HIGHLIGHTS Chirag Paswan & LJP News: दिल्‍ली में चिराग ने चाचा को कहा धोखेबाज, पारस बोले- जवाब जरूर दूंगा

HIGHLIGHTS Chirag Paswan LJP News Updates एनडीए के घटक दल एलजेपी मे मचे घमासान के बीच चिराग पासवान अकेले पड़ गए हैं। हालांकि दिल्‍ली में बुधवार की शाम उन्‍होंने अपनी बात रखी है। उधर एक बागी एलजेपी सांसद प्रिंस पासवान पर दुष्‍कर्म का आरोप लगा है।

Amit AlokWed, 16 Jun 2021 10:43 AM (IST)
पशुपति पारस एवं चिराग पासवान। फाइल तस्‍वीरें।

पटना, जागरण टीम। LJP/ Chirag Paswan Controversy HIGHLIGHTS लोक जनशक्ति पार्टी में घमासान मचा है। दो-फाड़ हो चुकी पार्टी में चिराग पासवान अकेले पड़ गए हैं। एलजेपी संसदीय दल के नता पद पर उनके बागी हो चुके चाचा पशुपति पारस का कब्‍जा है तो पार्टी के अध्‍यक्ष पद से उन्‍हें हटाया जा चुका है। जवाबी कार्रवाई करते हुए चिराग पासवान ने भी सभी बागी पांच सांसदों को पार्टी से निकाल दिया है। राम विलास पासवान की विरासत पर कब्‍जे की इस जंग का क्‍लाइमेक्‍स अभी बाकी है। इस बीच चिराग पासवान ने दिल्‍ली में मीडिया से बातचीत कर अपनी स्थिति व आगामी योजना की जानकारी दी है। अब नजरें गुरुवार को पटना में हो रही एलजेपी की राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक पर टिकी हैं। चिराग ने अपने चाचा पशुपति कुमार पारस पर धोखा देने का आरोप लगाय तो उन्‍होंने कहा कि उनके हर आरोप का जवाब गुरुवार को देंगे।

LJP/ Chirag Paswan Controversy Highlights

06:25 बजे: चिराग पासवान के संवाददाता सम्‍मेलन के बाद एलजेपी के नए कार्यकारी अध्‍यक्ष बनाए गए सूरजभान सिंह ने भी जवाब दिया। सूरजभान सिंह ने कहा कि चिराग पासवान चिंता नहीं करें, एलजेपी उनपर कोई कार्रवाई नहीं करेगी। उनका परिवार व उनकी पार्टी भी बरकरार रहेगी।

06:00 बजे: पटना में पशुपति कुमार पारस के समर्थक चिराग के समर्थकों पर संख्‍या में भारी पड़ते दिखे। चर्चा रही कि पशुपति पारस का स्‍वागत करने के लिए सूरजभान ने अपने लोगों को सड़क पर उतार दिया। इसके बावजूद चिराग समर्थकों ने अपना विरोध जारी रखा। यह विरोध पटना एयरपोर्ट के ठीक पास स्थित लोजपा दफ्तर के बाहर भी दिखा।

05:30 बजे: पशुपति पारस पटना एयरपोर्ट पर पहुंचे। वहां एलजेपी के दोनों गुटों के टकराव की आशंका को देखते हुए सुरक्षा कड़ी है। समर्थको से पूरा इलाका पटना हुआ है।

03:50 बजे: चिराग पासवान ने कहा कि बागी सांसदों द्वारा एलजेपी संसदीय बोर्ड के अध्‍यक्ष और राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष पद से उनको हटाने का फैसला पार्टी के संविधान के खिलाफ है। संसदीय बोर्ड में बदलाव का फैसला लेने का अधिकार केवल संसदीय बोर्ड या राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष के पास है, लेकिन पशुपति कुमार पारस ने ऐसा नहीं किया है।

