Bihar Politics: ललन सिंह ने JDU की नई टीम का किया गठन, त्‍यागी फिर बने प्रधान महासचिव, देखिए पूरी लिस्‍ट

Bihar Politics जदयू के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने पार्टी की नई टीम का गठन कर दिया है। उन्‍होंने केसी त्‍यागी को राष्‍ट्रीय महासचिव की जिम्‍मेदारी सौंपी है। वहीं उपेंद्र कुशवाहा संसदीय दल के अध्‍यक्ष बने रहेंगे। यहां देखिए नई कार्यकारिणी की पूरी लिस्‍ट।

Vyas ChandraTue, 28 Sep 2021 02:39 PM (IST)
केसी त्‍यागी, नीतीश कुमार एवं ललन सिंह। फाइल फोटो

पटना, आनलाइन डेस्‍क। Bihar Politics जदयू के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह (JDU President Lalan Singh) ने पार्टी की नई टीम का गठन कर दिया है। इनमें कुछ नए चेहरे हैं। हालांकि, अधिकांश चेहरे पुराने ही हैं। एक प्रधान महासचिव, एक संसदीय बोर्ड के अध्‍यक्ष, एक काेषाध्‍यक्ष, नौ महासचिव और पांच सचिव शामिल हैं। राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष ने केसी त्‍यागी (KC Tyagi) को फिर राष्‍ट्रीय प्रधान महासचिव (Secretary General) की जिम्‍मेदारी सौंपी है। वहीं उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) भी संसदीय दल के अध्‍यक्ष बने रहेंगे। बिहार सरकार के मंत्री संजय झा को भी ललन सिंह ने अपनी टीम में शामिल किया है। मंगलवार को राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष ने अपनी नई कार्यकारिणी के सदस्‍यों की सूची जारी की। इसमें गोपालगंज के सांसद डा. आलोक कुमार सुमन को कोषाध्‍यक्ष बनाया गया है। टीम में लंबे अरसे बाद केंद्रीय इस्‍पात मंत्री और पूर्व राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष आरसीपी सिंह (Union Minister RCP Singh) का नाम नहीं है। 

कई पूर्व विधायक भी टीम ललन में शामिल 

18 सदस्‍यीय टीम में सांसद रामनाथ ठाकुर को महासचिव बनाया गया है। इसके अलावा पूर्व केंद्रीय मंत्री व सांसद मो अली अशरफ फातमी, पूर्व विधायक रामसेवक सिंह, बिहार सरकार के मंत्री संजय झा, विधान पार्षद गुलाम रसूल बलियावी, आफाक अहमद खान, प्रवीण सिंह, विधान पार्षद कमरे आलम, हर्षवर्धन सिंह को भी महासचिव बनाया गया है। कुल नौ महासचिव बनाए गए हैं, जिनमें चार अल्‍पसंख्‍यक हैं। इसके अलावा पांच सचिव बनाए गए हैं। इनमें सांसद आरपी मंडल, पूर्व विधायक विद्यासागर निषाद, रविंद्र प्रसाद सिंह, राज सिंह मान और राजीव रंजन प्रसाद शामिल हैं।  

आरसीपी के केंद्रीय मंत्री बनने के बाद ललन बने राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष 

बता दें कि आरसीपी सिंह ने केंद्रीय मंत्रिमंडल में जगह मिलने के बाद पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष के पद से इस्‍तीफा दे दिया था। इसके बाद ललन सिंह को यह पद सौंपा गया। अध्‍यक्ष बनने के बाद ललन सिंह ने कई नेताओं की छुट्टी की तो कई नए को पदों पर बिठाया। आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारी समेत राज्‍य में पार्टी की मजबूती के लिए राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष ने कई बड़े निर्णय लिए हैं। कार्यकारिणी का गठन इसी की अहम कड़ी मानी जा रही है।  

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.