HIGHLIGHTS Bihar CoronaVirus News: बिहार में 29 हजार हुए कोरोना के एक्टिव केस, अब लॉकडाउन की भी आशंका

बिहार के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मंगल पांडेय, तस्‍वीर स्रोत : एएनआइ।

HIGHLIGHTS Bihar CoronaVirus News बिहार में कोरोनावायरस संक्रमण की स्थिति चिंताजनक हो गई है। देश भर और बिहार की वर्तमान स्थिति को देखते हुए सीएम नीतीश कुमार ने लॉकडाउन लगाने के संकेत दिए हैं। इस बीच गुरुवार को रिकार्ड 6133 नए मामलों के साथ सक्रिय मामले 29078 हो गए हैं।

Sumita JaiswalThu, 15 Apr 2021 06:00 AM (IST)

पटना, ऑनलाइन डेस्‍क। HIGHLIGHTS Bihar CoronaVirus News Updates बिहार में कोरोनावायरस संक्रमण अब बेकाबू होता दिख रहा है। उससे खराब स्थिति अस्‍पतालों की होने लगी है। अस्‍पताल बेड, ऑक्‍सीजन सहित आवश्‍यक संसाधानों की कमी से जूझ रहे है। बिगड़े हालात को देखते हुए बिहार में भी लॉकडाउन की आशंका है। सीएम नीतीश कुमार ने भी ऐसे संकेत दिए हैं। जहां तक आंकड़ों की बात है, गुरुवार को अब तक के सर्वाधिक 6133 संक्रमित मिले हैं। इसमें अकेले पटना से मिलने वाले संक्रमितों की संख्या 2105 है। इसके साथ बिहार में सक्रिय केस बढ़कर 29078 हो गए हैं।

बता दें कि बिहारी प्रवासी बड़ी संख्‍या में घर लौट रहे हैं। राज्‍य में संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान रोज मिलने वाले नए मामलों का रिकार्ड टूट रहा है। स्‍वास्‍थ्‍य विभाग बेड की संख्‍या बढ़ाने की कवायद में जुटा है। सरकार इलाज के साथ-साथ जांच व वैक्‍सीनेशन पर भी जोर दे रही है।

HIGHLIGHTS Bihar CoronaVirus News Updates

09:30 PM: स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी बुलेटिन के अनुसार गुरुवार को 101236 टेस्ट किए गए, जिनमें 6133 रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके साथ ही राज्य में संक्रमण दर बढ़कर 6.05 फीसद पहुंच गई है। यह अब तक की सर्वाधिक संक्रमण दर है। इसके पूर्व बुधवार को संक्रमण दर 4.77 फीसद थी, जो विगत एक वर्ष की सबसे बड़ी संक्रमण दर थी। गुरुवार को मिले संक्रमितों ने पुराने सारे रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए।

09:00 PM: 15 जिले सबसे ज्यादा संक्रमित

गुरुवार को आए टेस्ट के नतीजों के अनुसार राज्य के 15 जिले कोरोना के सर्वाधिक संक्रमण में है। इनमें पटना जिला भी शामिल है। पटना से गुरुवार को 2105 संक्रमित मिले हैं। पटना के अलावा भागलपुर से 601, गया से 431, मुजफ्फरपुर से 265, बेगूसराय से 174, सारण से 171, प. चंपारण से 143, औरंगाबाद से 165, मुंगेर से 147, जहानाबाद से 131, सिवान से 123, सहरसा से 112, नालंदा से 109, रोहतास से 107, वैशाली से 105 संक्रमित मिले हैं।

08:30 PM: एक दिन में 27 की मौत

राज्य में गुरुवार को कोरोना संक्रमण ने 27 लोगों की जान ली है। इसके पूर्व बुधवार को एक दिन में 21 और मंगलवार को 14 लोगों की मौत हुई थी। 27 मौत के साथ कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या राज्य में बढ़कर 1675 हो गई है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार इस बार की कोरोना लहर की चपेट में आने वाले लोगों की मौत का आंकड़ा बीते वर्ष की अपेक्षा काफी ज्यादा है।

07:50 PM: मुख्यसचिव सहित दो आइएएस संक्रमित हो चुके

राज्य के मुख्यसचिव अरुण कुमार भी कोरोना संक्रमित हो गए हैं। दो दिन पूर्व ही मुख्य सचिव ने शंका होने पर कोविड टेस्ट कराया था। जिसमें उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। रिपोर्ट मिलने के बाद मुख्य सचिव होम आइसोलेशन में हैं।

