UPDATE Bihar Coronavirus News: बिहार में कोरोना की दूसरी लहर ने ली 42 डॉक्‍टरों की जान

बिहार में कोरोना की जांच करती स्‍वास्‍थ्‍य कर्मी और दूसरी तस्‍वीर में मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार। फाइल फोटो

UPDATE Bihar Covid-19 Cases बिहार में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर अब तक 42 डॉक्‍टरों की जान ले चुकी है। इस लहर में बिहार के मुख्‍य सचिव अरुण कुमार सिंह एमएलसी हरि नारायण चौधरी और विधायक मेवालाल चौधरी की भी मौत हुई है।

Shubh Narayan PathakSun, 02 May 2021 06:30 AM (IST)

पटना, जागरण टीम। UPDATE Bihar Coronavirus News: बिहार में कोरोना की दूसरी लहर अब तक 42 डॉक्‍टरों की जान ले चुकी है। आइएमए ने बकायदा एक मई तक कोरोना का शिकार होने वाले 40 डॉक्‍टरों को रविवार को श्रद्धांजलि दी। इधर रविवार को पटना जिले के बिक्रम प्रखंड में पदस्‍थापित डॉ. जेनरल शर्मा का निधन कोविड संक्रमण के कारण हो गया। वहीं औरंगाबाद जिले में आइएमए के जिला कोषाध्यक्ष डॉ. रामाशीष सिंह समेत तीन प्रमुख लोगों का कोरोना से मौत हो गई है। राज्‍य में शनिवार को कुल 82 लोगों ने संक्रमण के कारण अपनी जान गंवाई। पिछले कुछ दिनों में बिहार के मुख्‍य सचिव अरुण कुमार सिंह, मुख्‍य डाकपाल अनिल कुमार, विधान पार्षद हरि नारायण चौधरी, विधायक मेवा लाल चौधरी, पूर्व सांसद शहाबुद्दीन जैसी शख्सियतों का निधन कोरोना के कारण हो चुका है। इस खबर के आखिर में हम आपको कोरोना संक्रमण के बीच कई राहत वाली खबरों की जानकारी भी दे रहे हैं।

UPDATE Bihar Covid-19 Cases and Vaccination

12.20 PM - पटना जिले के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बिक्रम के डॉक्टर जेनरल शर्मा का कोरोना संक्रमण के कारण निधन हो गया है। 15 दिन पहले  RTPCR जांच के दौरान उनकी कोरोना पॉजीटिव रिपोर्ट आई थी। वह बिक्रम के दतियाना में कार्यरत थे। बिहार में कोरोना की दूसरी लहर अब तक 33 डॉक्‍टरों की जान ले चुकी है।

11.40 AM - पटना जिले के मोकामा के रेफरल अस्पताल में शनिवार को 251 लोगों की आरटीपीसीआर जांच हुई। इनमें 42 संक्रमित पाए गए, जबकि घोसवरी में 77 लोगों की जांच हुई और इनमें केवल 1 संक्रमित पाए गए। मोकामा में 80 लोगों को लगाये गए टीके वहीँ घोसवरी में 10 लोगों को लगा टीका। यह जानकारी रेफरल अस्पताल प्रभारी डॉ. रविशंकर शरण सिंह व घोसवरी की बीडीओ कामिनी कुमारी ने संयुक्त रूप से दी ।

11.10 AM - दानापुर रेल मंडल में रेल कर्मियों को कोरोना के टीकाकरण के लिए इंतजार करना पड़ रहा है। रेल कर्मियों का कहना है कि फ्रंट लाइन वर्कर होने के बावजूद उनका टीकाकरण नहीं हो पा रहा है, जबकि सौ से अधिक रेलकर्मी कोरोना के कारण संक्रमित हो चुके हैं। कुछ रेल कर्मियों के स्‍वजनों की जान भी संक्रमण की वजह से गई है।

10.30 AM - बिहार में सरकार के लाख आग्रह के बावजूद लोग शादियों में कोरोना से बचाव की गाइडलाइन का ध्‍यान नहीं रख रहे हैं। ऐसे लोगों के लिए यह खबर चेतावनी की तरह है। पटना जिले के बाढ़ में एक शख्‍स की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई है। इस व्‍यक्ति की बेटी की पांच दिन पहले ही शादी हुई थी।

09.50 AM - कोरोना काल में पटना के श्‍मशान घाटों की हालत काफी बदतर हो गई है। यहां इतने शवों का दाह संस्‍कार हो रहा है कि सफाई करने के लिए भी गैप नहीं मिल रहा। कई स्‍तर पर लापरवाही की शिकायतें भी सामने आ रही हैं। इसके बाद पटना के नगर निगम ने सभी श्‍मशान घाटों पर सीसीटीवी कैमरे से निगरानी करने का फैसला किया है।

09.15 AM - बिहार में कोरोना टेस्‍ट की रिपोर्ट में लेटलतीफी की शिकायतें तो लगातार मिल ही रही हैं। इधर, एक और समस्‍या सामने आई है कि रिपोर्ट में सीटी वैल्‍यू का जिक्र नहीं होता है। इससे मरीज की गंभीरता का पता लगाने में मुश्किल होती है। डॉक्‍टरों का कहना है कि सीटी वैल्‍यू से वायरल लोड का पता चलता है और इलाज में आसानी होती है।

