UP Assembly Election पर अब जीतन राम मांझी की भी नजर, CM योगी से आज मिलेंगे नीतीश के मंत्री संतोष सुमन

UP Assembly Election 2022 हम सुप्रीमो जीतन राम मांझी अब यूपी के चुनाव मैदान में भी कूदना चाहते हैं। उनके बेटे व पार्टी महासचिव तथा बिहार की नीतीश सरकार में मंत्री संतोष सुमन आज अपने मुद्दों को लेकर यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ से मिल सकते हैं।

Amit AlokMon, 02 Aug 2021 01:28 PM (IST)
जीतन राम मांझी, संतोष सुमन, योगी आदित्‍यनाथ। फाइल तस्‍वीरें।

पटना, जागरण टीम। UP Assembly Election 2022 उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव पर बिहार के छोटे दलों की भी नजरें टिकी हैं। हाल ही में फूलन देवी (Foolan Devi) की पुण्‍यतिथि पर कार्यक्रम के बहाने बिहार के विकासशील इनसान पार्टी (VIP) ने वहां निषाद वोटों की अपने पक्ष में गोलबंदी की कोशिश की थी। हालांकि, उक्‍त कार्यक्रम नहीं हो सका। अब बिहार के ही हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (HAM) ने भी यूपी चुनाव को लेकर सक्रियता दिखाई है। 'हम' सुप्रीमो जीतनराम मांझी (Jitan Ram Manjhi) के बेटे और बिहार की नीतीश सरकार (Nitish Government) में मंत्री संतोष सुमन (Santosh Sumar) सोमवार को लखनऊ में मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ (CM Yogi Adityanath) से मुलाकात कर सकते हैं।

यूपी चुनाव को ले संभावनाएं तलाश रहे मांझी

बीते दो दिनों से लखनऊ में संतोष सुमन 'हम' की गतिविधियों में व्‍यस्‍त हैं। वे यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर पार्टी की संभावनाएं तलाश रहे हैं। इसी सिलसिले में संतोष ने रविवार को पार्टी पदाधिकारियों की बैठक की। उन्‍होंने रविवार को ही मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ से मिलने का समय मांगा, जां नहीं मिल सका। पार्टी के अनुसार यह मुलाकात सोमवार करो होगी।

स्थानीय मुद्दों को लेकर योगी से मिलेंगे संतोष

'हम' के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने बताया है कि पार्टी के महासचिव संतोष सुमन स्थानीय मुद्दों को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलना चाहते हैं। मंत्री संतोष सुमन ने भी कहा है कि उनकी पार्टी बिहार, बंगाल, झारखंड और त्रिपुरा के बाद अब उत्तर प्रदेश में भी विस्‍तार करेगी। 'हम' के प्रवक्‍ता दानिश रिजवान ने कहा कि संतोष सुमन पहले पश्चिम बंगाल (West Bengal) में भी संगठन विस्तार को लेकर गए थे। वहां भी उन्‍होंने स्थानीय मुद्दों को लेकर आयोजित कार्यक्रमों में शिरकत की थी। ऐसा ही यूपी में भी हो रहा है।

अब मुलाकात के बाद की सियासत पर निगाहें 

बहरहाल, अब निगाहें संतोष मांझी की योगी आदित्यनाथ से मुलाकात पर टिकी हैं। इसके बाद क्या सियासी तस्‍वीर बनती है, यह देखना होगा। खास बात यह भी है कि योगी आदित्‍यनाथ की सरकार द्वारा फूलन देवी की पुण्‍यतिथि पर कार्यक्रम नहीं करने देने से 'वीआइपी' सुप्रीमो मुकेश सहनी नाराज हैं। ऐसे में वे बीजेपी के खिलाफ चुनाव मैदान में कूद सकते हैं। सवाल यह भी है कि अगर योगी आदित्‍यनाथ से बात नहीं बनती है, तब क्‍या जीतनराम भी ऐसा ही करेंगे?

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.