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार मुख्य सचिव अरुण कुमार का स्वास्थ्य ठीक है और वे घर ही इलाजरत हैं। उनकी स्थिति ठीक बताई जा रही है। इसके पूर्व गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव चैतन्य प्रसाद तथा वित्त विभाग के प्रधान सचिव एस सिद्धार्थ भी कोरोना संक्रमित हो चुके हैं।

06:25 PM: राजस्‍व विभाग में सोमवार से सामान्य होगी कामकाज की स्थिति

राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के संयुक्त सचिव कंचन कपूर के अलावा चार अन्य कर्मियों के संक्रमित होने के बाद मुख्य सचिवालय स्थित विभाग के कार्यालय को बंद कर दिया गया है। यह बंदी सिर्फ दो दिनों (16 और 17 अप्रैल) की रहेगी। 18 अप्रैल को रविवार होने के नाते स्वत: अवकाश की स्थिति रहेगी।

16और 17अप्रैल को राजस्व विभाग के सभी कार्यालयों को सैनिटाइज किया जाएगा। निदेशक (भू-अर्जन) सुशील कुमार ने बताया कि 19 अप्रैल से कार्यालय सामान्य दिनों की तरह खुल जाएंगे। अधिकारियों एवं कर्मचारियों को कहा गया है कि वे मुख्यालय न छोड़ें। जरूरी काम के लिए उन्हें किसी भी वक्त बुलाया जा सकता है।

संक्रमण के चलते गुरुवार को कामकाज ठप रहा। विभागीय मंत्री रामसूरत राय गुरुवार को कुछ मामलों की सुनवाई करने वाले थे। सुनवाई  नहीं हो पाई। राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग से संबद्ध सर्वे निदेशालय के पांच अधिकारी भी कोरोना की चपेट में आ गए हैं। उनमें एक उप सचिव एवं चार सहायक बंदोबस्त पदाधिकारी हैं।

05:35 PM:  कल बंद रहेगा कल्याण विभाग का कार्यालय  

अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति कल्याण विभाग के दो कर्मियों के संक्रमित होने के कारण शुक्रवार को कार्यालय बंद रहेगा। सरकारी आदेश के मुताबिक शुक्रवार को कार्यालय को सैनिटाइज किया जाएगा। अधिकारियों-कर्मचारियों को मुख्यालय में रहने का आदेश दिया गया है। दोनों कर्मियों के संक्रमित होने की सूचना गुरुवार को मिली।

04:56 PM:  सेना के डॉक्‍टर करेंगे कोविड मरीजों का इलाज

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने बताया है कि बिहार के बिहटा में अवस्थित ईएसआइ (कर्मचारी राज्य बीमा निगम) अस्तपाल का संचालन सेना करेगी। इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग की ओर से रक्षा मंत्रालय को पत्र लिख आग्रह किया गया है कि सेना के डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट आर्गेनाइजेशन (डीआरडीओ) के डॉक्टरों की टीम बिहार में प्रतिनियुक्त की जाए और उनकी देखरेख में ही इस अस्पताल का संचालन हो। उम्मीद है दो-तीन के अंदर केंद्र की मंजूरी मिल जाएगी और सेना के डॉक्टर यहां कोरोना मरीजों का इलाज करेंगे। कोरोना संक्रमण के मद्देनजर  संक्रमण के दौरान पिछले साल भी यह अस्पताल सेना के हवाले किया गया था। पांच सौ बेड का यह अस्पताल पटना के नजदीक है पांच सौ बेड का है, जहां कोरोना के इलाज के लिए पर्याप्त इंतजाम हैं। यहां तकरीबन तीन सौ बेड पर ऑक्सीजन की व्यवस्था के साथ ही पर्याप्त संख्या में आइसीयू बेड, वेंटिलेटर आदि की सुविधा है।

04:20 PM: ऑक्‍सीजन सप्‍लाई के लिए उच्‍च स्‍तरीय बैठक

कोरोना के बढ़ते मामले के बीच ऑक्सीजन सिलेंडर की अचानक हुई कमी को केंद्र में ध्यान रख गुरुवार को उद्योग विभाग और स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों की उच्चस्तरीय बैठक हुई। बैठक में यह तय हुआ कि मरीजों की जान बचाने के उद्देश्य को ध्यान में रख ऑक्सीजन की आपूर्ति फिलहाल मेडिकल उपयोग के लिए ही की जाए। ौद्योगिक उपयोग के लिए फिलहाल ऑक्सीजन की आपूर्ति को स्थगित रखा जाए। पहली प्राथमिकता लोगों की जान को बचाना है।

