वीर कुंवर सिंह विश्‍वविद्यालय में पीजी नामांकन की मेरिट लिस्‍ट जल्‍द, स्‍नातक पास कोर्स में डायरेक्‍ट एडमिशन

VKSU Admission Schedule वीर कुंवर सिंह विवि में स्नातक पार्ट वन सत्र 2021-24 में एडमिशन की रफ्तार तेज हो गई है। दूसरी सूची से मंगलवार की शाम तक कुल 1500 छात्र-छात्राओं का एडमिशन हुआ। एडमिशन की रफ्तार विवि के सिर्फ नौ विषयों में तेज है।

Shubh Narayan PathakWed, 08 Sep 2021 09:47 AM (IST)
वीर कुंवर सिंह विवि का भवन। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

आरा, जागरण संवाददाता। Veer Kunwar Singh University News: वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय में स्नातकोत्तर (पीजी) के नए सत्र 2020-22 में नामांकन के लिए पहली मेधा सूची 10 सितंबर को जारी होगी। मेधा सूची बनाने की प्रक्रिया जारी है। छात्र कल्याण अध्यक्ष डा. सिद्धेश्वर नारायण सिंह ने बताया कि पीजी सेमेस्टर वन में एडमिशन की प्रक्रिया शुरू करने के लिए तैयारी अंतिम चरण में है। आगामी 10 सितंबर को पहली मेधा सूची जारी की जाएगी। एडमिशन के लिए गत पांच सितंबर तक आनलाइन आवेदन किया गया है। नामांकन के लिए कुल 17,799 आनलाइन आवेदन आए हैं। जबकि विभिन्न 20 स्नातकोत्तर विभागों में कुल 5,500 सीटें  हैं।

स्नातक में नामांकन की बढ़ी रफ्तार

वीर कुंवर सिंह विवि में स्नातक पार्ट वन सत्र 2021-24 में एडमिशन की रफ्तार तेज हो गई है। दूसरी सूची से मंगलवार की शाम तक कुल 1500 छात्र-छात्राओं का एडमिशन हुआ। एडमिशन की रफ्तार विवि के सिर्फ नौ विषयों में तेज है। शेष विषयों में एडमिशन की प्रक्रिया धीमी है। छात्र कल्याण विभाग ने बताया कि गत चार सितंबर को दूसरी मेधा सूची जारी की गई थी। लेकिन दो दिनों तक कोई एडमिशन नहीं हो सका था। दो दिन बाद एडमिशन की प्रक्रिया रफ्तार पकड़ी है। अंतिम तिथि तक 25 हजार एडमिशन करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

20 सितंबर तक स्नातक पासकोर्स में नामांकन

वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय में स्नातक पार्ट वन सत्र 2021-24, पास कोर्स में एडमिशन के लिए इच्छुक विद्यार्थियों के लिए अच्छी खबर है। जिन विद्यार्थियों ने पासकोर्स में एडमिशन के लिए आनलाइन आवेदन किया है। वे आगामी 20 सितंबर तक पासकोर्स की पढ़ाई करने वाले कालेजों में एडमिशन ले सकते हैं। छात्र कल्याण अध्यक्ष डा. सिद्धेश्वर नारायण सिंह ने बताया कि पासकोर्स में एडमिशन के लिए मेधा सूची का प्रकाशन नहीं किया जाएगा। पासकोर्स में एडमिशन के लिए कुल तीन हजार विद्यार्थियों ने आनलाइन आवेदन किया है।

11 वर्षों के बाद भी लाइब्रेरी साइंस का नहीं मिला प्रमाणपत्र

वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय प्रशासन लाइब्रेरी साइंस का प्रमाण-पत्र 11 साल बाद भी छात्रों को उपलब्ध नहीं करा सका है। इसके कारण छात्रों में आक्रोश है। जगदीशपुर के मोहम्मद वसीम ने बताया कि उन्होंने लाइब्रेरी साइंस की पढ़ाई सत्र 2009-10 में की थी। लेकिन विवि प्रशासन अभी तक मूल प्रमाण-पत्र नहीं दे सका है। इस बावत परीक्षा नियंत्रक डा. अनवर इमाम से मिला। लेकिन नतीजा बेनतीजा निकला। डा. इमाम ने बताया कि शिक्षा विभाग ने ऐसे पाठ्यक्रम का मूल प्रमाण-पत्र देने से मना कर दिया है, जिनकी मान्यता शिक्षा विभाग ने नहीं दी थी। उन्होंने बताया कि विवि प्रशासन ने संबद्धन की प्रत्याशा में विवि में लाइब्रेरी साइंस की पढ़ाई शुरू की गई थी। लेकिन शिक्षा विभाग ने संबद्धन देने से इन्कार कर दिया।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.