03:40 बजे: चिराग ने कहा कि उन्‍होंने अपनी पार्टी और परिवार दोनों को बचाने की कोशिश की। मां रीना पासवान भी इसके लिए लगी रहीं। चाचा पशुपति पारस और अन्‍य सहयोगियों को मिल-बैठकर बात कर कोई निदान निकालने के लिए कहा। अंत में निराश होकर उन्‍होंने राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाई और सभी पांच बागी सांसदों को पार्टी से निकाल दिया।

03:30 बजे: चिराग पासवान के कहा कि पिछले विधानसभा चुनाव में मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की नीतियों से एलजेपी सहमत नहीं थी। बिहार सरकार उनके 'बिहार फर्स्‍ट, बिहारी फर्स्‍ट' के विजन डॉक्‍यूमेंट पर चलने को तैयार नहीं थी और सात निश्‍चय योजना से बिहार का विकास नहीं हो सकता है। ऐसे में जेडीयू के साथ चुनाव लड़ना संभव नहीं था। चिराग ने कहा कि पिछले विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी का वोट फीसद काफी बढ़ा। एलजेपी ने चुनाव में जीत के लिए सिद्धांतों से समझौता नहीं किया।

03: 20 बजे: चिराग ने बताया कि वे टायफाइड के कारण लंबे समय तक बीमार रहे। इसी दौरान पार्टी में कुछ लोगों ने खेल कर दिया। पिता राम विलास पासवान के बीमार होने के बाद से ही वे लगातार परेशान रहे हैं।

03:15 बजे: एलजेपी के विवाद को लेकर चिराग पासवान ने अपना पक्ष रखा है। उनके अनुसार राम विलास पासवान के जीवित रहते ही कुछ लोग पार्टी तोड़ने की साजिश रचने लगे थे। इसे लेकर खुद राम विलास पासवान ने अपने भाई पशुपति कुमार पारस से सवाल भी किया था। ऐसी साजिश उस वक्‍त भी की गई, जब राम विलास पासवान आइसीयू में थे।

03:00 बजे: पटना में पशुपति कुमार पारस के स्‍वागत मे पोस्टर-बैनर लगाए गए हैं। पोस्‍टर-बैनर से राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुके चिराग पासवान नाम व उनकी तस्‍वीर गायब है। बुधवार को पटना में पशुपति पारस के आने पर एलजेपी के दोनों घटकों के बीच टकराव की आशंका है। इसके पहले चिराग पासवान के समर्थक पांचों बागी सांसदों पशुपति पारस, चंदन सिंह, महबूब अली कैसर,वीणा सिंह और प्रिंस राज के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर चुके हैं। चिराग समर्थक एलजेपी कार्यकर्ताओ ने मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ भी नारेबाजी की और उनके पोस्टर जलाए।

02:30 बजे: पशुपति पारस ने चिराग पासवान को लेकर कहा कि अगर वे कहेंगे कि सूरज पश्चिम में उगता है तो हम कैसे मान लेंगे? बहुमत का राज है और फिलहाल बहुमत मेरे पास है। एलजेपी सांसद और भतीजे प्रिंस पासवान पर लग रहे दुष्‍कर्म के आरोप पर भी उन्‍होंने सफाई दी। कहा कि चिराग पासवान क्या कहेंगे, उनके ऊपर तो पहले से ही कई बड़े आरोप हैं।

02:00 बजे: एलजेपी के बागी सांसद और चिराग पासवान के चचेरे भाई प्रिंस पासवान के खिलाफ दिल्ली के कनॉट प्लेस पुलिस स्टेशन में एक लड़की ने पानी में नशीला पदार्थ मिला बेहोश कर दुष्‍कर्म करने की शिकायत की है। इस मामले में जांच के बाद पुलिस कार्रवाई कर सकती है। कभी चिराग के साथ रहे प्रिंस राज ने पाला बदल लिया है। फिलहाल वे पशुपति कुमार पारस के साथ हैं।