04:20 PM: पॉल्‍यूशन कंट्रोल बोर्ड ने जारी की एडवाइजरी

कोरोना काल में लगातार उपयोग में आ रहे डिस्पोजेबल मास्क व ग्लप्स का निस्तारण एक बड़ी समस्या बन गई है। बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण पर्षद ने इस बारे में एक एडवाइजरी जारी की है।बताया गया कि जो व्यक्ति संक्रमित नहीं है उनके द्वारा इस्तेमाल किया गया डिस्पोजेबल मास्क या ग्लब्‍स भी खुले में फेंकना घातक है।वे इस्तेमाल किए गए मास्क और ग्‍लब्‍स को काटकर एक कागज के थैले में 72 घंटे तक रखें।  इसके बाद डिस्पोजेबल मास्‍क और ग्‍लब्‍स को सूखे कचरे के साथ कचरे वाली गाड़ी में डालना है।

04:20 PM: स्‍कूल 18 अप्रैल तक बंद, एक तिहाई आएंगे शिक्षक

शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने बताया कि कोविड के बढ़ते संक्रमण के कारण सारे शिक्षण संस्‍थान 18 अप्रैल तक बंद कर दिए गए हैं। लेकिन, कोविड संक्रमण जिस रफ्तार से फैल रहा है, वैसी स्थिति में शिक्षा विभाग ने फैसला किया है कि अब शिक्षण भी अपने विद्यालय में एक-तिहाई की संख्‍या में आएंगे। प्रत्‍येक शिक्षक बारी-बारी से इसी हिसाब से विद्यालय में उपस्थित रहेंगे।

04:15 PM:  कोविड की चपेट में आए शिक्षा विभाग के चार कर्मचारी

प्रदेश के स्कूल-कॉलेजों में शिक्षक और कर्मचारी कोरोना वायरस से संक्रमित हो रहे हैं। अब शिक्षा विभाग में भी चार कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। इससे विभागीय अधिकारियों और कर्मचारियों में खौफ है।

04:10 PM: बिहार आना हो तो आरटीपीसीआर जांच जरूरी

महाराष्ट्र, पंजाब और केरल में कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए पटना जिला प्रशासन ने विमान यात्रियों के लिए नया आदेश जारी किया है। इन तीनों राज्यों के विभिन्न शहरों से आने और वहां जाने वाले विमान यात्रियों को अब यात्रा के 72 घंटे पहले तक की आरटी-पीसीआर जांच रिपोर्ट दिखानी होगी। रिपोर्ट नहीं रहने की स्थिति में यात्रियों को एयरपोर्ट से ही दस दिनों के लिए क्वारंटाइन सेंटर में भेज दिया जाएगा। यह आदेश जिलाधिकारी डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने जारी किया है, ताकि बढ़ते कोरोना संक्रमण पर लगाम लग सके।

03:44 PM:  पटना और गया में बनेंगे कोविड डेडिकेटेड हॉस्पिटल

न्‍यूज एजेंसी एएनआइ के हवाले से खबर आई है कि स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा है कि हमने टेस्टिंग बढ़ाई है। सरकार ने फैसला किया है कि पटना के एनएमसीएच और गया के अनुग्रह नारायण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल को डेडिकेटेड कोविड अस्‍पताल बनाया जाएगा।

03:44 PM: पप्‍पू यादव ने कोविड मरीजों की मदद को बढ़ाए हाथ

जन अधिकार पार्टी (लो) के अध्‍यक्ष पप्‍पू यादव ने कोरोना पीडि़तों की मदद के लिए हाथ बढ़ाए हैं। उन्‍होंने पार्टी नेताओं के साथ बैठक कर तीन हेल्‍पलाइन नंबर 6209213920, 9122162845, 7004091130 जारी किया है। कहा है कि इस हेल्‍पलाइन नंबर में कोरोना मरीजों की मदद की जाएगी। पार्टी इस संकट को आपदा मानती है और ऐसे समय में लोगों की हर संभव मदद आपदा पीडि़त की तरह की जाएगी। 

