बिहार में विधायक बनते ही खुल जाती है किस्‍मत, दिवंगत होने पर पत्नियों को भी इतनी मिलती है पेंशन

बिहार के दिवंगत 446 विधायकों की पत्नियों को मिल रही पेंशन। सालाना सालाना 23 करोड़ 85 लाख रुपये पारिवारिक पेंशन पर खर्च। दिवंगत महावीर चौधरी की पत्‍नी को सबसे ज्‍यादा मिलती है पेंशन। सूचना के अधिकार कानून से यह बात सामने आई है।

Vyas ChandraSat, 25 Sep 2021 01:22 PM (IST)
बिहार विधानसभा का सदस्‍य बनते ही खुल जाती है किस्‍मत। सांकेतिक तस्‍वीर

दीनानाथ साहनी, पटना। राज्य में सिर्फ पूर्व विधायक ही पेंशन से निहाल नहीं हो रहे हैं, बल्कि दिवंगत 446 विधायकों की विधवाएं भी पारिवारिक पेंशन (Family Pension) के सहारे हैं।  इनमें पटना जिले में सर्वाधिक 30 दिवंगत विधायकों की पत्नियां शामिल हैं। जबकि दूसरे स्थान पर मुजफ्फरपुर है। इस जिले में 23 दिवंगत विधायकों की विधवाओं को पेंशन मिल रही है। तीसरे स्थान पर पूर्णिया, दरभंगा और पूर्वी चंपारण जिला संयुक्त रूप से हैं जहां के दिवंगत 20-20 विधायकों की विधवाएं पेंशन पा रही हैं। सूचना का अधिकार कानून (RTI) से विधानसभा सचिवालय ने यह जानकारी मुहैया कराई है।

महावीर चौधरी की पत्‍नी को मिल रही 1,09,500 रुपये की मासिक पेंशन 

विधानसभा सचिवालय से प्राप्त आंकड़ों पर गौर करें तो दिवंगत राजनीतिज्ञों की पत्नियों को दी जा रही पारिवारिक पेंशन पर 23 करोड़ 85 लाख रुपये खर्च हो रही है। पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गुलाम सरकार की पारिवारिक पेंशन का लाभ पत्नी निशा बेगम को मिल रहा है। उन्हें हर माह 62,250 रुपये बैंक खाते में भेजी जा रही है। इसी तरह पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष जगबंधु अधिकारी की पारिवारिक पेंशन उनकी पत्नी गौरी अधिकारी को 69 हजार रुपये दी जा रही है।

पूर्व मंत्री वीणा शाही को पति की पेंशन भी मिल रही 

पूर्व मंत्री वीणा शाही को उनकी पेंशन 56 हजार रुपये मिल रही है। इसके अलावा पूर्व विधायक हेमंत शाही की बतौर पारिवारिक पेंशन 26,250 रुपये प्रतिमाह उन्हें दिया जा रहा है। पूर्व मंत्री रह चुकी प्रो.सुखदा पाण्डेय को भी पारिवारिक पेंशन के तहत प्रतिमाह 62 हजार रुपये की राशि दी जा रही है। बिहार विधानसभा सचिवालय द्वाराआरटीआई कार्यकर्ता शिवप्रकाश राय को दी गई जानकारी के मुताबिक ऐसे डेढ़ दर्जन दिवंगत राजनीतिज्ञ हैं जिनकी पारिवारिक पेंशन 70 हजार से एक लाख रुपये के बीच है और इसका लाभ उनके पत्नियों को मिल रहा है। शकील अहमद खान की पारिवारिक पेंशन 62,250 रुपये उनकी पत्नी तमन्ना शकील को दी जा रही है। 

सर्वाधिक राशि पाने वाली पेंशन धारक

वीणा देवी (पति महावीर चौधरी) : 1,09,500 रुपये विभा सिंह (पति दिनेश कुमार सिंह) : 87,000 रुपये  विष्णुमाया मिश्र (पति सरयू मिश्र) : 84,750 रुपये चंद्रकला देवी (पति महावीर प्रसाद) : 84,750 रुपये जारदा देवी (पति नरसिंह बैठा) : 84,750 रुपये मालती देवी (पति जागेश्वर मंडल) : 82,250रुपये प्रमिला देवी (पति शशि कुमार राय) : 80,250 रुपये चिंता देवी (पति बालेश्वर राम) : 78,000 रुपये राजकुमारी देवी (पति पीताम्बर पासवान) : 78,000रुपये  उर्मिला देवी (पति आदित्य सिंह) : 78,000 रुपये सईदा बनो (पति मो.हुसैन आजाद) : 78,000 रुपये साइदा खातुन (पति शकुर अहमद) : 75,750 रुपये गायत्री देवी (पति शंकर प्रसाद टेकरीवाल) : 75,750 रुपये माया देवी (पति उमा शंकर सिंह) : 75,500 रुपये गिरजा देवी (पति बैद्यनाथ पाण्डेय) : 73,750 रुपये पार्वती देवी (अम्बिका प्रसाद) : 73,500 रुपये  पार्वती देवी (पति राजकुमार पूर्वे) : 73,500 रुपये आलम आरा (रफीक आलम) : 71,250 रुपये

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.