रामायण के मधुवन की याद दिलाएगा बिहार का यह मंकी हाउस, फलदार पेड़ों पर ऐश फरमाएंगे बंदर

बिहार के अररिया में बनेगा 10 एकड़ में फैला मंकी हाउस फलदार पेड़ दिलाएंगे रामायण के मधुवन की याद उत्पाती बंदरों के लिए रानीगंज में दस एकड़ में मंकी हाउस बनेगा पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री नीरज सिंह ने विधानसभा में दी जानकारी

Shubh Narayan PathakTue, 09 Mar 2021 08:54 AM (IST)
बिहार के रानीगंज में सरकार बनवाएगी मंकी हाउस। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

पटना, राज्य ब्यूरो। Monkey House in Bihar: रामायण की कहानी में किष्‍क‍िंधा के मधुवन का जिक्र आता है, जहां माता सीता की खोज कर लाैटे हनुमान और जामवंत की टोली में शामिल वानरों ने खूब फल खाए थे और जमकर उत्‍पात किया था। अब एक ऐसा ही मधुवन बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार बनवाने जा रहे हैं। यह वन बिहार के अररिया जिले में बनाया जाएगा। 10 एकड़ के इस वन में बंदरों के खाने के लिए तरह-तरह के फलदार वृक्ष लगाए जाएंगे। यह वन पूरी तरह बंदरों को समर्पित होगा। बिहार के शहरों और गांवों में उत्‍पात मचाने वाले बंदर अब पकड़े जाने के बाद यहीं लाकर रखे जाएंगे।

अररिया के रानीगंज में बनेगा 10 एकड़ का मंकी हाउस

उत्पाती बंदरों के लिए अररिया जिले रानीगंज में दस एकड़ में मंकी हाउस बनाया जाएगा। बंदरों को पकड़ कर वहां रखा जाएगा। मंकी हाउस कई फलदार वृक्ष भी लगाए जाएंगे। पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री नीरज सिंह ने सोमवार को विधानसभा में अपने विभाग के बजट पर हुई चर्चा के बाद यह जानकारी दी।

घोड़परासों की नसबंदी कराएगी बिहार सरकार

नीरज सिंह ने घोड़परास के कारण उत्पन्न किसानों की समस्या से अगले वर्ष तक निजात मिल जाएगी। इसके स्थायी समाधान के लिए इन्हें पकड़कर इनकी नसबंदी की जाएगी और जंगल में छोड़ दिया जाएगा। पौधरोपण की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि अगले वित्तीय वर्ष पांच करोड़ पौधे लगाए जाएंगे। पर्यावरण का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि पर्यावरण के लिए लाल ईंट भट्ठा सबसे अधिक नुकसानदेह है। इन्हें नियोजित कर जिग-जैग तकनीक से दुरुस्त किया जा रहा। जो दुरुस्त नहीं होंगे उन्हें सख्ती से बंद कर दिया जाएगा। अवैध आरा मिलों को भी बंद किया जाएगा।

पटना से वाल्मिकीनगर के लिए शुरू होगी बस सेवा

नीरज सिंह ने कहा कि इको टूरिज्म को बढ़ावा दिए जाने के लिए पटना से वाल्मीकिनगर के बीच हफ्ते में दो दिन सीधी बस सेवा शुरू की जाएगी। पटना में पंद्रह वर्ष पुराने बसों के परिचालन को प्रतिबंधित किया गया है। जल्द राजगीर जू सफारी भी शुरू होगा। वीरपुर के मानसरोवर झील को भी विकसित किए जाने का लक्ष्य है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.