03:22 PM:  बिहार में भी लग सकता है लॉकडाउन

सीएम नीतीश कुमार आज आइजीआइएमएस में कोविड वैक्‍सीन का दूसरा डोज लेने के बाद पत्रकारों द्वारा नाइट कर्फ्यू या लाॅकडाउन लगाने के बारे में पूछ जाने पर कहा कि प्रधान मंत्री के निर्देश पर राज्‍यपाल की अध्‍यक्षता में सर्वदलीय बैठक में पूरी स्थिति पर चर्चा होगी। बैठक 17 अप्रैल को है। बैठक में जो सुझाव आएंगे उसपर निर्णय लिया जाएगा। अगर स्थिति और बिगड़ती है तो वह सब किया जाएगा जो जरूरी है।

उन्‍होंने कहा कि बिहार में भी कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। अधिक से अधिक जांच ही उपाय है। बाहर के राज्‍यों से भी लोग लौट रहे हैं। गांवों में भी कोविड संक्रमण तेजी से फैल रहा है। स्थिति संभालने में सिर्फ स्‍वास्‍थ्‍य विभाग नहीं नहीं पूरा प्रशासन जुटा है। अस्‍पतालों में भी बेड की कमी नहीं होने दी जाएगी

मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की है कि वह अपना टीकाकरण कराएं। इससे उन्हें भविष्य में फायदा होगा। जांच भी करानी चाहिए।

02:45 PM: अस्‍पतालों में ऑक्‍सीजन की भारी कमी, डॉक्‍टरों ने मदद की लगाई गुहार

कोरोना मरीजों के लिए इंतजाम करने के क्रम में अस्पतालों को ऑक्सीजन की भारी कमी का सामना करना पड़ रहा है। गुरुवार को कई अस्पतालों ने एक घंटे से लेकर तीन घंटे तक के ऑक्सीजन उपलब्ध होने की जानकारी दी। एक निजी अस्‍पताल के डॉक्‍टर का भी मैसेज वायरल हो रहा है, जिसमें वे मदद की गुहार लगा रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि हमने मरीजों की भर्ती बंद कर दी, क्‍योंकि हमारे पास बस दो घंटे का ऑक्‍सीजन बचा है। कृपया ऑक्‍सीजन सप्‍लाई में मदद करें , मैं भर्ती मरीजों को ऑक्‍सीजन के आभाव में मरते नहीं देख सकता।

हालांकि बड़े अस्पतालों ने अपने ऑक्सीजन प्लांट शुरू कर दिए हैं, लेकिन उनकी क्षमता सीमित है। ऑक्सीजन की आपूर्ति करने वाली संस्थाएं पांच हजार सिलेंडर की आपूर्ति सुनश्चित करने में जुटी हैं।

01:45 PM: बिहार में बढ़ते कोरोना के मामले को देखते हुए गुरुवार को पटना प्रशासन ने एक महत्वपूर्ण बैठक की। इसमें पटना के डीएम डॉ. चंद्रशेखर सिंह भी मौजूद रहे। बैठक में निर्णय लिया गया कि सबसे पहले ऑक्सीजन सिलेंडर अस्पतालों को ही दिया जाएगा। 

01:00 PM: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज ली। नीतीश के साथ बिहार के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद व रेणु देवी ने भी कोरोना का टीका लिया। इस दौरान नीतीश ने आइजीआइएमएस के इमरजेंसी स्थित बने कोविड डेडिकेटेड आइसीयू (Covid Dedicated ICU) का शुभारंभ किया।

12:42 PM: बिहार में बिगड़ते कोरोना के हालात को देखते हुए कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से लेकर बिहार कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजीत शर्मा के साथ ही मीडिया विभाग के अध्यक्ष राजेश राठौर ने व्यवस्था का नाकाफी बताया है। नेताओं ने गुरुवार को अलग अलग बयान जारी कर कहा कि सरकार के पास कोरोना जैसी जानलेवा बीमारी से निपटने के लिए अस्पतालों में ना तो कोई  इंतजाम हैं ना ही कोई रणनीति।

11:30 AM: बिहार विधानसभा में नेता विपक्ष तेजस्वी यादव ने बिहार की हालत को बहुत भयावह बताया है। तेजस्‍वी के अनुसार बीते दो दिनों में दो आइएएस अधिकारियों और कुछ अन्य अधिकारियों की मौत हो गई है। आम लोगों के बारे में तो कल्पना कीजिए। पटना के अस्पतालों में बेड फुल है। स्वास्थ्य सचिव सेना से डॉक्टर मांग रहे हैं। कोराेना मरीजों की संख्या और माैत के आंकड़ों में भी घालमेल किया जा रहा है।

