ढाई किलो गाजा और नौ पुड़िया ब्राउन शूगर के साथ नौ बदमाश पकड़ाए

परसा पुलिस ने नशे के सौदागरों का किया पर्दाफाश

फुलवारीशरीफ। परसा के एतवारपुर में गुप्त सूचना के आधार पर छापेमारी करने पहुंची पुलिस ने गांजा और ब्राउन शूगर के साथ नौ लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस को सूचना मिली थी कि गांव में शाम होते ही गणेश कुमार के घर पर मयखाना सजता है। थानेदार जयप्रकाश ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर पहले तो एतवारपुर निवासी गणेश कुमार के मकान की घेराबंदी की गई। पुलिस को देख वहा भगदड़ मच गई। घटनास्थल से 7 लोगों को गिरफ्तार कर जब पुछताछ की गई तो मालूम हुआ कि सुईथा गाव से भी इसका तार जुड़ा है। त्वरित कार्रवाई करते हुए निशानदेही पर सुईथा गाव निवासी देवेन्द्र सिंह और मुन्ना साव के घर पर छापेमारी की गई तो वहा से भी भारी मात्रा में गांजा बरामद किया गया। इस छापेमारी में राजू कुमार, रजनीश कुमार, ओम प्रकाश, दीपू कुमार, सोनू कुमार, गणेश कुमार, शशि कुमार, देवेन्द्र सिंह व मुन्ना साव को गिरफ्तार किया गया। इनके पास से ढाई किलो गाजा, 9 पुड़िया ब्राऊन शूगर, एक कारतूस, 12 मोबाइल, 26 हजार नगद बरामद किया गया।

शराबी पति को भिजवाया जेल

मसौढ़ी । भगवानगंज थाना के बेदौली गाव में बीते सोमवार की रात शराब के नशे में धुत होकर घर में हंगामा कर रहे पति से आजिज पत्नी ने तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया और मंगलवार को जेल भेज दिया। मिली जानकारी के मुताबिक बेदौली ग्रामवासी राजीव कुमार को दारू पीने की लत है। वह अक्सर दारू पीकर घर आता था ओर घर में हंगामा करता था। बीते सोमवार की रात भी वह दारू पीकर घर आया और हंगामा करने लगा।

शराब के साथ महिला तस्कर गिरफ्तार

बख्तियारपुर । बख्तियारपुर स्टेशन से रेल पुलिस ने शराब के साथ एक महिला तस्कर को गिरफ्तार किया है। रेल थानाध्यक्ष सुशील कुमार ने बताया कि प्लेटफॉर्म गश्ती के दौरान पोर्टिको से एक महिला को एक बैग शराब के साथ गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार महिला शीला देवी हरनौत नालंदा निवासी के बैग से 50 टेट्रा पैक अंग्रेजी शराब बरामद हुई है। उसे मंगलवार को जेल भेज दिया गया।

अवैध शराब के खिलाफ छापेमारी करने पहुंची आबकारी की टीम पर हमला

मसौढ़ी । धनरुआ थाना के तेतरी मुसहरी में मंगलवार की अल सुबह दो वाहनों से अवैध शराब के खिलाफ छापेमारी करने पहुंची आबकारी विभाग की टीम पर ग्रामीणों ने हमला कर दिया। टीम ने शक के आधार पर एक युवक को शराब पीने के जुर्म में पकड़ा था। इससे गुस्साए ग्रामीणों ने आबकारी विभाग की टीम पर जमकर रोड़ेबाजी कर दोनों वाहनों के शीशे तोड़ दिए। इस घटना में आबकारी विभाग के कई पुलिसकर्मी चोटिल भी हो गए। इस दौरान आक्रोशित ग्रामीणों के तेवर देख छापेमारी दल की पूरी टीम गिरफ्तार युवक को छोड़ जान बचाकर मौके से भाग निकली। ग्रामीणों की मानें तो आबकारी की टीम अवैध शराब के खिलाफ छापेमारी के नाम पर शराब का कारोबार करने वाले धंधेवाजों से वसूली करने आई थी। इधर धंधेवाजों द्वारा नजराना नहीं दिए जाने पर आबकारी टीम बेकसूर ग्रामीणों को गिरफ्तार करने लगी। बस इसी को लेकर ग्रामीण आक्रोशित हो उठे और उनपर रोड़ेबाजी कर हमला कर दिए। इस संबंध में सहायक उत्पाद आयुक्त, पटना ने बताया कि धनरुआ के तेतरी मुसहरी में विभाग की टीम द्वारा छापेमारी किये जाने की सूचना उन्हें नहीं दी गई थी। यह मामला फि़लहाल उनके संज्ञान में नहीं आया है। बावजूद वे बुधवार को ऑफिस जाकर इस बारे में पता करेंगे। धनरुआ थानाध्यक्ष अजय कुमार सिंह ने बताया कि आबकारी की टीम जब भी उनके थानाक्षेत्र में छापेमारी करने आती है उसकी सूचना उन्हें पूर्व में ही दी जाती है, पर अफसोस कि इस बार उन्हें इसकी सूचना नहीं दी गई।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.