कोरोना के नए रूप ओमिक्रोन से मुकाबले को एमसीएच तैयार

कोरोना के नए रूप ओमिक्रोन से संक्रमित मरीजों का इलाज करने के लिए नालंदा मेडिकल कालेज अस्पताल के अधीन एक सौ बेड वाला मदर एंड चाइल्ड हास्पिटल (एमसीएच) पूरी तरह से तैयार है।

JagranPublish:Wed, 01 Dec 2021 01:44 AM (IST) Updated:Wed, 01 Dec 2021 01:44 AM (IST)
कोरोना के नए रूप ओमिक्रोन से मुकाबले को एमसीएच तैयार
कोरोना के नए रूप ओमिक्रोन से मुकाबले को एमसीएच तैयार

पटना सिटी । कोरोना के नए रूप ओमिक्रोन से संक्रमित मरीजों का इलाज करने के लिए नालंदा मेडिकल कालेज अस्पताल के अधीन एक सौ बेड वाला मदर एंड चाइल्ड हास्पिटल (एमसीएच) पूरी तरह से तैयार है। अधीक्षक प्रो. डा. विनोद कुमार सिंह ने बताया कि यहां तीनों पाली में डाक्टरों को तैनात किया गया है। 60 बेड बड़े मरीजों तथा 40 बेड बच्चा मरीजों के लिए सुरक्षित हैं। सभी बेड पर बाधा रहित 24 घंटे आक्सीजन की व्यवस्था है। वेंटिलेटर और आवश्यक सभी दवाइयां उपलब्ध हैं। डाक्टरों एवं स्वास्थ्य कर्मियों के साथ पूरी व्यवस्था अलर्ट मोड में है। विभाग के आला अधिकारियों से लगातार मिल रहे दिशा-निर्देश अनुसार नए वेरिएंट से मुकाबला करने के लिए एनएमसीएच सतर्क व सक्रिय है। कोरोना मामलों के विशेषज्ञ एवं एनएमसीएच में मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष डा. अजय कुमार सिन्हा ने बताया कि ओमिक्रोन के स्वरूप और इलाज को लेकर डाक्टरों के साथ बातचीत का सिलसिला जारी है। देश व प्रदेश में इसके प्रवेश तथा विस्तार को रोकने की दिशा में विशेष सतर्कता जरूरी है। इसमें नागरिकों का अहम रोल होगा। घर, परिवार व समाज में विदेशों से आने वाले लोगों को लेकर सावधानी और सतर्कता बरतनी होगी। डा. सिन्हा ने कहा कि कोरोना के अधिक से अधिक मरीजों का इलाज कर उन्हें स्वस्थ करने का एनएमसीएच की टीम का अनुभव नए वेरिएंट से मुकाबला कर उसे हराने में काम आएगा।

- 60 बेड बड़ों और 40 बेड बच्चों के लिए सुरक्षित

- सभी बेड पर आक्सीजन, वेंटिलेटर व दवाइयां उपलब्ध

- अधीक्षक बोले- डाक्टरों व स्वास्थ्य कर्मियों की टीम व व्यवस्था अलर्ट