08.45 AM - बिहटा के ईएसआइसी कोविड अस्‍पताल में बेड नहीं बढ़ाने से स्‍थानीय लोगों में गुस्‍सा बढ़ रहा है। फिलहाल यहां केवल 50 बेड पर ही इलाज हो रहा है। कोरोना की पहली लहर के वक्‍त यहां 500 बेड पर मरीजों का इलाज हो रहा था। यहां आर्मी का मेडिकल कोर अस्‍पताल संचालित कर रहा है। सीमित स्‍टाफ का हवाला देकर आर्मी के डॉक्‍टरों ने बेड बढ़ाने से इंकार कर दिया है। राज्‍य सरकार अलग से वहां बेड बढ़ाने का दावा कर रही है।

08.05 AM - पटना पटना स्थित पाटलिपुत्र स्‍पोर्ट्स कॉम्‍पलेक्‍स में भी कोविड केयर वार्ड बनाने की कोशिशें शुरू हो गई हैं। यहां कमजोर लक्षण वाले मरीजों को रखकर इलाज किया जा सकेगा। सरकार इसे जल्‍द शुरू करने की तैयारी में लगी है। राज्‍य के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मंगल पांडेय ने शनिवार को यहां तैयारियों का जायजा लिया था।

07.40 AM - पटना स्थित जयप्रभा मेदांता अस्‍पताल में कोविड वार्ड शुरू करने की तैयारियां आरंभ हो गई हैं। इसके लिए प्रदेश के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार और केंद्रीय विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद ने खुद ही अस्‍पताल के निदेशक डॉ. नरेश त्रेहन से बात की थी। राज्‍य के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मंगल पांडेय ने शनिवार को यहां चल रही तैयारियों का जायजा लिया है। उन्‍होंने उम्‍मीद जताई कि जल्‍द ही यहां कोविड मरीजों का इलाज शुरू हो जाएगा।

07.00 AM - बिहार सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने दावा किया है कि 24 घंटे के दौरान राज्य में 95686 टेस्ट किए गए हैं। राज्य में विगत एक वर्ष के दौरान 2.65 करोड़ से ज्यादा टेस्ट किए जा चुके हैं। विभाग ने बताया कि पिछले 24 घंटे के दौरान 82 लोगों की जान जान वायरस के कारण गई है, जबकि 10905 लोग स्वस्थ भी हुए हैं। बता दें कि एक वर्ष में कोरोना संक्रमण से 2642 लोगों की जान जा चुकी है, वहीं 3.73 लाख से ज्यादा लोगों ने कोरोना को मात देने में सफलता भी हासिल की है।

06.30 AM - बिहार में कोरोना के एक्टिव केस बढ़ कर 1.08 लाख से ज्यादा हो गए हैं। पिछले 24 घंटे के दौरान राज्य से एक बार फिर 13789 संक्रमित मिले हैं। जबकि 24 घंटे में 82 लोगों की मौत हुई है। पटना से एक बार फिर सबसे ज्यादा संक्रमित मिले है। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार शनिवार को पटना से 3024 संक्रमित मिले हैं। जबकि गया से 969 संक्रमित मिले हैं। इन दो जिलों के अलावा बेगूसराय से 611,भागलपुर से 330, मुजफ्फरपुर से 534, नालंदा से 637, पूर्णिया से 424, सारण से 412, मधुबनी से 324 संक्रमित मिले हैं।

यहां आपको लगातार LIVE UPDATE मिलेगा कोरोना का

पहली अच्‍छी खबर यह है कि कई महीने के बाद पहली बार शनिवार को राज्‍य में कोरोना से रिकवरी रेट यानी स्‍वस्‍थ होने वाले मरीजों की दर मामूली बढ़ी है। इससे उम्‍मीद लगाई जा सकती है कि कोरोना वायरस जल्‍द ही अपने पीक पर पहुंचने के बाद राहत देना शुरू कर देगा। राज्‍य में कोरोना वायरस से स्‍वस्‍थ होने वाले मरीजों का फीसद पूरे अप्रैल महीने में तेजी से घटा, लेकिन मई के पहले दिन इसमें थोड़ा बदलाव दिखा है। शनिवार को राज्य में कोरोना से रिकवरी की दर 77.10 फीसद रिकॉर्ड की गई। शुक्रवार को यह दर 77.05 फीसद थी। 23 अप्रैल को यह दर 79.28 फीसद थी।

इन खबरों से भी मिलेगी राहत

दूसरी राहत यह कि बिहार के सभी प्रखंडों में 600 से अधिक डॉक्‍टरों की बहाली जल्‍द होने जा रही है। इसके अलावा राज्‍य स्‍तर पर एक हजार डॉक्‍टरों की बहाली 10 मई को वॉक इन इंटरव्‍यू यानी सीधे साक्षात्‍कार के जरिये होगी। तीसरी राहत भरी खबर यह है कि वैक्‍सीन आपूर्ति करने वाली कंपनियों ने मई के दूसरे हफ्ते तक राज्‍य को टीकों की खेप देने का वादा किया है। अगर ये टीके मिलते हैं तो राज्‍य में 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का टीकाकरण शुरू हो सकेगा।

यह भी पढ़ें- औरंगाबाद के जाने-माने चिकित्‍सक की कोरोना से मौत, संक्रमित पुत्र व पत्‍नी का पटना में चल रहा इलाज 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.