरस का यह स्‍ट्रेन अभी अपने देश में नहीं मिला है इसलिए फिलहाल अधिक जोर विदेश से आने वालों को ट्रेस और टेस्‍ट करने पर है।

Shubh Narayan PathakFri, 03 Dec 2021 06:46 AM (IST)
बिहार में भी ओमिक्रोन वैरिएंट को लेकर बरती जा रही सतर्कता। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

पटना, जागरण संवाददाता। Bihar Coronavirus Omicron Update: कोरोनावायरस के नए स्‍ट्रेन ओमिक्रोन को लेकर बिहार का स्‍वास्‍थ्‍य महकमा पूरी तरह सतर्क हो गया है। वायरस का यह स्‍ट्रेन अभी अपने देश में नहीं मिला है, इसलिए फिलहाल अधिक जोर विदेश से आने वालों को ट्रेस और टेस्‍ट करने पर है। यह सतर्कता आम आदमी के स्‍तर से भी जरूरी है। ऐसा इसलिए भी क्‍योंकि कोरोना वायरस का संक्रमण न तो खत्‍म हो गया है और न ही इससे होने वाली मौतें। पटना एम्स में 14 दिनों से भर्ती कोरोना संक्रमित 80 वर्षीय बुजुर्ग की इलाज के क्रम में मौत हो गई। वे नेहरू नगर के निवासी थे और छठ के समय रांची से आए थे। उनका पुत्र लखनऊ से आया था। कोरोना की पुष्टि होने के बाद दोनों को एम्स में भर्ती कराया गया था।

पटना जिले में करीब एक माह बाद कोरोना से किसी की मृत्यु हुई है। इसके साथ ही जिले में कोरोना से मरने वालों की संख्या 2337 हो गई है। गुरुवार की शाम गुलबी घाट में कोरोना मानकों के अनुरूप उनका अंतिम संस्कार किया गया। एम्स के कोरोना नोडल पदाधिकारी डा. संजीव कुमार ने बताया कि नेहरू नगर निवासी बुजुर्ग पहले से मधुमेह और ब्लड प्रेशर के मरीज थे। उनका यात्रा इतिहास था और उसी क्रम में संक्रमित हुए थे। विगत 14 दिन से वे एम्स में भर्ती थे। उनकी हालत लगातार गंभीर बनी हुई थी। पुत्र की हालत में काफी सुधार है। एम्स में कोरोना के लिए आरक्षित 10 बेड में से अभी तीन पर मरीज भर्ती हैं।

14 दिन से पटना एम्स में भर्ती कोरोना संक्रमित मरीज की मौत नेहरू नगर निवासी 80 वर्षीय बुजुर्ग छठ के समय आए थे रांची से मधुमेह और ब्लड प्रेशर के थे रोगी, संक्रमित पुत्र की हालत में सुधार

संक्रमितों के बढऩे के साथ बढ़ाए जाएंगे बेड

डा. संजीव कुमार ने बताया कि अभी कोरोना संक्रमितों के लिए 10 बेड आरक्षित हैं। जैसे-जैसे मरीजों की संख्या बढ़ेगी बेड की संख्या बढ़ती जाएगी। हम 550 बेड पर संक्रमितों को भर्ती कर उपचार करने के लिए तैयार हैं।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.