11:00 AM: कोरोनावायरस संक्रमण से बचाव के लिए टीकारण के उत्सव में बिहार लक्ष्य में पीछे रहा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर 11 से 14 अप्रैल तक देश में टीका उत्सव मनाया गया, जिसमें बिहार में चार दिनों में 16 लाख लोगों के टीकाकरण का लक्ष्‍य था। लेकिन 16 लाख के लक्ष्य के सापेक्ष केवल 544269 लोगों को ही टीका लगाया जा सका।

10:30 AM: पटना के इंदिरा गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस में आज मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार कोरोनावायरस वैक्सीन की दूसरी डोज लेंगे। मुख्यमंत्री दोपहर एक बजे वहां पहुंचेंगे। इसके बाद वे वहां इमरजेंसी में बनाए गए कोविड डेडिकेटेड आइसीयू का शुभारंभ कर सकते हैं। इस आइसीयू में कोरोना के गंभीर मरीज भर्ती किए जाएंगे।

10:00 AM: कोरोना संक्रमण के कारण महाराष्ट्र में लॉकडाउन जैसे हालात हो गए हैं। वहां से बिहार लौट रहे प्रवासियों के लिए मुंबई से पूर्व मध्य रेल के विभिन्न स्टेशनों के लिए एक दर्जन स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया जाएगा। पहले से संचालित स्पेशल ट्रेनों की परिचालन अवधि में भी विस्तार किया गया है।

09:30 AM: पटना के श्मशान घाटों पर कोरोना संक्रमण से मरने वालों के अंतिम संस्‍कार में अवैध वसूली की जा रही है। बांस घाट का ऐसा मामला समाने आने के बाद डीएम चंद्रशेखर सिंह ने जांच के लिए तीन सदस्यीय जांच कमेटी का गठन किया है। कमेटी आज अपनी रिपोर्ट देगी।

09:00 AM: गया में अप्रैल माह के अब तक के सर्वाधिक कोरोना 25 संक्रमित मिले हैं। इनमें गया की सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ बिहार कैम्पस में मिले 12 संक्रमित शामिल हैं। इसके पहले मंगलवार को भी सेंट्रल यूनिवर्सिटी में दो लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे।

08:30 AM: पटना के आशियाना इलाके में बंधन बैंक की शाखा में 10 कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इसके बावजूद वहां सभी कर्मचारी काम कर रहे थे। प्रशासन ने इस ब्रांच को सील कर दिया है।

08:00 AM: पटना के जिन निजी अस्पतालों में कोरोना के मरीज भर्ती किए जा सकेंगे, उनमें आनंदिता हॉस्पिटल (राजेंद्र नगर), एसएस हॉस्पिटल (अनीसाबाद), सत्यदेव सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल (मजिस्ट्रेट कॉलोनी), पाम व्यू हॉस्पिटल (अंबेडकर पथ), श्याम हॉस्पिटल (कंकड़बाग), सत्यव्रत हॉस्पिटल (कंकड़बाग), सन हॉस्पिटल (कंकड़बाग मेन रोड), सत्यम हॉस्पिटल (शेखपुरा, बेली रोड), कुर्जी होली फैमिली हॉस्पिटल (सदाकत आश्रम), तारा हॉस्पिटल एंड मेडिकल रिसर्च सेंटर (बीपी कोइराला मार्ग, बैंक रोड), एमआर हॉस्पिटल (राजा बाजार), श्याम मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल (फुलवारी शरीफ), आयुष्मान केयर हॉस्पिटल (दनियावां) एवं मनोकामना सीसी एंड ई हॉस्पिटल (बिग्रहपुर) शामिल हैं।

07:30 AM: पटना के बिहटा स्थित ईएअसाइसी अस्पताल को भी 500 बेड का कोरोना अस्‍पताल बनाया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने इसके लिए सेना से 50 डॉक्टरों की मांग की है।

07:00 AM: बीते 24 घंटे में बिहार में कोरोना के 100134 सैंपलों की जांच की गई, जिनमें 4786 पॉजिटिव मामले मिले। पटना में 1483 नए संक्रमित मिले। गया में 334, भागलपुर में 334, मुजफ्फरपुर में 242, भोजपुर में 166, औरंगाबाद में 122  तथा गोपालगंज में 105 नए मरीज मिले हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.