01:30 बजे: पशुपति कुमार पारस ने दावा किया है कि एलजेपी के 99 फीसद पदाधिकारी उनके साथ हैं। पशुपति पारस बुधवार को बिहार आ रहे हैं। पटना में उनके स्वागत को लेकर कार्यकर्ताओं ने तैयारियां की हैं।

01:00 बजे: चिराग पासवान ने अपनी प्रेस कांंफ्रेंस रद कर दी है। वे दोपहर एक बजे मीडिया से बात करने वाले थे। इसपर सभी की निगाहें टिकी थीं। लेकिन इसी बीच खबर आइ कि पीसी रद कर दी गई है। इधर बताया जाता है कि चिराग ने लोकसभा अध्‍यक्ष को पत्र लिखकर संसदीय दल के नेता चयन  पर आपत्ति जताई है। 

12:30 बजे: लोजपा नेता चिराग पासवान आज तीन बजे दिल्ली के 12 जनपथ में प्रेस कांफ्रेंस करेगे। इसमें वे अपने पत्‍ते खोलेंगे तथा आगामी रणनीति की चर्चा करेंगे।

12:00 बजे: पार्टी में मचे घमासान के बीच महागठबंधन की ओर से चिराग को न्‍योता दिया गया है। राजद नेता शिवानंद तिवारी ने मुख्‍यमंत्री पर हमलावर होते हुए कहा है कि चिराग के लिए अब महागठबंंधन ही विकल्‍प है।  

11:30 बजे: पशुपति पारस ने बताया कि वे बुधवार को पटना पहुंच रहे हैं। यहां गुरुवार को वे राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक करेंगे।

11:00 बजे: चिराग के करीबी और पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव अब्दुल खालिक ने बताया है कि बागी सांसदों की पार्टी की प्राथमिकता सदस्यता भी खत्म कर दी गई है। बैठक में सर्वसम्मति से राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान के नेतृत्व में अगले साल उत्तर प्रदेश, गोवा, उत्तराखंड और पंजाब में होने वाले विधानसभा चुनाव लड़ने का भी फैसला लिया गया है।

10:30 बजे: पार्टी पर कब्जे को लेकर पशुपति कुमार पारस और चिराग पासवान खेमे में लड़ाई तेज हो गई है। सियासी दांव-पेंच अब आर-पार की लड़ाई में बदल गई है। एलजेपी संसदीय दल के नए नेता पशुपति कुमार पारस ने मंगलवार को पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की आपात बैठक दिल्ली में अपने आवास पर बुलाई और चिराग पासवान को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से हटा दिया। पारस खेमा ने पार्टी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं पूर्व सांसद सूरज सिंह उर्फ सूरज भान सिंह को लोजपा का राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष व चुनाव प्रभारी की जिम्मेदारी दी। इस फैसले के तत्काल बाद चिराग पासवान ने पलटवार करते हुए देर शाम राष्ट्रीय कार्यकारिणी की वर्चुअल बैठक की और बागी पांचों सांसद (पशुपति कुमार पारस, चौधरी महबूब अली कैसर, वीणा देवी, प्रिंस राज और चंदन सिंह) को पार्टी से निकाल दिया।

10:00 बजे: एलजेपी में छिड़ी लड़ाई में सुलह की गुंजाइश अब खत्म हो गई है। एक दिन पहले बातचीत के लिए पशुपति कुमार पारस के आवास पर गए चिराग पासवान ने मंगलवार को पारस सहित पांच बागी सांसदों को पार्टी से निष्कासित कर दिया। उससे पहले पारस ने चिराग को राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से हटाकर पूर्व सांसद सूरज भान सिंह को कार्यकारी अध्यक्ष बना दिया। सूरजभान को ही कार्यकारिणी की बैठक बुलाकर नए अध्यक्ष का चुनाव कराने की जिम्मेदारी दी गई है। यह बैठक पांच दिनों के अंदर होगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.